शिशुमार तारामंडल

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
शिशुमार (ड्रेको) तारामंडल
हबल अंतरिक्ष दूरबीन द्वारा खींची गई शिशुमार तारामंडल में स्थित पी॰जी॰सी॰ ३९०५८ नामक बौनी गैलेक्सी की तस्वीर

शिशुमार या ड्रेको तारामंडल खगोलीय गोले के उत्तरी भाग में दिखने वाला एक तारामंडल है, जिसके तारे पृथ्वी के उत्तरी गोलार्ध (हॅमिस्फ़्येअर) में रहने वाले बहुत से स्थानों पर परिध्रुवीय हैं (यानि हर रात को पूरी रात के लिए नज़र आते हैं)। यह अंतर्राष्ट्रीय खगोलीय संघ द्वारा जारी की गई ८८ तारामंडलों की सूची में शामिल है और दूसरी शताब्दी ईसवी में टॉलमी ने जिन ४८ तारामंडलों की सूची बनाई थी उनमें भी शामिल था।

नाम की उत्पत्ति और अन्य भाषाओँ में[संपादित करें]

शिशुमार भारतीय उपमहाद्वीप की प्राचीन सभ्यता में एक मगरमच्छ जैसे जलवासी जानवर का नाम था और इस तारामंडल को प्राचीन खगोलशास्त्री ऐसी ही आकृति में देखा करते थे।[1] पश्चिम में इसे एक अझ़दहे (ड्रैगन) के रूप में देखा जाता था और इसका अंग्रेज़ी नाम "ड्रेको" (Draco) भी यूनानी भाषा के "द्राकोन" (Δράκων) से लिया गया है।

तारे और अन्य वस्तुएँ[संपादित करें]

शिशुमार तारामंडल में १४ मुख्य तारे हैं, हालांकि वैसे इसमें ७६ तारों को बायर नाम दिए जा चुके हैं। इनमें से ९ के इर्द-गिर्द ग़ैर-सौरीय ग्रह परिक्रमा करते हुए पाए गए हैं। इस तारामंडल के मुख्य तारे और अन्य वास्तुएँ इस प्रकार हैं -[2]

  • गामा ड्रेकोनिस (γ Draconis) - यह शिशुमार तारामंडल का सबसे रोशन तारा है।
  • अल्फ़ा ड्रेकोनिस (α Draconis) - इस तारे को "थ़ुबान" (Thuban, 'थ़' के उच्चारण पर ध्यान दें) भी कहते हैं और यह सन् २७०० ईसापूर्व के काल में पृथ्वी का ध्रुव तारा था लेकिन अयन चलन की वजह से ध्रुव के ऊपर से हट गया। सन् २१००० ईसवी में यह फिर हमारा ध्रुव तारा बनेगा। ध्यान रहे कि कोई भी तारा जो ध्रुव तारा रहा हो लगभग हर २६,००० वर्षों के काल के बाद फिर से ध्रुव तारा बनता रहता है।
  • कॅप्लर-१० (Kepler-10) - इस तारे के इर्द-गिर्द एक पृथ्वी के आकार का पथरीला ग़ैर-सौरीय ग्रह परिक्रमा करता मिला है, जिसका नामकरण "कॅप्लर-१०बी" किया गया है। अभी तक ज़्यादातर ग़ैर-सौरीय ग्रह गैस दानव श्रेणी के हैं, इसलिए इसके मिलने से वैज्ञानिक पृथ्वी-जैसे अन्य ग्रह ढूँढने के लिए प्रोत्साहित हुए हैं। अगस्त २०११ तक यह सबसे छोटा ऐसा ज्ञात ग्रह था।
  • बिल्ली की आँख नीहारिका (Cat's Eye Nebula) - यह नीहारिका (नेब्युला) एक ग्रहीय नीहारिका है और एक घने नीले चक्र की तरह नज़र आती है।
  • ऍन॰जी॰सी॰ ५८६६ (NGC 5866) - यह एक लेंसनुमा गैलेक्सी है। यह मॅसिये वस्तुओं की सूची में भी शामिल है जहाँ इसे ऍम१०२ (M102) का नामांकन मिला है।
  • शिशुमार बौनी गैलेक्सी (Draco Dwarf Galaxy) - यह एक बहुत ही छोटी बौनी गैलेक्सी जिसका व्यास (डायामीटर) केवल ३,५०० प्रकाश वर्ष है। तुलना के लिए आकाशगंगा (हमारी गैलेक्सी) का व्यास लगभग १,००,००० (एक लाख) प्रकाश-वर्ष है।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Roy A. Gallant. "The constellations, how they came to be". Four Winds Press, 1979. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780590075527. http://books.google.com/books?id=u4HvAAAAMAAJ. "... in early Hindu worship, Draco is given the form of an alligator known as Shi-shu-mara ..." 
  2. Ian Ridpath and Wil Tirion (2007). Stars and Planets Guide, Collins, London. ISBN 978-0007251209. Princeton University Press, Princeton. ISBN 978-0691135564.