अफगान रुपया

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
अफगान रुपया
AfghanistanP2a-5Rupees-SH1298(1919)-donatedfvt f.jpg
5 रुपये मूल्य का अफगान बैंकनोट (1919)
मूल्यवर्ग
परम-इकाई (सुपरयूनिट)
 30हबीबी
 10तिल्ला
उप इकाई
160पैसा, पैसे (बहुवचन)
1600दीनार
बहुवचनरुपये
प्रतीकR, Rs
बैंकनोट1R, 5Rs, 10Rs, 50Rs, 100Rs
जनसांख्यिकी
जारी होने की तिथि1891
प्रतिस्थापितकाबुली रुपया
कंधारी रुपया
वापस लेने की तिथि1925
द्वारा प्रतिस्थापितअफगान अफगानी
प्रयोक्ताFlag of अफ़ग़ानिस्तान अफ़ग़ानिस्तान
This infobox shows the latest status before this currency was rendered obsolete.

अफगान रुपया, 1925 तक अफगानिस्तान की आधिकारिक मुद्रा थी। 1891 से पहले, चांदी के रुपये, तांबे के फालस और सोने की मोहर प्रचलन में थे। तीनों धातुओं के बीच कोई निश्चित विनिमय दर नहीं थी और विभिन्न क्षेत्र अपने स्वयं के सिक्के जारी किया करते थे। 1891 में, काबुली रुपये को आधार बना कर एक नई मुद्रा पेश की गई थी। रुपए को 60 पैसे, और हर पैसे को 10 दिनार में विभाजित किया गया था। जारी किए गए अन्य मुद्रावर्गों में 5 पैसे की शाही, 10 पैसे का सनार, 20 पैसे का अब्बासी, 30 पैसे का क़िरान और 10 रुपये मूल्यवर्ग का तिल्ला और बाद में अमानी शामिल थे।

1925 में रुपए को अफगानी द्वारा प्रतिस्थापित किया गया था, जो आज की मुद्रा है, लेकिन 1978 तक ही परिसंचरण में रही थी। सोलहवीं शताब्दी में उत्तरी भारत में पश्तुन राजा शेर शाह सूरी के शासनकाल के दौरान पहली बार रुपये को जारी किया गया था; भारत अभी भी रुपये के अपने संस्करण का उपयोग करता है जबकि अफगानिस्तान नहीं करता।

बैंकनोट[संपादित करें]

1919 में, 1, 5, 10, 50 और 100 रुपये मूल्य के मौद्रिक नोट शुरु किए गए थे।

सिक्के[संपादित करें]