अजरबैजान का नाट्यशिल्प

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

अजरबैजान का नाट्यशिल्प (अज़ेरी: Azərbaycan teatrı) से आशय अजरबैजान के लोगों में प्रचलित नाट्यशिल्प (थिएतर) से है।[1]

इतिहास[संपादित करें]

अजरबैजान के नाट्यकर्म का इतिहास प्राचीन अवकाशों तथा नृत्यों में छिपा है।[1]

राष्ट्रीय "कोस-कोसा" का मंचन; चित्रकार अजीम अजीमजादे, 1930

सन्दर्भ[संपादित करें]