अंगदान

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

किसी जीवित या मृत व्यक्ति के शरीर का ऊतक या कोई अंग दान करना अंगदान (Organ donation) कहलाता है। यह ऊतक या अंग किसी दूसरे जीवित व्यक्ति के शरीर में प्रत्यारोपित (ट्रान्सप्लान्ट) किया जाता है। इस कार्य के लिये दाता के शरीर से दान किये हुए अंग को शल्यक्रिया द्वारा निकाला जाता है।

भारत में अंगदान की स्थिति[संपादित करें]

भारत में कार्निया दान की स्थिति काफी अच्छी है किन्तु 'मस्तिष्क मृत्यु' के बाद किये जाने वाले देह दान में बहुत धीमी गति से प्रगति हो रही है।

इस मानचित्र में भारत के उन राज्यों को दिखाया गया है जिनमें मृत प्रत्यारोपण (Deceased Donation Transplantation) किया गया है।
सारणी-१ - भारत में - 2012.
राज्य मृत दाताओं की संख्या निकाले गये अंगों की संख्या अंगदाताओं की संख्या (प्रति १० लाख की जनसंख्या)
तमिलनाडु 83 252 1.15
Maharashtra 29 68 0.26
Gujarat 18 46 0.30
Karnataka 17 46 0.28
Andhra Pradesh 13 37 0.15
Kerala 12 26 0.36
Delhi-NCR 12 31 0.29
Punjab 12 24 0.43
Total 196 530 0.16

स्रोत: Indian Transplant News Letter of MOHAN Foundation (Vol 2 Issue No. 37 of 2013)

The year 2013 has been the best yet for deceased organ donation in India. A total of 845 organs were retrieved from 310 multi-organ donors resulting in a national organ donation rate of 0.26 per million population(Table 2).

Table 2 - Deceased Organ Donation in India – 2013
State Tamil Nadu Andhra Pradesh Kerala Maharashtra Delhi Gujarat Karnataka Puducherry Total (National)
Donor 131 40 35 35 27 25 18 2 313
* ODR (pmp) 1.80 0.47 1.05 0.31 1.61 0.41 0.29 1.6 0.26
Heart 16 2 6 0 - 0 1 0 25
Lung 20 2 0 0 - 0 0 0 22
Liver 118 34 23 23 23 20 16 0 257
Kidney 234 75 59 53 40 54 29 4 548
Total 388 113 88 76 63 74 46 4 852

* ODR (pmp) – Organ Donation Rate (per million population)

सन्दर्भ[संपादित करें]

इन्हें भी देक्खें[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]