लूई वीटॉन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
Louis Vuitton Malletier
प्रकार Division of holding company (LVMH)
उद्योग Retail
स्थापना 1854
संस्थापक Louis Vuitton
मुख्यालय Paris, France
प्रमुख व्यक्ति Louis Vuitton, (Founder)
Bernard Arnault, (President)
Marc Jacobs, (Art Director)
Antoine Arnault, (Director of Communications)
उत्पाद Luxury goods
राजस्व Green Arrow Up Darker.svg1.98 billion (2009)[1]
कर्मचारी 9,671 (March 2010)
मातृ कंपनी LVMH
वेबसाइट www.louisvuitton.com

लूई वीटॉन मालटियर -सामान्यतः लूई वीटॉन के नाम से जाना जाता है, ([2] आमतौर पर अंग्रेजी में रुपान्तरित [3]), या संक्षेप में एलवी (LV)- एक फ्रेंच फैशन हाउस है जिसकी स्थापना 1854 में हुई थी. यह लेबल अपने एलवी (LV) मोनोग्राम के कारण अच्छी तरह से जाना जाता है, जो अपने अधिकतर उत्पादों पर लगा होता है, जिनमें लक्ज़री संदूकों और चमड़े के उत्पादों से लेकर तैयार कपड़े, जूते, घड़ियां, गहने, सहायक सामग्रियां, धूप के चश्मे और किताबें शामिल हैं. लूई वीटॉन दुनिया के प्रमुख अंतर्राष्ट्रीय फैशन हाउसों में से एक है. लूई वीटॉन अपने उत्पादों को उच्च स्तरीय डिपार्टमेण्ट स्टोर्स के छोटे बुटिक्स में, और अपने वेबसाइट के ई-कामर्स विभाग के जरिए बेचता था.[2]

इतिहास[संपादित करें]

लूई वीटॉन की जीवनी[संपादित करें]

लूई वीटॉन (1821- 27 फ़रवरी 1892),[3] कंपनी के इपॉनिमस संस्थापक थे, जिनका जन्म फ्रांस के जूरा (जो अब लावान्स-सुर-वालोस के कम्यून का हिस्सा है) में हुआ था. वे 1835 में पेरिस चले गए. अपने शहर से पेरिस तक की उनकी यात्रा खत्म हो चुकी थी400 किलोमीटर (249 मील), और उन्होंने इस दूरी को पैदल तय किया. अपने रास्ते में, उन्होंने अपनी यात्रा के भुगतान के लिए कुछ अजीबोगरीब नौकरियां कीं. वहां, विशिष्ट घरों में वे लेटियर प्रशिक्षु भी बने.[4] अपने क्षेत्र में उनकी अच्छी खासी प्रतिष्ठा की वजह से फ्रांस के नेपोलियन III ने वीटॉन को अपनी पत्नी, महारानी यूगिनी डे मोंटिजो का लेटियर नियुक्त किया. फ़्रांसिसी राजघराने के साथ अपने अनुभव के माध्यम से उन्होंने उन्नत ज्ञान विकसित किया जो एक अच्छी यात्रा का उदाहरण बना. उसी समय से उन्होंने अपने सामान की डिज़ाइन बनाना शुरू किया, जिससे एलवी कंपनी (LV Co) की नींव पड़ी.[4]

1854 से 1892 तक[संपादित करें]

महाशय वीटॉन ने 1854 में पेरिस में रुइ न्यूव डेस कैप्यूसिन्स के मौके पर लूई वीटॉन लेबल की स्थापना की थी.[3] महाशय वीटॉन ने 1858 में, ट्रायनॉन कैनवस के साथ समतल तल वाले ट्रंक को शुरू किया, जो हल्के और वायुरुद्ध भी थे.[3] वीटॉन के संदूकों का प्रयोग शुरू होने से पहले आम तौर पर पानी हटाने के लिए गोल टॉप वाले संदूकों का प्रयोग किया जाता था और इस तरह ढेर जमा नहीं होता था. इस तरह से वीटॉन के ग्रे ट्रायनॉन कैनवस फ्लैट ट्रंक ने समुद्री यात्रा में सामान ले जाने का काम आसान कर दिया. कई अन्य सामान बनाने वालों ने प्रतिष्ठित और सफल बनने के लिए एलवी (LV) के स्टाइल और डिज़ाइन की नकल करनी शुरू कर दी.[4]

कंपनी ने 1867 में पेरिस में विश्वस्तरीय प्रदर्शनी में भाग लिया.[3] अपने नमूने की नकल होने से बचाने के लिए, उन्होंने ट्रायनॉन डिज़ाइन को 1876 में मटमैले और भूरी धारियों की डिज़ाइन में बदल दिया.[4] कंपनी ने 1885 तक ऑक्सफोर्ड स्ट्रीट पर इंग्लैण्ड के लन्दन में अपना पहला स्टोर खोल लिया.[3] इसके तुरंत बाद, अपने नमूने की लगातार हो रही नकल की वजह से 1888 में, लूई वीटॉन ने डैमियर कैनवस पैटर्न बनाया, जिसमें एक लोगो रहता था जिस पर लिखा होता था "मार्क एल वीटॉन डिपोज़ी," जिसका अनुवाद था "एल वीटॉन जमा" या, मोटे तौर पर एल वीटॉन ट्रेडमार्क,". 1892 में लूई वीटॉन का देहांत हो गया, और कंपनी के प्रबंधन का जिम्मा उनके बेटे को सौंप दिया गया.[4][3]

1893 से लेकर 1939 तक[संपादित करें]

अपने पिता की मृत्यु के बाद, जार्ज वीटॉन ने कंपनी को विश्वस्तरीय निगम बनाने के लिए, 1893 में शिकागो वर्ल्ड्स फेयर में कंपनी के उत्पादों का प्रदर्शन किया. कंपनी ने 1896 में मोनोग्राम कैनवस हस्ताक्षर अभियान शुरू किया और उस पर दुनिया भर में पेटेंट बनाया.[4][3] इसके ग्राफिक प्रतीकों में, जिनमें क्वाट्रेफॉयल्स और फूल (यहां तक कि एलवी (LV) मोनोग्राम) भी शामिल है, विक्टोरियन युग के अंत में जापानी और पूर्वी देशों (ओरिएंटल) की डिज़ाइन के इस्तेमाल की शैली पर आधारित थे. ये पेटेंट बाद में जालसाजी रोकने में सफल साबित हुए. उसी वर्ष जॉर्ज ने यूनाइटेड स्टेट्स की यात्रा की, जहां वे विभिन्न शहरों (जैसे न्यूयार्क, फिलाडेल्फिया, और शिकागो) में घूमे, जहां दौरे के समय वीटॉन के उत्पाद भी बेचे. लूई वीटॉन कंपनी ने 1901 में स्टीमर बैग की शुरुआत की, जो छोटे आकार में डिज़ाइन किया गया था और वीटॉन लगेज ट्रंक्स के अंदर रखा जा सकता था.

1913 में, लूई वीटॉन बिल्डिंग चैमप्स-एलसीज़ पर खुली. उस समय यह दुनिया में सफर के सामान की सबसे बड़ी दुकान थी. जब विश्व युद्ध I शुरू हुआ, उस समय न्यूयार्क, बॉम्बे, वाशिंगटन, लंदन, एलेक्ज़ेन्ड्रिया और ब्यूनस आयर्स में भी स्टोर्स खोले गये. बाद में, 1930 में कीपऑल बैग शुरू किया गया. 1932 के दौरान, एलवी (LV) ने नो बैग शुरू किया. यह बैग मूल रूप से शराब विक्रेताओं के लिए बनाया गया था जिससे वे बोतलों का परिवहन कर सकें. इसके तुरंत बाद, लूई वीटॉन का स्पीडी बैग शुरू किया गया (इन दोनों का अभी भी निर्माण हो रहा है).[3] 1936 में जार्ज वीटॉन का देहांत हो गया और उनके बेटे गैस्टॉन लूई वीटॉन ने कंपनी का भार संभाल लिया.[3]

लूई वीटॉन की यहूदी विरोधी भावना (द्वितीय विश्व युद्ध)[संपादित करें]

द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान, फ्रांस पर जर्मनी के कब्जे के दौरान लूई वीटॉन ने नाज़ियों को सहयोग दिया. फ्रांसीसी लेखक व पत्रकार स्टीफन बॉनविसिनी द्वारा लिखित, और पेरिस आधारित संस्करण फायार्ड[5] द्वारा प्रकाशित फ्रांसीसी किताब लूई वीटॉन-अ फ्रेंच सागा बताती है कि वीटॉन परिवार के सदस्यों ने मार्शल फिलिप पीटेन के नेतृत्व वाली कठपुतली सरकार की कितनी सक्रियतापूर्वक मदद की औऱ जर्मनों से व्यापारिक संबंध बनाकर किस तरह से अपने धन में वृद्धि की. परिवार ने पीटेन की महिमा को बरकरार रखते हुए कलाकृतियां बनाने के लिए एक फैक्ट्री स्थापित की, जिनमें 2,500 से ज्यादा अर्द्ध प्रतिमाएं शामिल है. पीटेन का विची शासन फ़्रांसिसी यहूदियों को जर्मनों के यातना शिविरों में भेजे जाने के लिए जिम्मेदार था.[6]

फायार्ड प्रकाशक के एक प्रवक्ता कैरोलीन बाबुले ने कहा: "उन्होंने पुस्तक में किसी चीज़ से छेड़छाड़ नहीं की है, पर वे यह दिखावा करते हुए कि जैसे उसका वज़ूद ही न हो, उसे दफनाने की कोशिश कर रहे हैं."[6] 2004 में पुस्तक के जारी होने पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए एलवीएमएच (LVMH) के एक प्रवक्ता ने कहा: "यह प्राचीन इतिहास है. इस किताब में उस अवधि का जिक्र है जब यह परिवार द्वारा संचालित था जो एलवीएमएच का हिस्सा बनने से बहुत पहले की बात है. हम विविध और सहिष्णु हैं और हमारे पास वे सभी गुण हैं जो एक आधुनिक कंपनी में होने चाहिये."[6] एलवीएमएच के एक प्रवक्ता ने व्यंग्य पत्रिका ले कनार्ड एनकेन को बताया, "हम तथ्यों से इनकार नहीं करते हैं लेकिन खेद है कि लेखक ने विची प्रकरण को बढ़ा चढ़ा कर बताया है." वह एकमात्र फ़्रांसिसी आवधिक प्रकाशन था जिसने उस किताब का उल्लेख किया था.[6]

1945 से 2000 तक[संपादित करें]

इन्हें भी देखें: Louis Vuitton Cup, America's Cup, एवं LVMH

इस अवधि के दौरान, लूई वीटॉन ने अपने अधिकतर उत्पादों में चमड़े को शामिल कर लिया, जिसमें छोटे पर्स और जेबी बटुए से लेकर बड़े सामान भी शामिल थे. अपनी लाइन को व्यापक बनाने के लिए, कंपनी ने 1959[3] में हस्ताक्षर मोनोग्राम कैनवास को और अधिक लचीला बना दिया, जिसे पर्स, बैग और बटुओं में भी इस्तेमाल किया जा सके. माना जाता है 1960 में जालसाज़ी एक अहम मुद्दे की तरह लौटा, जो 21 वीं सदी में जारी है.[4] 1966 में, पैपीलॉन जारी किया गया, (एक बेलनाकार बैग जो आज भी लोकप्रिय है). 1977 में 70 लाख फ़्रैंक अमरीकी राजस्व के साथ ($14.27 अरब अमरीकी डॉलर)[7] एक साल बाद, लेबल की पहली दुकान जापान में: टोकियो और ओसाका में खुली). 1983 में, कंपनी अमेरिका कप के साथ जुड़ गयी जिससे लूई वीटॉन कप बनायी जा सके, जो नौका दौड़ की एक प्रारंभिक प्रतियोगिता है (जिसे एलिमिनेटरी रिगाटा के रूप में जाना जाता है). लूई वीटॉन ने बाद में 1984 में ताइवान के ताइपे में, और 1984 में दक्षिण कोरिया के सियोल में, अपनी दुकान खोलकर एशिया में अपनी उपस्थिति दर्ज करायी. ठीक एक वर्ष बाद ही, 1985 में, एपी चमड़े की लाइन शुरू की गयी.[3]

1987 ने एलवीएमएच (LVMH) का निर्माण देखा.[3] विलासिता की सामग्री का संपिंडन करने के लिए शैम्पेन एवं कोन्याक के अग्रणी निर्माताओं मोएट एट चैंडॉन और हेनेसी का क्रमशः लूई वीटॉन के साथ विलय हुआ. 1988 का लाभ 1987 से 49% अधिक दर्ज किया गया. 1989 तक, लूई वीटॉन दुनिया भर में 130 स्टोरों को संचालित करने लगा.[3] 1990 के दशक में प्रवेश करते हुए इव्स कार्सेली को एलवी (LV) के अध्यक्ष के रूप में नामित किया गया और 1992 में उसके ब्रांड ने बीजिंग के पैलेस होटल में अपना पहला चीनी ठिकाना बनाया. आगे 1993 में अन्य उत्पाद जैसे टैगा चमड़े की लाइन और 1994 में वोयेजर एवेक (Voyager Avec) साहित्य संग्रह आरंभ हुआ. 1996 में मोनोग्राम कैनवस के सौ वर्ष का उत्सव दुनिया भर में सात शहरों में आयोजित किया गया.[3]

1997 में अपना कलम संग्रह शुरू करने के बाद लूई वीटॉन ने अगले वर्ष 1998 में जे के साथ-साथ मार्क जैकब्स को भी अपना कला निर्देशक बनाया.[3] अगले वर्ष मार्च में उन्होंने डिजाइन और कम्पनी की महिलाओं और पुरुषों के कपड़ों की पहली लाइन "प्रेट-अ-पोर्टर" डिज़ाइन की और उसे आरम्भ कराया." इसके अलावा इस साल शुरू किये गए उत्पादों में मोनोग्राम वार्निश लाइन, एलवी स्क्रैप बुक्स (LV scrapbooks) और लूई वीटॉन सिटी गाइड शामिल हैं.[3]

20 वीं सदी की अंतिम घटनाएं थीं, 1999 में मिनी मोनोग्राम लाइन, 2000 में अफ्रीका के माराकेच, मोरक्को में पहले स्टोर का खुलना और अंत में वेनिस, इटली के अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव में नीलामी, जहां एड्स रिसर्च की स्थापना (AIDS Research) (2000 में ही) के साथ शेरोन स्टोन द्वारा डिज़ाइन किया गया वेनिटी केस एमफार ("amfAR") बेचा गया.[3]

2001 से आज तक[संपादित करें]

मैनहट्टन के फिफ्थ एवेन्यू में दुकान.
इटली में, मिलान के गैलेरिया विटॉरियो एमनुएले II पर लूई वीटॉन की एक बुटीक.

2001 तक मार्क जैकब के सहयोग से स्टीफन स्प्राउस ने वीटॉन बैग्स[3] की एक सीमित-संस्करण लाइन आरम्भ की, जिसमें मोनोग्राम के नमूने पर भित्ति चित्रण (graffiti) प्रदर्शित किया गया था. भित्ति चित्रण (graffiti) के साथ लूई वीटॉन भी पढ़ा जा सकता है और कुछ बैगों पर बैग का नाम भी (जैसे कीपाल और स्पीडी). कुछ बैग, जिन पर मोनोग्राम कैनवास पृष्ठभूमि के बगैर भित्ति चित्रण (graffiti) चित्रित था, केवल लूई वीटॉन के अति महत्वपूर्ण (V.I.P.) ग्राहक सूची पर ही उपलब्ध थे. उसी वर्ष जैकब ने आकर्षण कंगन (charm bracelet) भी बनाया, जो एलवी (LV) द्वारा निर्मित पहला गहना था.[3]

2002 में ढोल घड़ी संग्रह आरम्भ किया गया[3] इस वर्ष के दौरान टोकियो में एलवी (LV) बिल्डिंग खोला गया और ब्रांड ने अपने क्रिसमस विंडो सिनिओग्राफी के लिए बॉब विल्सन से सहयोग किया. 2003 में मार्क जैकब के सहयोग से हैण्ड बैग और उपसाधन सामग्री का नया मोनोग्राम मल्टीकलर कैनवास रेंज तकाशी मुराकामी[3]की योजना बनायीं. इस रेंज में मानक मोनोग्राम कैनवास के मोनोग्राम शामिल हैं, लेकिन सफेद या काले रंग की पृष्ठभूमि पर 33 अलग-अलग रंगों में. (पारम्परिक कैनवास में एक भूरे रंग की पृष्ठभूमि पर सुनहरा मोनोग्राम है.) मुराकामी ने चेरी ब्लासम पैटर्न भी बनाया, जिसमें गुलाबी और पीले फूलों के बीच में मुस्कुराते कार्टून चेहरे थे जिन्हें छिटपुट रूप से मोनोग्राम कैनवास के ऊपर बनाया गया था. यह पैटर्न एक सीमित संख्या की वस्तुओं पर दिखाई दिया. जून 2003 में इस सीमित-संस्करण के उत्पादन को बंद कर दिया गया था. 2003 में मॉस्को रूस और नई दिल्ली भारत में दुकानें खोली गयीं, उताह और सुहाली चमड़े की लाइनों को जारी किया गया और 20वीं वर्षगांठ पर एलवी (LV) कप आयोजित किया गया.[3]

प्रसिद्ध कैम्पस-एल्य्सीस पर स्थित लूई वीटॉन.

2004 में, लूई वीटॉन ने अपनी 150 वीं वर्षगांठ मनाई. न्यूयॉर्क सिटी (फिफ्थ एवेन्यू पर) साओ पाउलो और जोहानसबर्ग स्थित स्टोरों में भी इस ब्रांड का उद्घाटन किया गया. इसने शंघाई में अपनी पहली वैश्विक दुकान (ग्लोबल स्टोर) भी खोली. 2005 तक, लूई वीटॉन ने पेरिस में अमेरिकी आर्किटेक्ट एरिक कार्लसन द्वारा डिजाइन किये गए चैमप्स-एलसीज़स्टोर (दुनिया के सबसे बड़े और सफल एलवी (LV) स्टोर के रूप में प्रसिद्ध) को फिर से खोला और द्रुत घड़ी संग्रह जारी किया. 2006 में एलवी (LV) ने इसके 7वें तल पर अपने स्पास लूई वीटॉन के उद्घाटन का आयोजन किया.[3] 2008 में लूई वीटॉन ने डेमियर ग्रेफाइट कैनवास जारी किया. यह कैनवास मर्दाना रुख और शहरी एहसास देने के लिए केवल काले और भूरे रंग में पारम्परिक डेमियर नमूने के साथ उपलब्ध है.

2010 में, लूई वीटॉन ने जो स्टोर खोला वह लंदन में उनके सबसे शानदार दुकान के रूप में वर्णित हुआ.[8]

वर्तमान में लूई वीटॉन[संपादित करें]

विज्ञापन अभियान[संपादित करें]

ह्यूस्टन में लूई वीटॉन स्टोर

लूई वीटॉन कंपनी ध्यानपूर्वक किसी प्रसिद्ध हस्ती की तरफ हाथ बढ़ाती है और इसने अपने विपणन अभियानों में जेनिफर लोपेज जैसी प्रसिद्ध मॉडल और अभिनेत्रियों और अभी हाल ही में मैडोना का इस्तेमाल किया है. अपने उत्पादों का विज्ञापन करने के लिए मशहूर हस्तियों और सुपर मॉडलों को नियुक्त करने की अपनी सामान्य परंपरा को तोड़ते हुए 2 अगस्त 2007 को कंपनी ने घोषणा की कि उनके एक विज्ञापन अभियान में सोवियत संघ के पूर्व नेता मिखाइल गोर्बाचेव स्टेफी ग्राफ, आंद्रे अगासी और कैथरीन डेन्यूब के साथ प्रकट होंगे. अनेक रैपर्स, विशेषकर कान्ये वेस्ट ने कुछ गानों में कंपनी का उल्लेख किया है.

कंपनी आमतौर पर महानगरीय शहरों में पत्रिकाओं और इश्तहारों (बिलबोर्डों) में छपे विज्ञापनों का उपयोग करती है. पहले यह अपने विज्ञापन अभियानों के लिए एनी लेबोविज द्वारा लिए गए फोटो अक्सर स्टेफी ग्राफ, आंद्रे अगासी, गिसेल बंचेन और कैथरीन डेन्यूब जैसे प्रतिष्ठित सितारों को शामिल कर और चयनित प्रेस पर ही भरोसा करती थी. हालांकि, एंटोनी अर्नाल्ट संचार विभाग के निदेशक ने हाल ही में टेलीविजन और सिनेमा की दुनिया में प्रवेश करने का निर्णय लिया है: वाणिज्यिक (कामर्शियल) (90 सेकंड) "जीवन तुम्हें कहां ले जाएगा?" विषय पर अन्वेषण कर रहा है. और 13 अलग-अलग भाषाओं में इसका अनुवाद किया है. यह वीटॉन का सबसे पहला वाणिज्यिक विज्ञापन था और प्रसिद्ध फ्रांसीसी निर्देशक ब्रूनो एविलान द्वारा निर्देशित किया गया था.[9]

उत्पाद[संपादित करें]

येकातेरिनबर्ग (रूस) में स्टोर

19 वीं सदी से, लूई वीटॉन का सामान बनाने का तरीका नहीं बदला है: अब भी सामान हाथ से ही बनाये जाते हैं.[4] समकालीन फैशन एलवी (LV) के निर्माण का पूर्वावलोकन देता है: "कारीगर चमड़े और कैनवास को साथ में इस्तेमाल करते हैं और छोटी-छोटी कीलों को एक-एक कर लगाते हैं, पांच अक्षर वाले ठोस पिक-प्रूफ पीतल के तालों को लगाते हैं जो मानवनिर्मित एक ही चाभी से खुल सके, जिससे यात्री को अपने सभी सामान के लिए सिर्फ एक ही चाबी की जरूरत पड़े. प्रत्येक ट्रंक का तख्ता 30 साल पुराने चिनार से बना था जिसे कम से कम चार साल के लिए सुखाया गया हो. हर ट्रंक का एक सीरियल नंबर है जिसे बनाने में 60 घंटे लग सकते हैं और एक सूटकेस को बनाने में 15 घंटे लगते हैं."[4]

कंपनी के उत्पादों में से अनेक में सिग्नेचर भूरे डेमियर और मोनोग्राम कैनवास सामग्री का प्रयोग किया जाता था, इन दोनों का ही 19 वीं सदी में पहली बार इस्तेमाल किया गया था. कंपनी के सभी उत्पादों पर इपॉनिमस एलवी (LV) प्रथमाक्षर प्रदर्शित होते थे. कंपनी दुनिया भर में स्थित अपने स्टोर्स के माध्यम से ही अपने उत्पादों का विपणन करती है, जो उत्पाद की गुणवत्ता और मूल्य निर्धारण को नियंत्रित करने की अनुमति देता है. यह एलवी (LV) को अपने वितरण चैनलों में नकली उत्पादों के प्रवेश को रोकने में अहम भूमिका निभाता है. लूई वीटॉन की कोई छूट बिक्री नहीं है और न ही इसकी सीमा शुल्क मुक्त दुकान हैं. इसके अलावा, कंपनी लूईवीटॉनडॉटकॉम (LouisVuitton.com) के माध्यम से अपने उत्पादों को वितरित करता है.[4]

ब्रांड[संपादित करें]

लूई वीटॉन ब्रांड और प्रसिद्ध एलवी (LV) मोनोग्राम दुनिया के सबसे मूल्यवान ब्रांडों में शामिल हैं. मिलवार्ड ब्राउन के 2010 के अध्ययन के मुताबिक, लूई वीटॉन ठीक वेल्स फ़ार्गो के बाद और जिलेट से पहले दुनिया का 29वां कीमती ब्रांड है. यह ब्रांड के तकरीबन 19.781 खरब अमरीकी डालर तक की हैसियत का होने का अनुमान है.[10]

जालसाज़ी[संपादित करें]

चित्र:CIMG0185.JPG
एक असली लूई वीटॉन पर्स.

लूई वीटॉन फैशन की दुनिया में स्टटेस सिंबल की अपनी छवि के कारण सबसे ज्यादा नकल किये जाने वाले ब्रांडों में शामिल है. केवल एलवी (LV) प्रथमाक्षर वाले उत्पादों का एक छोटा सा हिस्सा ही आम जनता में प्रामाणिक हैं. विडंबना यह है कि हस्ताक्षर वाले मोनोग्राम कैनवास जालसाज़ी रोकने के लिए ही बनाये गये थे.[11] 2004 मेंयूरोपीय संघ में [12] लूई वीटॉन के 18% नकली उत्पाद जब्त किये गये.[13]

कंपनी जालसाज़ी को गंभीरता से लेती है और वकील एवं विशेष जांच एजेंसियों की एक टीम को नियुक्त करती है, जो दुनिया भर में सक्रिय रूप से अदालतों के माध्यम से अपराधियों का पीछा करते हैं और संचार का आधा बजट अपने उत्पादों की जालसाज़ी रोकने में आवंटित कर देते हैं.[4] एलवीएमएच(LVMH) (वीटॉन की मूल कंपनी) ने यह कह कर इस बात की पुष्टि की है "बाहरी जांचकर्ताओं के एक व्यापक नेटवर्क और वकीलों की एक टीम के सहयोग से 60 लोग जिम्मेदारी के विभिन्न स्तर पर जालसाज़ी रोकने के लिए पूरे समय काम कर रहे हैं".[14] आगे के एक और प्रयास में कंपनी अपने उत्पादों के वितरण पर बारीकी से नियंत्रण करती है.[4] 1980 के दशक तक, वीटॉन उत्पादों का विक्रय डिपार्टमेंट स्टोरों (जैसे निमैन मारकस और साक्स फिफ्थ एवेन्यू में होता था. आज, वीटॉन उत्पाद अपवाद की एक छोटी संख्या के साथ मुख्यतः प्रामाणिक लूई वीटॉन बुटिक्स[4] में उपलब्ध हैं. ये बुटिक्स सामान्यतः उच्च-स्तर के खरीदारी जिलों के अंदर या लक्जरी डिपार्टमेंट स्टोर में पाए जाते हैं. डिपार्टमेंट स्टोर के अन्दर के बुटिक्स विभाग से स्वतंत्र रूप से संचालित होते हैं और इनके अपने एलवी (LV) प्रबंधक और कर्मचारी हैं. एलवी (LV) ने हाल ही में एक अधिकृत चैनल के रूप में अपने उत्पादों के विपणन के लिए अपने मुख्य वेबसाइट के माध्यम से एक ऑनलाइन स्टोर आरंभ किया है.[15]

विवाद और मतभेद[संपादित करें]

लूई वीटॉन बनाम ब्रिटनी स्पीयर्स वीडियो[संपादित करें]

19 नवंबर 2007 को जालसाज़ी रोकने के अगले प्रयास के रूप में लुई वीटॉन ने जालसाज़ी कानूनों का उल्लंघन करने के लिए ब्रिटनी स्पीयर्स पर सफलतापूर्वक मुकदमा दायर किया. "डू समथिंग" गीत के म्यूजिक वीडियो के एक हिस्से में एक गर्म गुलाबी ह्यूमर के डैशबोर्ड पर उंगलियों का दोहन (टैपिंग) दिखाई देता है जो लुई वीटॉन के एलवी (LV) लोगो युक्त "चेरी ब्लासम" डिजाइन जैसा दीखता है. ब्रिटनी स्पीयर्स खुद दोषी नहीं पाई गयी लेकिन पेरिस में एक नागरिक अदालत (सिविल कोर्ट) ने सोनी बीएमजी (BMG) और एमटीवी ऑनलाइन को वीडियो का प्रदर्शन रोकने का आदेश दिया गया है. उन्होंने प्रत्येक समूह पर 80,000 यूरो का जुर्माना भी किया. एलवीएमएच (LVMH) के लिए एक अनाम प्रवक्ता ने कहा कि यह वीडियो लूई वीटॉन के ब्रांड और उसके लक्जरी छवि पर एक "हमले" के लिए गठित है.[16]

लूई वीटॉन बनाम डारफर चैरिटी[संपादित करें]

लूई वीटॉन ने 13 फरवरी, 2007 को कलाकार नादिया प्लेज़नर को एक बैग के 'पुनः उत्पादन' के लिए स्थगन और निवृत्ति का आदेश भेजा जिसमें वीटॉन के बौद्धिक संपदा के अधिकार का उल्लंघन किया गया था.[17] पुनः उत्पादन एक व्यंग्य चित्र के सन्दर्भ में है जिसमें दर्शाया गया है कि एक कुपोषित बच्चा एक डिज़ाइनर कुत्ता और एक डिज़ाइनर बैग थामे हुए है. यह उदाहरण टी-शर्ट और पोस्टरों पर चित्रित किया गया, जिसका सारा लाभ "डाइवेस्ट फॉर डार्फर" के दान को जा रहा था. 27 फ़रवरी 2008 को लूई वीटॉन को अपनी एक लिखित प्रतिक्रिया में प्रसिद्ध मोनोग्राम की कमी की और ध्यान आकर्षित करते हुए कलाकार ने अपने "सरल जीवन" अभियान और अपनी कलात्मक स्वाधीनता का बचाव किया, आगे दृढ़ता पूर्वक कहा कि चित्र साधारण तौर पर "डिज़ाइनर बैगों" के संदर्भ में है और चित्र या सम्बंधित अभियान सामग्री किसी में भी लूई वीटॉन ब्रांड का कोई विशिष्ट उल्लेख नहीं है.[73] 15 अप्रैल 2008 को लूई वीटॉन ने प्लेजनर को उसके खिलाफ लाये जाने वाले मुकदमे के बारे में अधिसूचित किया. यह बताया गया है कि लूई वीटॉन ने सिम्पल लिविंग उत्पादों का प्लेजनर द्वारा विक्रय जारी रखने पर प्रत्येक दिन के लिए 7500 डॉलर (5000 के लिए यूरो) कि मांग की है, मूल स्थगन और रोक पत्र को उसके वेबसाइट पर प्रकाशित करने के प्रत्येक दिन के लिए 7500 डॉलर और अपने वेबसाइट पर "लूई वीटॉन" नाम का उपयोग करने के लिए प्रति दिन 7500 डॉलर. इसके अलावा, यह आरोप लगाया गया कि लूई वीटॉन ने मांग की है कि कलाकार 15000 डॉलर के अतिरिक्त खर्च, जो कंपनी ने अपने बौद्धिक संपत्ति अधिकारों की रक्षा के लिए खर्च किया है सहित लूई वीटॉन के कानूनी खर्च का भुगतान करे.[18] विवादित चित्र को एक विस्तारित अवधि के लिए प्लेज़नर के वेबसाइट से निकाल दिया गया. हालांकि अब प्लेज़नर के धन उगाहने के अभियान के लिए एक विकल्प चित्र का उपयोग किया जा रहा है, मूल चित्र भी साइट पर पुनः प्रकट हुआ और साइट पर प्रमुखता से छप रहा है.

एलवीएमएच (LVMH) के प्रवक्ता द्वारा दी गई सूचना के आधार पर न्यूयॉर्क पत्रिका ने सूचित किया कि लूई वीटॉन ने मामले को अदालत में जाने से रोकने का प्रयास किया था लेकिन जब प्लेज़नर ने, न तो विवादित चित्र को हटाने के उनके मूल अनुरोध का जवाब दिया न ही परवर्ती निवृति और स्थगन के आदेश का तब उन्हें कानूनी कार्रवाई करने पर मजबूर होना पड़ा. प्रवक्ता लेख के अनुसार एलवीएमएच (LVMH) के प्रवक्ता ने यह भी दावा किया था कि प्लेज़नर एलवीएमएच (LVMH) द्वारा "मुकदमा रोकने के लिए" किये गए प्रयास की पूरी बात को गुप्त रखने की कोशिश कर रही थी.[19] ये दावे, निवृति और स्थगन आदेश[20] के सम्बन्ध में प्लेजनर द्वारा प्रकाशित प्रतिक्रिया से मेल नहीं खाते तथा प्लेजनर को एलवीएमएच (LVMH) द्वारा किये गए दावों का जवाब देने कि अनुमति न होने तथा विशेष रूप से पत्रिका के कुछ ही दिन पहले उसके संपर्क में होने कि वजह से लेख की काफी आलोचना की गई थी.[21]

अक्टूबर 2008 में लूई वीटॉन ने घोषणा की कि कंपनी ने अपना मुकदमा वापस ले लिया है.[22]

संदर्भ[संपादित करें]

  1. "Louis Vuitton records double-digit growth in 2009". Drapers. 5 February 2010. http://www.drapersonline.com/news/womenswear/news/louis-vuitton-records-double-digit-growth-in-2009/5010232.article. अभिगमन तिथि: 12 May 2010. 
  2. "Timeline". Louis Vuitton. http://www.louisvuitton.com/web/flash/index.jsp;jsessionid=QEDUVBBTA0GZWCRBXUXFAHYKEG4RAUPU?buy=1&langue=en_US. अभिगमन तिथि: 2008-03-03. 
  3. Martin, Richard (1995). Contemporary fashion. London: St. James Press. pp. 750. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 1-55862-173-3. 
  4. "Fayard". http://www.editions-fayard.fr/. 
  5. "Louis Vuitton's links with Vichy regime exposed, The Guardian, June 3, 2004.". London. June 3, 2004. http://www.guardian.co.uk/secondworldwar/story/0,14058,1230301,00.html. अभिगमन तिथि: May 11, 2010. 
  6. "1977 Exchange Rates". http://www.google.co.uk/url?sa=t&source=web&ct=res&cd=1&ved=0CBUQFjAA&url=http%3A%2F%2Ffx.sauder.ubc.ca%2Fetc%2FUSDpages.pdf&rct=j&q=1977+exchange+rate&ei=FdrvS-yAKtGi_Aadssz-CA&usg=AFQjCNHzUxqBSTNIhzJ-3W_aLJihZHi36w. अभिगमन तिथि: 16 May 2010. 
  7. http://www.insidelux.com/2010/05/29/louis-vuitton-opens-most-luxurious-store-to-date/
  8. "Fashion Week Daily - Dispatch". http://www.fashionweekdaily.com/news/fullstory.sps?inewsid=52796. अभिगमन तिथि: 2008-03-04. 
  9. http://www.millwardbrown.com/Libraries/Optimor_BrandZ_Files/2010_BrandZ_Top100_Report.sflb.ashx
  10. "European trademarks vs. Google". Archived from the original on 2006-07-01. http://web.archive.org/web/20060701234957/http://www.iht.com/articles/2006/06/25/business/google.php. 
  11. "Times Online: Special Report: Trying to stub out the fakes". The Times (London). June 11, 2006. http://business.timesonline.co.uk/tol/business/law/article673534.ece. अभिगमन तिथि: May 11, 2010. 
  12. "Times Online: Special Report: Trying to stub out the fakes". The Times (London). June 11, 2006. http://business.timesonline.co.uk/tol/business/law/article673534.ece. अभिगमन तिथि: May 11, 2010. 
  13. "Special Report: Trying to stub out the fakes". The Times (London). June 11, 2006. http://business.timesonline.co.uk/article/0,,8209-2220038,00.html. अभिगमन तिथि: May 11, 2010. 
  14. "Louis Vuitton: luxury leather luggage, French fashion designer". http://www.louisvuitton.com. अभिगमन तिथि: 2008-03-04. 
  15. "Louis Vuitton Wins Spears Video Lawsuit". FOXNews (The Associated Press). 2007-11-20. http://www.foxnews.com/wires/2007Nov20/0,4670,FranceBritneyBan,00.html. अभिगमन तिथि: 2007-11-20. 
  16. "Cease-and-Desist Order, February 13, 2008." (PDF). http://www.nadiaplesner.com/Website/LouisVuittonLetter.pdf. 
  17. "Louis Vuitton Sues Darfur Fundraiser, Techdirt, April 25, 2008.". http://www.techdirt.com/articles/20080425/114126947.shtml. 
  18. "Louis Vuitton Tried to Prevent the Nadia Plesner Lawsuit, nymag, May 9, 2008.". http://nymag.com/daily/fashion/2008/05/louis_vuitton_tried_to_prevent.html. 
  19. "Answer to Louis Vuitton, Nadia Plesner, February 22, 2008.". http://www.nadiaplesner.com/Website/AnswerToLouisVuitton.pdf. 
  20. "Art Student Nadia Plesner's Giant Louis Vuitton Copyright Suit, NYMag, May 6, 2008.". http://nymag.com/daily/fashion/2008/05/art_student_nadia_pelsners_gia.html. 
  21. Cecilie Back (October 27, 2008). "Franske hyklere" (Danish में). Ekstra Bladet. http://ekstrabladet.dk/nationen/article1075921.ece. 

बाहरी लिंक[संपादित करें]