सोग़दाई भाषा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
मानी धर्म से सम्बंधित एक सोग़दाई में लिखा पृष्ठ

सोग़दाई या सोग़दी (फ़ारसी: سغدی, अंग्रेज़ी: Sogdian) एक पूर्वी ईरानी भाषा थी जो प्राचीनकाल में मध्य एशिया के सोग़दा क्षेत्र में बोली जाती थी। यह क्षेत्र आधुनिक उज़्बेकिस्तान और ताजिकिस्तान में स्थित है। ९वीं सदी तक यह भाषा लुप्त हो चुकी थी, हालांकि आधुनिक काल में यग़नोबी नामक एक पूर्वी ईरानी भाषा जीवित है जो सोग़दाई भाषा की वंशज है। तुरफ़ान और दूनहुआंग में मिली लिखाईयों में सोग़दाई लिखाईयाँ भी मिली हैं, जिनमें कई बौद्ध धर्म, मानी धर्म और ईसाई धर्म से सम्बंधित हैं।[1]

नाम का उच्चारण[संपादित करें]

ध्यान दीजिये की 'सोग़दाई' में 'ग़' का उच्चारण 'ग' से थोड़ा अलग है।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. On the Historical Development of the Liturgy, Anton Baumstark, Liturgical Press, 2011, ISBN 978-0-8146-6096-6, ... The so-called Turfan discovery, made in eastern Turkestan, provides insight into how the Sogdian language gradually found firm footing in the liturgy, at least for the reading of Scripture ...