मास्को

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
मास्को स्थित रेड स्केव्यर का एक दृश्य

मास्को या मॉस्को (रूसी: Москва́ (मोस्कवा)), रूस की राजधानी एवं यूरोप का सबसे बडा शहर है, मॉस्को का शहरी क्षेत्र दुनिया के सबसे बडे शहरी क्षेत्रों में गिना जाता है। मास्को रूस की राजनैतिक, आर्थिक, धार्मिक, वित्तीय एवं शैक्षणिक गतिविधियों का केन्द्र माना जाता है। यह मोस्कवा नदी के तट पर बसा हुआ है। ऐतिहासिक रूप से यह पुराने सोवियत संघ एवं प्राचीन रूसी साम्राज्य की राजधानी भी रही है। मास्को को दुनिया के अरबपतियों का शहर भी कहा जाता है जहां दुनिया के सबसे ज्यादा अरबपति बसते हैं।[1] २००७ में मास्को को लगातार दूसरी बार दुनिया का सबसे महंगा शहर भी घोषित किया गया था। [2]

इतिहास[संपादित करें]

मास्को शहर का नाम मोस्कवा नदी पर रखा गया है । १२३७-३८ के आक्रमण के बाद, मंगोलों ने सारा शहर जला दिया और लोगों को मार दिया । मास्को ने दुबारा विकास किया और १३२७ में व्लादिमीर - सुज्दाल रियासत की राजधानी बनाई गई । वोल्गा नदी के शुरूवात पर स्थित होने के कारण यह शहर अनुकूल था और इस कारण धीरे धीरे शहर बड़ा होने लगा । मास्को एक शांत और संपन्न रियासत बन गया और सारे रूस से लोग आकर यहाँ बसने लगे । १६५४-५६ के प्लेग ने मास्को की आधी आबादी को खत्म कर दिया ।१७०३ में बाल्टिक तट पर पीटर महान द्वारा सैंट पीटर्सबर्ग के निर्माण के बाद , १७१२ से मास्को रूस की राजधानी नहीं रही । १७७१ का प्लेग मध्य रूस का आखिरी बड़ा प्लेग था , जिसमे केवल मास्को के ही १००००० व्यक्तियों की जान गयी । १९०५ में , अलेक्जेंडर अद्रिनोव मास्को के पहले महापौर बने । १९१७ के रुसी क्रांति के पश्चात , मास्को को सोवियत संघ की राजधानी बनाया गया । मई ८,१९६५ को , नाजी जर्मनी पर विजय की २०वीं वर्षगांठ के अवसर पर मास्को को हीरो सिटी की उपाधि प्रदान की गयी ।

अर्थव्यवस्था[संपादित करें]

मास्को यूरोप की सबसे बड़ी शहरी अर्थव्यवस्थाओं में से एक है | यह रूस के सकल घरेलू उत्पाद का करीब २४% योगदान करता है | २००८ में मास्को की अर्थव्यवस्था ८.४४ ट्रिलियन रूबल थी | मास्को में औसत मासिक वेतन ४१६०० रूबल है | २०१० में, मास्को में बेरोजगारी दर सिर्फ १% थी, जो रूस के सभी प्रशासनिक क्षेत्रों में सबसे कम है | मास्को रूस का निर्विवादित रूप से मुख्य आर्थिक केंद्र है | यहाँ रूस के सबसे बड़े बैंक और कंपनियां स्थित हैं जिनमे रूस की सबसे बड़ी कंपनी गेज्प्रोम भी शामिल है | मास्को की रूस की खुदरा बिक्री में १७% एवं सभी निर्माण गतिविधियों में १३% हिस्सेदारी है | चेर्किजोव्सकी बाजार, ३ करोड़ डॉलर की दैनिक बिक्री एवं दस हजार विक्रेताओं के साथ यूरोप का सबसे बड़ा बाजार है | यह बाजार प्रशासनिक रूप से १२ भागों में बंटा है और शहर के एक बड़े भूभाग पर स्थित है |२००८ में, मास्को में ७४ अरबपति थे और यह न्यूयोर्क ,७१ अरबपति , से ऊँचे पायदान पर है |

शिक्षा[संपादित करें]

मास्को में १६९६ उच्चतर विद्यालय एवं ९१ महाविद्यालय हैं | इनके अलावा, २२२ अन्य संस्थान भी उच्च शिक्षा उपलब्ध करातें हैं, जिनमे ६० प्रदेश विश्वविद्यालय एवं १७५५ में स्थापित लोमोनोसोव मास्को स्टेट विश्वविद्यालय भी शामिल हैं | विश्वविद्यालय में २९ संकाय एवं ४५० विभाग हैं जिनमे ३०००० पूर्वस्नातक एवं ७००० स्नातकोत्तर छात्र पढते हैं | साथ ही विश्वविद्यालय में , उच्चतर विद्यालय के करीब १०००० विद्यार्थी शिक्षा ग्रहण करते हैं एवं करीब २००० शोधार्थी कार्य करते हैं | मास्को स्टेट विश्वविद्यालय पुस्तकालय, रूस के सबसे बड़े पुस्तकालयों में से एक है, यहाँ लगभग ९० लाख पुस्तकें हैं |

शहर में ४५२ पुस्तकालय हैं, जिनमे से १६८ बच्चों के लिए हैं | १८६२ में स्थापित रुसी स्टेट पुस्तकालय , रूस का राष्ट्रीय पुस्तकालय है |

स्थापत्य[संपादित करें]

मास्को का स्थापत्य विश्व प्रसिध्द है | मास्को सेंट बेसिल केथेड्रल, क्राइस्ट द सेवियर केथेड्रल और सेवेन सिस्टर्स के लिए प्रसिद्ध है | लंबे समय तक मास्को पर रूढ़िवादी चर्चों का प्रभाव रहा | हालाँकि, शहर के समग्र रूप में सोवियत काल से भारी परिवर्तन हुआ है, खासकर जोसेफ स्टालिन के शहर के आधुनिकीकरण के बड़े पैमाने पर किये प्रयास के कारण यह परिवर्तन हुआ | स्टालिन की शहर के लिए योजना में चौड़े रास्तों और सडकों का जाल शामिल था जिनमे कई सड़कें १० लेन तक चौड़ी थीं | इससे शहर का यातायात सुगम हो गया, पर इसके लिए बहुत सारी एतिहासिक इमारतों को हटाना पड़ा |

स्टालिनवादी अवधि का सबसे प्रसिद्ध योगदान सेवेन सिस्टर्स (सात बहनें) माना जा सकता है | सेवेन सिस्टर्स सात गगनचुम्बी इमारतें हैं, जो क्रेमलिन से समान दूरी पर शहर भर में फैली हुईं हैं | सात टावरों को शहर के सभी ऊँचे स्थानों से देखा जा सकता है | ओस्तान्कियो टॉवर के अलावा ये सात टॉवर मध्य मास्को की सबसे ऊंची इमारतों में से हैं | ओस्तान्कियो टॉवर का निर्माण १९६७ में पूरा हुआ था, उस समय यह दुनिया की सबसे ऊँची मुक्त खड़ी भूमि संरचना थी | आज बुर्ज खलीफा दुबई, केंतून टॉवर ग्वांगझू और सी.एन. टॉवर टोरोंटो के बाद चौथे स्थान पर है |

हर नागरिक और उसके परिवार को अनिवार्य आवास उपलब्ध कराने की सोवियत नीति एवं मास्को की आबादी के तेजी से विकास के कारण, विशाल एवं नीरस आवासीय परिसरों का निर्माण किया गया | इन परिसरों को इनकी शैली, आयु, मजबूती एवं निर्माण सामग्री के आधार पर विभेदित किया जा सकता है | इनमे से अधिकतर का निर्माण स्टालिन युग के पश्चात हुआ और इनकी निर्माण शैलियाँ नेताओं ( ब्रेज्हेनेव, ख्रुश्चेव इत्यादि ) के नाम से जानी जाती हैं | आमतौर पर इन परिसरों का रखरखाव खराब है |

जनसांख्यिकी[संपादित करें]

मास्को की जनसंख्या की उत्क्रांति : समय - १४०० से १८५६
१४०० १६३८ १७१० १७२५ १७३८ १७७५ १७८५ १८११ १८१३ १८२५ १८४० १८५६
४०,००० २००,००० १६०,००० १४५,००० १३८,००० १६१,००० १८८,७०० २७०,२०० २१५,००० २४१,५०० ३४९,१०० ३६८,८००
मास्को की जनसंख्या की उत्क्रांति : समय - १८६८ से २००२
१८६८ १८७१ १८८८ १८९७ १९१२ १९२० १९२६ १९३९ १९५९ १९७९ १९८९ २००२
४१६,४०० ६०१,९६९ ७५३,४५९ १,०३८,६०० १,६१७,१५७ १,०२७,३०० २,१०१,२०० २,६०९,२०० ६,१३३,१०० ८,१४२,२०० ८,९७२,३०० १०,३८३,०००

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

आधिकारिक जालस्थल[संपादित करें]

मीडिया[संपादित करें]

मौसम सूचना[संपादित करें]

मानचित्र[संपादित करें]


चित्र एवँ वीडियो[संपादित करें]

संदर्भ[संपादित करें]

  1. "मॉस्को बिकम्स वर्ल्ड्स बिलियनायर कैपिटल - फोर्ब्स". RIA Novsoti. http://en.rian.ru/russia/20080306/100793187.html. अभिगमन तिथि: 2008-03-5. 
  2. Sahadi, Jeanne, Moscow remains the world’s most expensive city while London moves up from fifth to second place. CNNMoney.com