"मापिकी" के अवतरणों में अंतर

Jump to navigation Jump to search
4 बैट्स् नीकाले गए ,  1 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश रहित
छोटी छोटी मात्राओं को तौलने के लिये और विशेष कर गैसों के घनत्वों की तुलना में, सूक्ष्म तुला प्रयोग में लाई जाती है, जो पूर्णतया बलित क्वार्ट्ज की बनी होती है। इस प्रकार की तुलाओं द्वारा 108 में एक भाग की शुद्धता तक 1/10 ग्राम भी तौला जा चुका है।
 
=== राष्ट्रीय मापिकी संस्थानों (एन.एम.आई) की भूमिका ===
'''राष्ट्रीय मापिकी संस्थानों (एन.एम.आई)''' की भूमिका देश की राष्ट्रीय माप प्रणाली स्थापित करना; माप की मूल इकाइयों जैसे माप की बुनियादी और अन्य इकाइयों के लिए माप मानकों को बनाए रखना, विकसित करना; और अर्थव्यवस्था में मेट्रोलॉजिकल विशेषज्ञता प्रदान करने जैसी गतिविधयां शामिल है।
 
[http://www.nplindia.org सी.एस.आई.आर- राष्ट्रीय भौतिकी प्रयोगशाला]([http://www.nplindia.in/directors-message निदेशक]) को भारत में राष्ट्रीय मेट्रोलॉजी संस्थान के रूप में नामित किया गया है । <ref>https://www.bipm.org/en/about-us/member-states/in/links.html</ref>
 
=== विभिन्न एशियाई देशों के एन.एम.आई. संस्थान ===
'''चीन''' - [https://en.nim.ac.cn/ नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ मेट्रोलॉजी, चीन] (स्थापना - वर्ष 1955) (प्रमुख वर्ष- 2020 : [https://en.nim.ac.cn/node/42 फेंग जियांग])<br>
'''भारत'''- [http://www.nplindia.in/ सी.एस.आई.आर- राष्ट्रीय भौतिक प्रयोगशाला] (एन.पी.एल-इंडिया) (स्थापना - वर्ष 1947) (प्रमुख वर्ष-2020 : [http://www.nplindia.in/directors-message डी.के. असवाल])<br>

दिक्चालन सूची