रॉबर्ट कोच

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
रॉबर्ट कोच

जन्म 11 दिसम्बर 1843
क्लाउस्थल, हैनोवर राज्य
मृत्यु 27 मई 1910(1910-05-27) (उम्र 66)
बैडन,
क्षेत्र सूक्ष्मजैविकी
संस्थान Imperial Health Office, बर्लिन, बर्लिन विश्वविद्यालय
शिक्षा University of Göttingen
डॉक्टरी सलाहकार Friedrich Gustav Jakob Henle
प्रसिद्धि Discovery bacteriology
Koch's postulates of germ theory
Isolation of anthrax, tuberculosis and cholera
उल्लेखनीय सम्मान चिकित्सा में नोबेल पुरस्कार (1905)

रॉबर्ट कोच सूक्ष्मजैविकी के क्षेत्र में युगपुरूष माने जाते हैं। इन्होंने कॉलेरा, ऐन्थ्रेक्स तथा क्षय रोगों पर गहन अध्ययन किया। अंततः कोच ने यह सिद्ध कर दीया कि कई रोग सूक्ष्मजीवों के कारण होते हैं। इसके लिए सन 1905 में उन्हें नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया।[1] कोच ने रोगों एवं उनके कारक जीवों का पता लगाने के लिए कुछ परिकल्पनाएं की थी जो आज भी इस्तेमाल होती हैं।[2]

दसवी दिसम्बर, २०१७ के दिन गूगल के डूडल पर जर्मन वैज्ञानिक डॉ. रॉबर्ट कोच को जगह दी गई थी। उनके जन्म दिन सम्मान में उनका डूडल बनाया गया है[3].

सन्दर्भ[संपादित करें]