"मापिकी" के अवतरणों में अंतर

Jump to navigation Jump to search
3 बैट्स् जोड़े गए ,  3 वर्ष पहले
→‎top: ऑटोमेटिक वर्तनी सु, replaced: नही → नहीं
छो (2402:8100:3842:E5F1:1:1:71C8:BB1F (Talk) के संपादनों को हटाकर Hunnjazal के आखिर...)
(→‎top: ऑटोमेटिक वर्तनी सु, replaced: नही → नहीं)
मापविज्ञान (Metrology) भौतिकी की वह शाखा है जिसमें शुद्ध माप के बारे में हमें ज्ञान होता है। मापविज्ञान में मूल रूप से हम तीन रशियों, अर्थात्‌ [[द्रव्यमान]], लंबाई एवं [[समय]] के बारे में चर्चा करते हैं और इन्हीं तीन राशियों के ज्ञान से हम अन्य राशियों, जैसे [[घनत्व]], आयतन, [[बल]] तथा [[शक्ति]] आदि को मापते हैं।
 
मापविज्ञान द्वारा अपरिवर्तनीय मानकों (standards) का निर्देश ही नहीनहीं मिलता, वरन्‌ इन्हें कायम भी रखा जाता है। इन्हीं मानकों द्वारा हम वस्तुओं के गुणों की माप तथा तुलना भी करते हैं। दूसरा पक्ष यह है कि किसी कार्यविशेष को दृष्टि में रखकर मापविज्ञान से ऐसे तरीके प्राप्त होते हैं जिनसे तुलनाएँ काफी उच्च स्तर की शुद्धता तक की जा सकें। आधुनिक विज्ञान तथा उद्योगों में उपर्युक्त मौलिक तुलनाओं (fundamental comparisons) का अत्यंत शुद्ध होना आवश्यक है। माप पूर्णतया ठीक नहीं होती और निश्चित रूप से उसमें कुछ न कुछ प्रायोगिक गलती सदा ही रहती है। आजकल मापविज्ञान की अधिक मौलिक क्रियाओं में यथार्थता की निम्नलिखित सन्निकटताएँ प्राप्त है:
 
अंतरराष्ट्रीय आदिरूप (prototype) किलोग्राम के दो प्लैटिनम इरीडियम नमूनों की तुलना में : 10,00,00,000 में एक भाग। साधारण रासायनिक बाटों की तुलना में : 10,00,000 में एक भाग। सूक्ष्ममापी तुला द्वारा छोटे छोटे भारों की तुलना में : 10,00,00,000 में एक भाग।

दिक्चालन सूची