अण्डजरायुजता

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

अण्डजरायुजता, जीवों के प्रजनन की एक विधा है जिसमें भ्रूण का विकास अंडे के भीतर होता है और यह अंडा परिपक्व होकर फूटने तक माता के शरीर के अंदर ही रहता है। अण्डजरायुज जीवों में जरायुज जीवों की भांति आंतरिक निषेचन होता है और जीवित शिशुओं का जन्म होता है, अंतर सिर्फ इस बात का होता है कि इनमें जरायुज प्राणिओं की तरह भ्रूण, माता से अपरा के माध्यम से जुड़ा नहीं होता और भ्रूण का पोषण, पीतक कोष द्वारा होता है हालांकि, माँ के शरीर के द्वारा गैस विनिमय (श्वसन) होता है।

सन्दर्भ[संपादित करें]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]