मसाला (चिनाई)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
चिनाई के मसाले ने इन तीन ईंटों को जोड़ा हुआ है

चिनाई का मसाला सामग्रियों की उस लेई या मिश्रण को कहते हैं जिसे किसी इमारत के निर्माण में ईंट, पत्थरों या अन्य चीज़ों को आपस में जोड़ने ले लिए प्रयोग किया जाता है। इस मसाले की विशेषता है कि जब इसे बनाया जाता है तो यह एक लेई (पेस्ट) के रूप में होता है जिसे ईंटो के बीच डाला जा सकता है लेकिन सूखने पर यह एक सख़्त पत्थरनुमा रूप ले लेता है। आधुनिक काल में मसाला रेत, सीमेंट और चूने (लाइम) को पानी के साथ मिलकर बनाया जाता है।

अन्य भाषाओँ में[संपादित करें]

चिनाई के मसाले को अंग्रेज़ी में "मोरटर" (mortar) कहा जाता है। फ़ारसी और अरबी में इसे "मलात" (ملاط) कहा जाता है। कुछ हिन्दीभाषी क्षेत्रों में इसे "खल्ल" भी कहा जाता है।

प्राचीन मसाले[संपादित करें]

भारतीय उपमहाद्वीप में चिनाई के मसाले बनाने की तकनीकें बहुत प्राचीनकाल से विकसित हैं। सिन्धु घाटी सभ्यता में कई प्रकार के मसाले इस्तेमाल किए जाते थे। मोएन जोदड़ो के खंडहर शहर में सन् २६०० ईसापूर्व से भी पुराने चिनाई के मसाले का प्रयोग मिलता है। कुओं और नालियों को बनाने के लिए यहाँ हलकी भूरी रंग की खरिया मिटटी (हरसौंठ या जिपसम) का मसाला इस्तेमाल होता था जो रेत, मुल्तानी मिटटी, चूना और कैल्शियम कार्बोनेट मिलकर बनाई जाती थी। मोहन जोदड़ो के महास्नानघर में प्रयोग होने वाले मसाले में डामर (बिटुमन) भी मिलाया गया था जो पानी चूने से रोकता है।[1][2]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. O. P. Jaggi, History of science and technology in India, Volume 1, Atma Ram, 1969, http://books.google.com/books?id=Qm3NAAAAMAAJ, "... In some of the important-looking buildings, gypsum cement of a light gray colour was used on the outside to prevent the mud mortar from crumbling down. In a very well constructed drain of the Intermediate period, the mortar which was used contains a high percentage of lime instead of gypsum. Bitumen was found to have been used only at one place in Mohenjo-daro. This was in the construction of the great bath ..." 
  2. Abdur Rahman, History of Indian science, technology, and culture, Oxford University Press, 1999, आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780195646528, http://books.google.com/books?id=4bnaAAAAMAAJ, "... Gypsum cement was found to have been used in the construction of a well in Mohenjo-daro. The cement was light grey and contained sand, clay, traces of calcium carbonate, and a high percentage of lime ..."