हार्ड डिस्क ड्राइव

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
हार्ड डिस्क ड्राइव
Hard disk platters and head.jpg
हार्ड डिस्क की आंतरिक संरचना
आविष्कार तिथि १४ दिसम्बर १९५४[1]
आविष्कारकर्ता आईबीएम की टीम
जोड़ता है

होस्ट अडैप्टर द्वारा मदरबोर्ड via one of:

  • PATA (IDE) interface
  • SATA interface
  • SAS interface
  • SCSI interface (popular on servers)
  • FC interface (almost exclusively found on servers)
  • USB interface
Market Segments Desktop computers
Mobile computing
Enterprise computing
Consumer electronic

हार्ड डिस्क ड्राइव[2] (जिसे हार्ड डिस्क,[3] हार्ड ड्राइव,[4] या HDD भी कहते हैं) एक डेटा स्टोरेज यन्त्र हैं जो डिजिटल जानकारी चुम्बकीय रूप से स्टोर और रेटरीव (पुनः प्राप्त) करती हैं। इसमें घूमने वाले डिसकस होते हैं जिन्हे चुम्बकीय पदार्थ से कोट किया जाता हैं। बिजली न होने पर भी हार्ड डिस्क अपने डेटा को रेटरीव करती हैं। हार्ड डिस्क से डेटा रैंडम -एक्सेस तरीके से पढ़ा जाता हैं। इसका यह मतलब हैं की डेटा ब्लॉक्स को हार्ड डिस्क में किसी भी जगह स्टोर किया जा सकता हैं क्रमिक रूप से डेटा स्टोर करने की आवश्यकता नहीं हैं। एक हार्ड डिस्क ड्राइव (HDD) में एक या एक से ज़्यादा तेज घूमने वाले डिसक (प्लाटर ) और और मैग्नेटिक हेड्स होते हैं इन्हे एक चलते हुए अक्टूएटर आर्म के ऊपर रखा जाता हैं ताकि डिस्क के सतह पर डेटा लिखा या पढ़ा जा सके। इसका अविष्कार १९५६ में IBM नामक कंपनी में हुआ था। १९६० के दसक तक हार्ड डिस्क सभी जनरल पर्पस कम्प्यूटर में में सबसे प्रचलित सेकेंडरी स्टोरेज डिवाइस बन गया था। हार्ड डिसकस में नियमित रूप से सुधार होने लगी और आज सर्वर और पर्सनल कम्प्यूटर्स के ज़माने में भी इसने अपना जगह स्थिर रखा हैं। २०० से भी ज़्यादा कम्पनियो ने हार्ड डिस्क ड्राइव बनाया हैं। हलाकि ज़्यादातर हार्ड डिसकस आज सीगेट(Segate),तोशिबा (Toshiba)और वेस्टर्न डिजिटल (Western Digital) बनाता हैं। सारी दुनिया की स्टोरेज डिस्क रेवेन्यू २०१३ में $ ३२ बिलियन था जो की २०१२ की तुलना में ३ % कम थी।

हार्ड डिस्क उसके केपेसिटी और परफॉरमेंस पर पर विश्लेषित किया जाता हैं। हार्ड डिस्क की केपेसिटी बाईटस में होती हैं १०२४ बाईट को १ किलोबाईट कहा जाता हैं उसी तरह से १०२४ किलोबाइट को १ मेगाबाइट कहा जाता हैं। १०२४ मेगाबाइट को १ गीगाबाइट कहते हैं और १०२४ गीगाबाइट को १ टेराबाइट कहा जाता हैं। हार्ड डिस्क की पूरी कैपेसिटी यूजर के लिए उपलब्ध नहीं होती क्यूंकि कुछ हिस्सा ऑपरेटिंग सिस्टम को स्टोर करने और कुछ और हिस्सा फाइलसिस्टम के लिए और कुछ हिस्सा संभवतः अंदरुनी रिडनडेंसी (inbuilt redundancy) एरर करेक्शन (गलती सुधारने ) और रिकवरी के लिए व्यवहार होता हैं। जितना समय हेड को सिलिंडर या ट्रैक में ले जाने में लगे और उसके साथ ही जो समय जो सेक्टर को हेड के नीचे घूमने में लगे और कितना डेटा हर सेकंड में ट्रांस्मिट(डेटा ट्रांसफर रेट ) हो रहा हैं इन मापदंडो पर ही हार्ड डिस्क का परफॉरमेंस निश्चित किया जाता हैं।

आज के हार्ड डिस्क ड्राइव्स डेस्कटॉप कम्प्यूटर्स के लिए ३.५ इंच और लैपटॉप में २.५ इंच के होते हैं। हार्ड डिस्क ड्राइव सिस्टम से SATA, USB या SAS(सीरियल अटैच्ड SCSI) केबल से कनेक्टेड होते हैं।

२०१४ तक हार्ड डिस्क ड्राइव को सेकेंडरी स्टोरेज के क्षेत्र में टक्कर देने वाली टेक्नोलॉजी थी फ़्लैश मेमोरी सॉलिड स्टेट ड्राइव के रूप में।


कंप्यूटर हार्ड डिस्क ड्राइव का आरेख








संदर्भ[संपादित करें]

  1. This is the original filing date of the application which led to US Patent 3,503,060, generally accepted as the definitive disk drive patent; see, Kean, David W., "IBM San Jose, A Quarter Century Of Innovation”, 1977.
  2. Other terms use to describe hard disk drives include disk drive , disk file, DASD (Direct Access Storage Device), fixed disk, CKD disk and Winchester Disk Drive (after the IBM 3340).
  3. Webopedia.com
  4. sid5_gci213993,00.html Techtarget.com