अस्थि

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
(हड्डियों से अनुप्रेषित)
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
Paleopathology; Human femurs from Roman period, Tell Fara Wellcome L0008764.jpg

अस्थियाँ या हड्डियाँ [1] रीढ़धारी जीवों का वह कठोर अंग है जो अन्तःकंकाल का निर्माण करती हैं। यह शरीर को चलाने (स्थानांतरित करने), सहारा देने और शरीर के विभिन्न अंगों की रक्षा करने मे सहायता करती हैं साथ ही यह लाल और सफेद रक्त कोशिकाओं का निर्माण करने और खनिज लवणों का भंडारण का कार्य भी करती हैं। अस्थियाँ विभिन्न आकार और आकृति की होने के साथ वजन मे हल्की पर मजबूत होती हैं। इनकी आंतरिक और बाहरी संरचना जटिल होती है। अस्थि निर्माण का कार्य करने वाले प्रमुख ऊतकों मे से एक उतक को खनिजीय अस्थि ऊतक, या सिर्फ अस्थि ऊतक भी कहते हैं और यह अस्थि को कठोरता और मधुकोशीय त्रिआयामी आंतरिक संरचना प्रदान करते हैं। अन्य प्रकार के अस्थि ऊतकों मे मज्जा, अन्तर्स्थिकला और पेरिओस्टियम, तंत्रिकायें, रक्त वाहिकायें और उपास्थि शामिल हैं। वयस्क मानव के शरीर में 206 हड्डियां होती हैं वहीं शिशुओं में 270 से 300 तक हड्डियाँ पायी जातीं हैं।[2]

आयतन[संपादित करें]

हड्डी की मात्रा हड्डी के गठन और हड्डी के पुनर्जीवन की दर से निर्धारित होती है। हाल के शोध ने सुझाव दिया है कि कुछ वृद्धि कारक ऑस्टियोब्लास्ट गतिविधि को बढ़ाकर हड्डी के गठन को स्थानीय रूप से बदलने के लिए काम कर सकते हैं। कई हड्डी-व्युत्पन्न वृद्धि कारकों को हड्डी संस्कृतियों के माध्यम से अलग और वर्गीकृत किया गया है। इन कारकों में इन्सुलिन जैसे वृद्धि कारक I और II, परिवर्तन कारक-बीटा, फाइब्रोब्लास्ट वृद्धि कारक, प्लेटलेट-व्युत्पन्न वृद्धि कारक, और अस्थि मोर्फोजेनेटिक प्रोटीन शामिल हैं। साक्ष्य बताते हैं कि अस्थि कोशिकाएं अस्थि मैट्रिक्स में बाह्य भंडारण के लिए वृद्धि कारक उत्पन्न करती हैं। अस्थि मैट्रिक्स से इन वृद्धि कारकों की रिहाई से ऑस्टियोब्लास्ट अग्रदूतों का प्रसार हो सकता है। अनिवार्य रूप से, अस्थि वृद्धि कारक स्थानीय अस्थि निर्माण के संभावित निर्धारकों के रूप में कार्य कर सकते हैं।[3] शोध ने सुझाव दिया है कि पोस्टमेनोपॉज़ल ऑस्टियोपोरोसिस में रद्द हड्डी की मात्रा कुल हड्डी बनाने वाली सतह और सतह के प्रतिशत के बीच संबंध से निर्धारित की जा सकती है।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Lee, Cassandra. "The Bone Organ System: Form and Function". Science Direct. अभिगमन तिथि 30 January 2022.
  2. de Buffrénil, Vivian; de Ricqlès, Armand J; Zylberberg, Louise; Padian, Kevin; Laurin, Michel; Quilhac, Alexandra (2021). Vertebrate skeletal histology and paleohistology (Firstiton संस्करण). Boca Raton, FL: CRC Press. पपृ॰ xii + 825. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-1351189576.
  3. Baylink, D. J. (1991). "Bone growth factors". Clinical Orthopaedics and Related Research. 263 (263): 30–48. PMID 1993386. डीओआइ:10.1097/00003086-199102000-00004.

बाहरी कड़ी[संपादित करें]

पीजोइलेक्ट्रिसिटी और बोन रीमॉडेलिंग की समीक्षा (संदर्भ सहित)