सदस्य वार्ता:43.241.65.56

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

डॉ. सुरेश कुमार मिश्रा 'उरतृप्त' आचार्य रामचंद्र शुक्ल के हिंदी साहित्य का इतिहास पुस्तक के ऑनलाइन संपादन के लिए जाने जाते हैं। तेलंगाना राज्य सरकार की पाठशाला, इंटरमीडिएट, स्नातक तथा स्नातकोत्तर पाठ्यपुस्तकों के लेखक हैं। उन्होंनें सतरंगी-1, सतरंगी-2, सतरंगी-3, सतरंगी-4, सतरंगी-5, मीत, मुसकान-1, मुसकान-2, मुसकान-3, मुसकान-4, मुसकान-5, बाल वसंत-1, बाल वसंत-2, उमंग-2, बाल बगीचा-1, बाल बगीचा-2, बाल बगीचा-3, सुगंध-1, सुगंध-2, साहित्य भारती, साहित्य सेतु, काव्य निधि, गद्य दर्पण, तेलंगाना गांधीः के.सी.आर, सरल सुगम संक्षिप्त व्याकरण, अशोक वाजपेयी के काव्य में आधुनिकता बोध, हिंदी भाषा के विविध आयामः वैश्विक परिदृश्य, हिंदी भाषा साहित्य के विविध आयामः वैश्विक परिदृश्य, हिंदी साहित्य और संस्कृति के विविध आयाम जैसी पुस्तकों का लेखन, संपादन तथा समन्वयन किया है।