रतिमञ्जरी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
(रतिमंजरी से अनुप्रेषित)
Jump to navigation Jump to search

यह गीत गोविन्द के रचयिता जयदेव द्वारा १२०० ईस्वी के आसपास संस्कृत भाषा में रचित लघु पुस्तिका है जिसमें कामसूत्र का सार संक्षेप प्रस्तुत किया गया है[तथ्य वांछित]

संबंधित कड़ियाँ[संपादित करें]

बाहरी कडियाँ[संपादित करें]