फ़रग़ना वादी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
अंतरिक्ष से फ़रग़ना वादी का दृश्य
उज़्बेकिस्तान में फ़रग़ना वादी में कुछ खेत-बाग़ान
फ़रग़ना वादी का क्षेत्र उज़्बेकिस्तान, किर्गिज़स्तान और ताजिकिस्तान में बंटा हुआ है

फ़रग़ना वादी या फ़रग़ना घाटी (फ़ारसी: وادی فرغانه, वादी-ए-फ़रग़ना; ताजिकी: водии Фaрғонa, वोदी-ए-फ़रग़ोना; अंग्रेजी: Fergana Valley) मध्य एशिया का एक क्षेत्र है जो पूर्वी उज़्बेकिस्तान, किर्गिज़स्तान और ताजिकिस्तान में विस्तृत है। मध्य एशिया का यह इलाक़ा वैसे तो काफ़ी शुष्क और रेगिस्तानी है, लेकिन इस त्रिकोण अकार की वादी में नरयिन नदी, कारा दरिया और उनके विलय से बनने वाले सिर दरिया की वजह से यह घाटी हरी-भरी और उपजाऊ है। फ़रग़ना वादी की मध्य एशिया और भारतीय उपमहाद्वीप के इतिहासों पर गहरी छाप है, और मुग़ल साम्राज्य का पहला सम्राट बाबर इसी घाटी का एक उज़बेक निवासी था। फ़रग़ना वादी में बहुत भिन्न समुदायों के लोग रहते हैं। घाटी की कुल जनसँख्या १.२ करोड़ अनुमानित की गई है और यह मध्य एशिया की सबसे घनी आबादी वाला क्षेत्र है।[1]

नाम का उच्चारण[संपादित करें]

'फ़रग़ना' में 'ग़' अक्षर के उच्चारण पर ध्यान दें क्योंकि यह बिना बिन्दु वाले 'ग' से ज़रा भिन्न है। इसका उच्चारण 'ग़लती' और 'ग़रीब' शब्दों के 'ग़' से मिलता है।

भूगोल[संपादित करें]

फ़रग़ना वादी उत्तर में तियन शान पर्वतों और दक्षिण में गिस्सर-अलई पर्वतों के बीच में स्थित एक ३०० किमी लम्बी और ७० किमी चौड़ी घाटी है। इसका कुल क्षेत्रफल २२,००० वर्ग किमी है। नरयिन और कारा दरिया की मौजूदगी से यहाँ की भूमि काफ़ी उपजाऊ है। इन दोनों नदियों का उज़्बेकिस्तान के नमन्गान प्रान्त के नमन्गान शहर में संगम होता है और उसके बाद इसे सिर दरिया के नाम से बुलाया जाता है। यहाँ बहुत से अन्य नदी-झरने भी पानी और उसके साथ-साथ रेत लाते हैं। यह रेत नदियों के किनारों पर जमा होकर ढेरियाँ बना लेती है जो हवा के प्रभाव से हिलकर अक्सर खेत-खलिहानों में भी आ जाते हैं।[2]

मौसम[संपादित करें]

फ़रग़ना में काफ़ी गर्मी भी पड़ती है और सख़्त सर्दी भी। मार्च के महीने में तापमान २० °सेंटीग्रेड तक पहुँचता है और जून-जुलाई तक कुछ शहरों में ४० °सेंटीग्रेड छूने लगता है। अक्तूबर में बारिशें होती हैं। दिसम्बर और जनवरी में पाला और बर्फ़ गिरते हैं और तापमान -२० °सेंटीग्रेड तक गिर सकता है।[3]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Ferghana Valley: The Heart of Central Asia, S. Frederick Starr, Baktybek Beshimov, Inomjon I. (CON) Bobokulov, M.E. Sharpe, 2011, ISBN 978-0-7656-2999-9, ... With some twelve million inhabitants, the Ferghana valley is one of the most densely populated places in the world ... it drove Babur out of his native land to Afghanistan and eventually to India, where he launched the renowned Mughal dynasty, in effect exporting a political and cultural ideal from the Ferghana Valley to the Indian sub-continent ...
  2. Environmental peacemaking, Ken Conca, Geoffrey D. Dabelko, Woodrow Wilson Center Press, 2002, ISBN 978-0-8018-7193-1, ... Within an area about 300 kilometers long and 20-70 kilometers wide, the Fergana Valley has the highest population density in Central Asia ...
  3. Central Asia: Kazakhstan, Tajikistan, Uzbekistan, Kyrgyzstan, Turkmenistan, Bradley Mayhew, Lonely Planet, 2007, ISBN 978-1-74104-614-4, ... with a maximum of 40 °C in Fergana Valley towns such as Jalalabad ...