शंघाई

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
शंघाई
上海市
Shanghai montage.png
Clockwise from top: A view of the Pudong skyline, Yuyuan Garden, China Pavilion along with the Expo Axis, Neon Sign at Nanjing Road, and The Bund in Puxi
संक्षिप्तीकरण: 沪 या 申 (पिनयिन: Hu या Shen)
शंघाई上海市Clockwise from top: A view of the Pudong skyline, Yuyuan Garden, China Pavilion along with the Expo Axis, Neon Sign at Nanjing Road, and The Bund in Puxi
नामोत्पत्ति 上 शंघ - ऊपर
海 हाई - समुद्र
प्रशासन प्रकार नगरपालिका
राजधानी शंघाई
महापौर हान झेंग
क्षेत्रफल ६,३४०.५ किमी² (३१वां)
जनसंख्या (२००६)
 - घनत्व
१,८१,०१,७२५ (आधिकारिक) (२५वां)
१६,९५८/किमी² (१ला)
जीएनपी (२००४)
 - प्रति व्यक्ति
७४५ सीएनवाई (७वां)
४२,८०० सीएनवाई (१ला)
आईएसओ ३१६६-२ सीएन-३१
आधिकारिक जालस्थल:
शंघाई.जीओवी.सीएन
जनसंख्या और जीडीपी डाटा के लिए स्रोत:
《中国统计年鉴—2005》/ चीन वार्षिक सांख्यिकी २००५ ISBN 7-5037-4738-2


शंघाई (चीनी: 上海; पिनयिन: ;) चीनी जनवादी गणराज्य का सबसे बड़ा नगर है। यह देश के पूर्वी भाग में यांग्त्ज़े नदी के डेल्टा पर स्थित है। यह अर्थव्यवस्था और जनसंख्या दोनों ही दृष्टि से चीन का सबसे बड़ा नगर है। यह देश की चार नगरपालिकाओं में से एक है और उसी स्तर पर है जिसपर कि चीन का कोई अन्य प्रान्त।

नगर सीमा के भीतर की जनसंख्या ९३ लाख है और पूरी नगरपालिका में १ करोड़ ८१ लाख लोग रहते हैं। १ जनवरी ,२००६ की स्थिति तक यहां १ करोड़ ३७ लाख स्थाई निवासी और ४४ लाख अस्थाई निवासी थे जिनके पास रहने का वैध परमिट था। इसके अतिरिक्त यहां ३० लाख लोग अवैध रूप से भी रहते है।

इतिहास[संपादित करें]

शंघाई पहले मछुआरों का एक गाँव था, पर प्रथम अफ़ीम युद्ध के बाद अंग्रेज़ों ने इस स्थान पर अधिकार कर लिया और यहां विदेशियों के लिए एक स्वायत्तशासी क्षेत्र का निर्माण किया, जो १९३० तक अस्तित्व में रहा और जिसने इस मछुआरों के गाँव को उस समय के एक बड़े अन्तर्राष्ट्रीय नगर और वित्तीय केन्द्र बनने में सहायता की।

१९४९ में साम्यवादी अधिग्रहण के बाद उन्होंने विदेशी निवेश पर रोक लगा दी और अत्यधिक कर लगा दिया। १९९२ से यहां आर्थिक सुधार लागू किए गए और कर में कमी की गई, जिससे शंघाई ने अन्य प्रमुख चीनी नगरों जिनका पहले विकास आरम्भ हो चुका था जैसे शेन्झेन और गुआंग्झोऊ को आर्थिक विकास में पछाड़ दिया। १९९२ से ही यह महानगर प्रतिवर्ष ९-१५% की दर से वृद्धि कर रहा है, पर तीव्र आर्थिक विकास के कारण इसे चीन के अन्य क्षेत्रों से आने वाले अप्रवासियों और समाजिक असमनता की समस्या से इसे जुझना पड़ रहा है।

इस महानगर को आधुनिक चीन का ध्वजारोहक नगर माना जाता है और यह चीन का एक प्रमुख सांस्कृतिक, व्यवसायिक, और औद्योगिक केन्द्र है। २००५ से ही शंघाई का बन्दरगाह विश्व का सर्वाधिक व्यस्त बन्दरगाह है। पूरे चीन और शेष दुनिया में भी इसे भविष्य के प्रमुख महानगर के रूप में माना जाता है।[1]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. SHANGHAI: THE RISE OF THE GLOBAL CITY newgeography.com (अंग्रेज़ी)

बाहरी कड़ियां[संपादित करें]