बिल्ली लोचन नीहारिका

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
बिल्ली लोचन नीहारिका (१९९४ में हबल अंतरिक्ष दूरबीन द्वारा ली गई तस्वीर)
बिल्ली लोचन नीहारिका का परिष्कृत चित्रण, जिसमें इसकी परतों के साथ-साथ कुछ धारें भी दिख रहीं हैं जो केन्द्रीय तारे से उभरते सामग्री के फव्वारे हो सकते हैं

बिल्ली लोचन नीहारिका या बिल्ली की आँख नीहारिका (अंग्रेज़ी: Cat's Eye Nebula, कैट्स आय नॅब्युला), जिसे ऍन॰जी॰सी॰ ६५४३ और कैल्डवॅल ६ भी कहा जाता है, एक ग्रहीय नीहारिका है जो आकाश में शिशुमार तारामंडल के क्षेत्र में नज़र आती है। यह ज्ञात नीहारिकाओं में बहुत ही पेचदार मानी जाती है और हबल अंतरिक्ष दूरबीन द्वारा जांच में इसके अंदर बहुत से गाँठ, फव्वारे, बुलबुले और चाप (आर्क) जैसे ढाँचे दिखें हैं। नीहारिका के केंद्र में एक रोशन और गरम तारा स्थित है। लगभग १००० वर्ष पूर्व इस तारे ने अपनी बाहरी परते खो दीं जो अब नीहारिका बनकर इसके इर्द-गिर्द स्थित हैं। बिल्ली लोचन नीहारिका के जटिल उलझेपन को देखकर कुछ वैज्ञानिकों की सोच है कि शायद केन्द्रीय तारा एक तारा नहीं बल्कि द्वितारा हो, हालांकि इसके लिए अभी कोई प्रमाण नहीं मिला है।

विकास और केन्द्रीय तारा[संपादित करें]

बिल्ली लोचन नीहारिका पृथ्वी से क़रीब ३,३०० प्रकाश वर्षों की दूरी पर है। पृथ्वी से देखी गई इसकी चमक (सापेक्ष कान्तिमान) लगभग +८.१ मैगनिट्यूड पर मापी गई है, जो एक नीहारिका के लिए काफ़ी अधिक है।[1]

वैज्ञानिक जाँच ने पाया है कि इसकी गैस, प्लाज़्मा और धूल तब बिखरी जब यहाँ स्थित एक लाल दानव तारे ने इन्हें अपने बाहर उछाल दिया। नीहारिका के बादल का बाहरी हिस्सा कम घना है और लगभग १५,००० कैल्विन के तापमान पर है जबकि इसका अंदरूनी भाग ५,००० कण प्रति सेमी का अधिक घनत्व रखता है और ७,०००-९,००० कैल्विन के तापमान पर है।[2] नीहारिका के बीच में एक O7 श्रेणी का वुल्फ़-रायेट तारा है जो ८०,००० कैल्विन का सतही तापमान रखता है। चमक के हिसाब से इस केन्द्रीय तारे की निहित चमक (निरपेक्ष कान्तिमान) सूरज से १०,००० गुना है जबकि इसका व्यास (डायामीटर) सूरज का केवल ०.६५ गुना है। वर्णक्रम जाँच के अनुसार इस से १,९०० किमी प्रति सैकिंड की एक भयंकर तारकीय आंधी चल रही है जिसमें १० खरब टन (यानि एक लाख करोड़ टन) सामग्री प्रति सैकिंड तारे से उखड़कर नीहारिका के बादल में जा रही है। इस समय तारे का द्रव्यमान (मास) लगभग सूरज के द्रव्यमान के बराबर माना जाता है, लेकिन वैज्ञानिकों का अनुमान है कि शुरू में इस तारे का द्रव्यमान सूरज का ५ गुना था।[3] इस से यह भी अंदाज़ा लगाया गया है कि यह नीहारिका संभवतः १००० ± २६० साल से बन रही है।[4]

इतिहास[संपादित करें]

बिल्ली लोचन नीहारिका की खोज १५ फरवरी १७८६ को ब्रिटिश खगोलशास्त्री विलियम हरशॅल ने की थी।[1] तब से इसका अध्ययन ऍक्स किरणों (ऍक्स रे) से लेकर सुदूर अधोरक्त (इन्फ़्रारॅड) में पूरे वर्णक्रम (स्पॅक्ट्रम) में किया गया है। इसके रूप की तुलना वैज्ञानिकों ने बिल्ली की आँख से की है, जिस से इसका नाम पड़ा।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. The Caldwell ObjectsDeep-Sky Companions, Stephen James O'Meara, pp. 33, Cambridge University Press, 2002, ISBN 978-0-521-82796-6, ... Cat's Eye Nebula NGC 6543 Type: Planetary Nebula Con: Draco RA: 17h 58m 33.4s Dec: +66° 37' 59" Mag: 8.1 Dim: 23" x 17" Dist: -3000 light-years Disc: William Herschel, 1786 W. HERSCHEL: [Observed 15 February 1786] A planetary nebula. Very bright ...
  2. Physical conditions in the planetary nebula NGC 6543, Wesson, R.; Liu, X.-W. (2004), Monthly Notices of the Royal Astronomical Society 351 (3): 1026–1042, Bibcode 2004MNRAS.351.1026W, DOI:10.1111/j.1365-2966.2004.07856.x
  3. Mass loss from central stars of planetary nebulae—the nucleus of NGC 6543, Bianchi, L.; Cerrato, S.; Grewing, M. (November 1986), Astronomy and Astrophysics 169 (1–2): 227–236, Bibcode 1986A&A...169..227B
  4. Hubble Space Telescope Measurements of the Expansion of NGC 6543: Parallax Distance and Nebular Evolution, Reed, Darren S.; Balick, Bruce; Hajian, Arsen R.; Klayton, Tracy L.; Giovanardi, Stefano; Casertano, Stefano; Panagia, Nino; Terzian, Yervant (1999), Astronomical Journal 118 (5): 2430–2441, arXiv:astro-ph/9907313, Bibcode 1999AJ....118.2430R, DOI:10.1086/301091