अभिसरण परीक्षण

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

गणित में अनन्त श्रेणियों के अभिसरण की जाँच करने वाली विधियों को अभिसरण परीक्षण (convergence tests) कहते हैं। ये विधियाँ सशर्त अभिसरण (conditional convergence), निरपेक्ष अभिसरण (absolute convergence), अभिसरण के अन्तराल (interval of convergence) या अपसरण (divergence) की जाँच करतीं हैं।

S के लिए निश्चित व्यंजक ज्ञात करना सदैव सरल नहीं है। अत: हम यह जानने के लिए कि कोई विशिष्ट श्रेणी अभिसारी है या नहीं, अभिसारी और अपसारी की परीक्षाविधियों का प्रयोग करते हैं। यदि कोई श्रेणी केवल धनात्मक पदों से बनी है, तो किसी पद के उपरांत {Sn} एक वृद्धिमय अनुक्रम होगा और ऐसे वृद्धिमय अनुक्रम के अभिसरण के लिए आवश्यक और पर्याप्त अनुबंध यह है कि यह परिमित हो, अर्थात्‌ एक ऐसी अचर राशि K का अस्तित्व हो कि n के समस्त मानों के लिए Sn < K हो। धनात्मक पदोंवाली श्रेणी के अभिसरण परीक्षण की विधियाँ निम्नलिखित हैं :

तुलनात्मक परीक्षा (Comparison test)[संपादित करें]

यदि नीली श्रेणी, Σbn, को अभिसारी सिद्ध कर सकते हैं तो इससे 'छोटी श्रेणी' Σan भी अवश्य ही अभिसारी होगी।

इस विधि में, किसी अनुक्रम के पदों की अन्य अनुक्रम के पदों से तुलना की जाती है। यदि,

n के सब मानों के लिये, , तथा अभिसारी हो तो भी अभिसारी होगी।

किन्तु, यदि,

n के सब मानों के लिये, , तथा अपसारी है, तो भी अपसारी होगी।

अनुपात परीक्षा[संपादित करें]

देखें, अनुपात परीक्षा (रेशियो टेस्ट)

कोशी (Cauchy) की मूल परीक्षा[संपादित करें]

देखें - कोशी की मूल परीक्षा

समाकल परीक्षा[संपादित करें]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]