गुरुत्वाकर्षक स्थिरांक

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
न्यूटन के गुरुत्वाकर्षण के नियम के प्रयोग के लिए गुरुत्वाकर्षक स्थिरांक G बहुत ज़रूरी है

गुरुत्वाकर्षक स्थिरांक एक भौतिक नियतांक है जिसे 'G' के चिन्ह से दर्शाया जाता है। इसका प्रयोग दो वस्तुओं के बीच में गुरुत्वाकर्षक बल का अनुमान लगाने के लिए किया जाता है। भौतिकी में, अगर एक वस्तु का द्रव्यमान (मास) m1 किलोग्राम है और दूसरी वस्तु का m2 किलोग्राम है और उन दोनों में दूरी r मीटर है, तो उनके बीच में गुरुत्वाकर्षक खींच का बल F इस प्रकार आँका जाता है -

F = G \frac{m_1 m_2}{r^2}\

यहाँ G गुरुत्वाकर्षक स्थिरांक है। इसकी राशि का अनुमान इस प्रकार है -

 G = 6.67428 \times 10^{-11} \ \mbox{m}^3 \ \mbox{kg}^{-1} \ \mbox{s}^{-2} = 6.67428 \times 10^{-11} \ {\rm N}\, {\rm (m/kg)^2}

अन्य भाषाओँ में[संपादित करें]

"गुरुत्वाकर्षक स्थिरांक" को अंग्रेज़ी में "ग्रैविटेशनल कॉन्स्टॅन्ट" (gravitational constant)।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]