अंकीय विभाजन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search


वैश्विक अंकीय विभाजन 2006 में: कंप्यूटर के प्रति 100 लोग

डिजिटल डिवाइड या अंकीय विभाजन अंकीय तकनीक तक प्रभावी पहुँच के पक्ष से लोगों के बीच वह मौजूद विभाजन या फ़ाड़े को कहते हैं। अर्थात, जिन समूहों और शख़्सों की तकनीक तक पहुँचना का फ़र्क़ है। संसार के देशों के बीच अंकीय विभाजन वैश्विक अंकीय विभाजन को कहते हैं।[1] यह कई आधार पर हो सकता है।जैसे गरीबी ,अशिक्षा और प्राकृतिक स्थिति।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "अंकीय विभाजन कैसे दबाया जाये - संयुक्त राष्ट्र रिपोर्ट" (PDF). मूल (PDF) से 11 अगस्त 2014 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 29 अप्रैल 2016.