केंद्रीय विद्यालय संगठन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

भारत सरकार ने दूसरे वेतन आयोग की सिफारिश पर १९६२ में केंद्रीय विद्यालय संगठन की योजना को मंजूरी दी। शुरू में विभिन्न राज्यों में स्थित 20 सेना रेजिमेंटों के 20 स्कूलों का सेंट्रल स्कूलों के रूप में अधिग्रहण किया गया था। 1965 में केंद्रीय विद्यालय संगठन के रूप में एक स्वायत्तशासी निकाय का गठन किया गया, जिसका उद्देश्य रक्षाकर्मियों एवं अर्ध सैनिक बलों के कर्मचारियों सहित अखिल भारतीय सेवाओं और देश भर में स्थानांतरित होने वाले केंद्रीय कर्मचारियों के बच्चों की एक समान शिक्षा की आवश्यकता पूरी करने के लिए केंद्रीय विद्यालयों की स्थापना करना और उसके काम पर नजर रखना था। इस समय (17 जून 2013 तक) देश में 1073 केंद्रीय विद्यालय है, जिनमें से तीन विदेश ( अर्थात काठमांडू, मास्को एवं तेहरान ) में स्थित है। सभी केंद्रीय विद्यालयों में एक जैसे पाठ्‌यक्रम हैं।

उद्देश्य[संपादित करें]

  • स्थानांतरण प्रक्रति वली नौकरी मे बच्चों की शिक्षा में उपयुक्त।
  • सभी केंद्रीय विद्यालयों में पठ्यक्रम समान हैं।

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]