अब्द अर-रहमान तृतीय

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

अब्द अर-रहमान तीसरा (अब्दुल रहमान 3 ) इस्लामी जगत का सर्वविदित नाम है । उमय्यद खिलाफत की एक बार फिर स्थापना इसी ने की थी । अल अंड़लूस अर्थात आइबेरिया प्रायद्वीप मे इसने पुनः उमय्यदो का शासन स्थापित किया । इसने स्वयं को खलिफा घोषित किया था ।

सन्दर्भ[संपादित करें]