राष्ट्रीय सूचना-विज्ञान केन्द्र

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
राष्ट्रीय सूचना-विज्ञान केन्द्र
उपनाम NIC
स्थापना 1976[1]
मुख्यालय नई दिल्ली
स्थान कार्यालय पुरे भारत में फैले हुए
सेवित  क्षेत्र भारत
महानिदेशक डा॰ शेफाली स डैश
पितृ संगठन इलेक्ट्रानिक्स और आईटी विभाग[2]
कर्मचारी लगभग 6000
जालपृष्ठ NIC.IN

राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केन्द्र (NIC) भारत सरकार का सूचना एवं प्रौद्योगिकी में प्रमुख विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी संस्थान है। इसकी स्थापना 1976 में सरकारी क्षेत्र में बेहतर पद्धतियों, एकीकृत सेवाओं तथा विश्वव्यापी समाधानों को अपनाने वाली ई-सरकार/ई-शासन संबंधी समाधानों को प्रदान करने के लिए स्थापना की गयी थी।

परिचय[संपादित करें]

वर्ष 1975 में, भारत सरकार ने सामाजिक विकास तथा आर्थिक संवर्धन को बढ़ावा देने के लिए कार्यक्रम कार्यान्वयन तथा नियोजना की सुविधा मुहैया कराने हेतु सरकारी मंत्रालयों तथा विभागों में कम्प्यूटर आधारित निर्णय लेने में सहायक प्रणाली (सूचना-विज्ञान विकास) को शुरु करने के लिए तथा सूचना संसाधनों की उपयोगिता तथा सूचना प्रणालियों के विकास हेतु प्रभावी कदम उठाने के लिए उपयुक्त निर्णय लिये । इसके पश्चात्, केन्द्र सरकार ने 1976 में तथा उसके बाद 4.1 मिलियन यू.एस. डॉलर की संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (यूएनडीपी) की वित्तीय सहायता से “राष्ट्रीय सूचना-विज्ञान केन्द्र (एनआईसी)” नामक एक उच्च प्राथमिकता योजना परियोजना तैयार की ।

सन्दर्भ[संपादित करें]

बाहरी सूत्र[संपादित करें]