४जी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

४जी मोबाइल फोन वायरलैस सेवा की चौथी पीढ़ी है। इससे पिछली २जी और ३जी पीढ़ियां थीं। थ्री जी तकनीक में उपलब्ध आर्थोगोनल फ्रीक्वेंसी डिवीजन मल्टीपल एक्सेस (ओएफडीएमए) की सहायता से वर्तमान नेटवर्क की सुविधा को और बेहतर बनाया जा सकेगा। फोर-जी यानि चौथी जनरेशन अर्थात चौथी पीढ़ी पूरी तरह से आईपी आधारित सेवा होगी। इसमें ध्वनि (वॉयस), पाठ (डाटा) और मल्टीमीडिया को समान गति से भेजा और प्राप्त किया जा सकेगा।[1]

३जी से अंतर[संपादित करें]

थ्री जी मोबाइल में वे सब सुविधाएं उपलब्ध हैं जो वर्तमान मोबाइल तकनीक के लिए आवश्यक हैं, फोर जी की गति १०० एमबीपीएस होगी जो थ्री जी के मुकाबले ५० गुना अधिक होगी। थ्री जी वायरलेस नेटवर्क में ३८४ केबीपीएस से २ एमबीपीएस की गति से ही डाटा भेजा जा सकता था। इन लाभ के साथ साथ ही इस तकनीक की कीमत भी थ्री जी के मुकाबले काफी कम होगी। थ्री जी के मुकाबले ४जी का डाटा रेट अधिक है यानी डाटा का स्थानांतरण तेज गति से किया जा सकेगा। थ्री जी तकनीक जहां वाइड एरिया नेटवर्क पर काम करती है, वहां ४जी लोकल एरिया नेटवर्क (लैन) और बेस स्टेशन वाइड एरिया नेटवर्क पर काम करती है।

लाभ[संपादित करें]

उपयोक्ताओं को उच्च गुणवत्ता की ऑडियो और वीडियो सुविधा उपलब्ध होगी। ओएफडीएम (आर्थोगोनल फ्रीक्वेंसी डिवीजन मल्टीपल एक्सेस) की वजह से बेहतर वीडियो क्वालिटी लोगों को मिल पाएगी। इससे गति बढ़ने के साथ, एकरूप भी हो जाएगी।

संदर्भ[संपादित करें]

  1. फोर जीहिन्दुस्तान लाइव३ नवंबर, २००९