ऐब्टाबाद

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
शिमला पहाड़ी से ऐब्टाबाद का नज़ारा

ऐब्टाबाद (उर्दू: ایبٹ آباد) या अबटाबाद पाकिस्तान के ख़ैबर-पख़्तूनख़्वा राज्य के हज़ारा क्षेत्र में स्थित एक शहर है। यह नगर इस्लामाबाद से ५० किमी (३१ मील) उत्तर-पश्चिम और पेशावर से १५० किमी (९३ मील) पूर्व ओराश घाटी में ४,१२० फ़ुट (१,२६० मीटर) की ऊँचाई पर बसा हुआ है। ऐब्टाबाद शहर ऐब्टाबाद ज़िले की राजधानी है। यह शहर पूरे पाकिस्तान में अपने लुभावने मौसम, श्रेष्ठ विद्यापीठों और बहुत से फ़ौजी संस्थानों के लिए मशहूर है।

इतिहास[संपादित करें]

ऐब्टाबाद का नाम अंग्रेज़ी फ़ौज के मेजर जेम्स ऐब्बट (James Abbot) पर रखा गया, जिसने पंजाब पर अंग्रेज़ी क़ब्ज़ा हो जाने के बाद जनवरी १८५३ में इस शहर की नीव रखी। वह पंजाब के हज़ारा क्षेत्र का १८४९ से अप्रैल १८५३ तक डिप्टी कमीश्नर था। ऐब्टाबाद जल्द ही हज़ारा क्षेत्र का प्रशासन केंद्र बन गया। यहाँ एक बड़ी फ़ौजी छावनी बने गयी जो अभी तक चली आ रही है।[1] १९०१ में शहर और छावनी मिलकर ऐब्टाबाद की कुल आबादी ७,७६४ थी। १९११ तक यह बढ़कर ११,५०६ हो गयी। २००५ में इसकी अनुमानित जनसँख्या १,२०,८८८ थी।[2] आजकल इसे इस्लामाबाद के बाहरी इलाक़ा का हिस्सा भी माना जाता है।

१ मई २०११ को ओसामा बिन लादेन ऐब्टाबाद में एक बड़ी कोठी में छुपा हुआ पाया गया और अमेरिकी छापामारों ने उसे वहीँ मार गिराया।[3][4]

लोग[संपादित करें]

१९९८ की जनगणना में यहाँ पर ८१,००० लोग रह रहे थे जिनमें से ९४.२६% की मातृभाषा पंजाबी की हिन्दको उपभाषा थी।[5] यहाँ के बहुत से लोग उर्दू और अंग्रेज़ी भी समझते हैं। कुछ पश्तो और पंजाबी की पोटोहारी उपभाषा बोलने वाले भी यहाँ रहते हैं।

मौसम[संपादित करें]

पतझड़ और बसंत में यहाँ का मौसम अच्छा रहता है और हलकी गर्मी पड़ सकती है। गरमियों में दुपहर का तापमान ३०° सेंटीग्रेड से ऊपर कम ही जाता है। सर्दियों में तापमान शून्य से कम भी कभी-कभार ही होता है। जनवरी के महीने में कभी-कभी हलकी बर्फ़ पड़ जाती है।

भूगोल[संपादित करें]

ऐब्टाबाद का शहर सरबन नाम के पहाड़ों से घिरा हुआ है। सरबन पहाड़ों में एक "शिमला पहाड़ी" मशहूर है जहाँ बहुत से पर्यटक ऐब्टाबाद नगर का ऊपर से दृश्य देखने जाते हैं।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]