सिंडरेला

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

साँचा:Infobox Folk tale

सिंडरेला या, द लिटिल ग्लास स्लिपर (फ्रांसीसी: सेनड्रीलॉन, ओऊ ला पेटाईट पैनटोफल डी वेरे) एक विख्यात पारंपरिक लोक कथा है, जिसमें अन्याय का दमन/विजय रुपी एक मिथक तत्व का वर्णन है। दुनिया भर में इसके हज़ारों मित प्रचलित हैं।[1] इसकी मुख्य चरित्र[2] दुर्भाग्यपूर्ण परिस्थितियों में रहती एक युवा लड़की है, जिसकी किस्मत का सितारा अचानक बदल जाता है। "सिंडरेला" शब्द का तात्पर्य सादृश्य के आधार पर उस व्यक्ति से है जिसकी विशेषताओं को कोई मोल नहीं देता या वह जो एक अवधि तक दुःख और उपेक्षा भरा जीवन बिताने के बाद अनपेक्षित रूप से पहचान या सफलता हासिल कर लेती है। सिंडरेला की यह लोकप्रिय कहानी अभी भी अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर लोकप्रिय संस्कृतियों को प्रभावित करती है और विभिन्न प्रकार की मीडिया को कथानक के तत्व, प्रसंग, संकेत आदि उधार देती है।

प्रारंभिक संस्करण[संपादित करें]

सिंडरेला का विषय संभवतः शास्त्रीय पुरातनता से उपजा होगा. ग्रीक इतिहासकार स्ट्रैबो (जियोग्राफ़िका पुस्तक 17,1.33) ने ईसा पूर्व पहली शताब्दी में ग्रीको-मिस्र लड़की रोडोपिस "रोज़ी आइज़" की कहानी का उल्लेख किया था, जो प्राचीन मिस्र स्थित नॉक्राटिस के ग्रीक कॉलोनी में रहती थी। इसे आम तौर पर इस कहानी का प्राचीनतम संस्करण माना जाता है:

They tell the fabulous story that, when she was bathing, an eagle snatched one of her sandals from her maid and carried it to Memphis; and while the king was administering justice in the open air, the eagle, when it arrived above his head, flung the sandal into his lap; and the king, stirred both by the beautiful shape of the sandal and by the strangeness of the occurrence, sent men in all directions into the country in quest of the woman who wore the sandal; and when she was found in the city of Naucratis, she was brought up to Memphis, became the wife of the king...[3][4]

स्ट्रैबो से क़रीब पांच शाताब्दी पहले हेरोडोटस ने अपने इतिहास में रोडोपिस के बारे में और जानकारी मुहैया कराई, जिसमें लिखा था कि रोडोपिस थ्रेस से आई थी और वह सामोस के लेडमोन की कनीज़ और एसोप की कनीज़ों की सहेली थी। उसे फैरो आमासिस के समय मिस्र ले जाया गया और मिटिलेन के गीतकार सैफो के भाई चारक्सस से एक बड़ी राशि के एवज में मुक्त कर दिया गया.[5][6]

यह कहानी बाद में एलिएन (ईसा 175 - ईसा 235) में नज़र आई,[7] जिससे सिद्ध हुआ कि सिंडरेला का विषय पूरे प्राचीन काल में उतना ही लोकप्रिय बना रहा.

सिंडरेला की कहानी में कद्दू का जादूई महत्व, जिसे आधुनिक सन्दर्भ में किसी ऐसे व्यक्ति द्वारा जो जल्दी ही सो जाना चाहता हो 'मैं आधी रात के बाद घोड़े बेच कर सोता हूं' जैसे सन्दर्भ के लिए प्रयोग किया जाता है, संभवतः पहली शताब्दी में सेनेका की हास्य कृति 'ऑन द पम्पकिनीफिकेशन ऑफ क्लौडियस' से आया था। इसमें देवत्वारोपण के लिए और कद्दू के लिए प्रयुक्त होने वाले शब्दों में यमक का प्रयोग दिखाया गया है।[8]

इस कहानी का एक और संस्करण लगभग 860 में यूयांग से तुआन शेंग शी द्वारा मिसेलेनियस मॉरसेल्स में दिखाई दिया. इसमें वह मेहनती और प्यारी सी लड़की एक मछली से दोस्ती करती है, जो उसकी मां का अवतार थी, जिन्हें उसकी सौतेली मां ने मौत के घाट उतार दिया था। ये क्सियन जादू से हड्डियों को बचाता है और उसे उस उत्सव के लिए सलीके से कपड़े पहन कर तैयार होने में मदद करता है। जब वापस लौटने की हड़बड़ी में वह अपने एक पैर की चप्पल खो बैठती है तो राजा उसे ढूंढ निकालता है और उसे दिल दे बैठता है।

मध्ययुगीन वन थाउसेंड एंड वन नाइट्स, जिसे अरेबियन नाइट्स के नाम से भी जाना जाता है, में इस कहानी के कई मित मिलते हैं। इसमें "द सेकेंड शेख'ज़ स्टोरी", "द एलडेस्ट लेडी'ज़ टेल" एवं "अब्दुल्ला इब्न फादिल एंड हिज़ ब्रदर्स" आदि कहानियां शामिल हैं। इन सभी कहानियों में एक छोटी बहन का दो ईर्ष्यालु बड़े भाई-बहनों द्वारा प्रताड़ित किये जाने का वर्णन है। इनमें से कुछ कहानियों में केवल बहनें हैं जबकि कुछ अन्य में भाई भी हैं। इनमें से एक कहानी "जुडर एंड हिज़ ब्रेनथ्रेन" अपने पूर्ववर्ती मितों के पारंपरिक सुखद अंत से परे कथानक को एक नया मोड़ देते हुए एक त्रासद अंत दिखाता है, जिसमें छोटे भाई को सभी बड़े भाई मिलकर ज़हर पिला कर मार डालते हैं।[9]

सेनेरेनटोला, सिंडरेला एवं एस्चेंपुट्टल[संपादित करें]

एस्चेंपुट्टेल, अपनी मां के कब्र पर, पक्षियों के साथ

सबसे प्रारम्भिक यूरोपीय कहानी "ला गट्टा सेनेरेंटोला" या "द हियर्थ कैट" है, जो 1635 में इतालवी लोककथा संग्रहकार गियामबतिस्ता बेसिल की पुस्तक II पेंटामेरोन में दिखती है। यह संस्करण फ्रांसीसी लेखक चार्ल्स पेरौल्ट एवं जर्मन ब्रदर्स ग्रिम द्वारा लिखित परवर्ती संस्करणों का आधार बना. (नोट: ब्रदर ग्रिम के संस्करण में कोई परी मां का वर्णन नहीं है, लेकिन उसकी सगी मां की आत्मा को अपने कब्र के ऊपर दो पक्षियों के माध्यम से दर्शाया गया है।)

सिंडरेला के सबसे लोकप्रिय संस्करणों में से एक 1697 में चार्ल्स पेरौल्ट द्वारा लिखा गया था। इस कहानी की लोकप्रियता का कारण कहानी में कद्दू, परी मां और ग्लास के चप्पलों आदि बातों को जोड़ना था। एक व्यापक धारणा है कि सिंडरेला ने फ़र के जूते पहने ("पैंटौफल एन वेयर ") थे और जब कहानी का अंग्रेजी अनुवाद किया गया तो भूलवश वेयर को वेरे (कांच) समझ लिया गया और इस तरह कांच के चप्पल की अवधारणा बनी और तब से अब तक कहानी का वही रूप बरकरार है।[10]

एक और विख्यात संस्करण 19वीं शताब्दी में ब्रदर्स जैकोब और विल्हेम ग्रिम द्वारा दर्ज किया गया. इस कहानी का नाम "एसचेनपुट्टेल" (अंग्रेजी अनुवाद में "सिंडरेला") है और इसमें परी मां से नहीं बल्कि उसकी मां की कब्र पर उगे एक वरदानी पेड़ से मदद मिलती है। इस संस्करण में सौतेली बहनें शहज़ादे को चकमा देने के लिए अपने पैरों के हिस्सों को काटती हैं, ताकि उनमें वह चप्पल फिट बैठ सके. शहज़ादे को दो कबूतर आगाह कर देते हैं और वह उन सौतेली बहनों की आंख निकाल लेता है, जिससे उनकी तक़दीर में ताउम्र दर-दर अंधों की तरह भीख मांगने के अलावा कोई रास्ता नहीं बचता. इस कहानी में शहज़ादे को दो बार धोखा दिया जाता है लेकिन वे पक्षी उसे बचा लेते हैं। इससे शहज़ादे की हैसियत कमतर हो जाती है और वह कम वीर लगता है, जिससे सिंडरेला की हैसियत एक दृढ-निश्चयी इंसान के रूप में बढ़ जाती है।[11]

स्कॉटिश केल्टिक मिथक/कथा में गील, डॉन और क्रिथीनेच की एक कहानी मिलती है। केल्टिक में सौतेली बहनों का समानार्थी शब्द गील और डॉन हैं और सिंडरेला क्रिथीनेच है।

कथानक (पेरौल्ट से लिया गया)[संपादित करें]

ओलिवर हर्फोर्ड ने पेरौल्ट संस्करण से प्रेरित परी गॉडमदर का दृष्टान्त दिया

(कई विभिन्न रूपों के लिए ऊपर देखें)

एक विधुर था जिसने एक घमंडी और नकचढ़ी औरत से दूसरी शादी की. उसकी दो बेटियां थी और वे भी मां की तरह ही गई-गुज़री थीं। अपनी पहली बीवी से आदमी की एक खूबसूरत युवा बेटी थी जिसकी अच्छाई और नर्म मिजाज़ का कोई मुक़ाबला न था। सौतेली मां और उसकी बेटियां पहली बेटी से जबरन घर के सारे काम करवाती थी। जब लड़की अपने काम निपटा लेती तो वह राख पर बैठती. इसी वजह से उसका नाम "सिंडरेला" पड़ा. बेचारी लड़की बड़े धैर्य से यह सब सहती लेकिन अपने पिता से यह सब कहने की हिम्मत नहीं जुटा पाती. वह पूरी तरह से अपनी बीवी के कब्ज़े में था और ऐसा करने पर वह उल्टे उसे ही डांट पिलाता.

एक दिन शहज़ादे ने उस जगह की सभी जवान लड़कियों को नृत्य के लिए आमंत्रित किया ताकि वह उनमें से अपनी पत्नी चुन सके. दोनों सौतेली बहनों को भी न्योता मिला था और उन्होंने बड़े उत्साह से अपने कपड़ों की योजना बनायी. हालांकि सिंडरेला ने उनकी मदद की और नृत्य में जाने का ख़्वाब भी देखा, लेकिन उन्होंने उसे यह कहकर ताना दिया कि एक नौकरानी हरगिज़ नृत्य में नहीं जा सकती.

जब बहनें नृत्य के लिए चली गयीं तो सिंडरेला निराश होकर रोने लगी. उसकी परी मां जादूई ढंग से प्रकट हुई और उसने नृत्य में शामिल होने में सिंडरेला की मदद करने की कसम खायी. उसने कद्दू को एक गाड़ी में, चूहों को घोड़ों में, एक चूहे को कोचवान में और छिपकलियों को ग़ुलामों में तब्दील कर दिया. उन्होंने सिंडरेला के फटे-पुराने कपड़ों को खूबसूरत गाउन में बदल दिया और उसे कांच के चप्पलों की एक नाज़ुक जोड़ी पहनाकर पूरी तरह से तैयार कर दिया. धर्ममाता ने उसे नृत्य का भरपूर आनंद उठाने के लिए कहा लेकिन यह हिदायत दी कि वह मध्य रात्रि से पहले वापस लौट आये क्योंकि उसके बाद जादू का असर ख़त्म हो जायेगा.

जश्न में हर कोई सिंडरेला से मन्त्र-मुग्ध हो गया, ख़ास तौर पर शहज़ादा जिसने उसका साथ एक पल के लिए भी नहीं छोड़ा. अपनी बहनों से आंख बचाकर सिंडरेला मध्य रात्रि से पहले घर लौट आई. घर आकर सिंडरेला ने बड़े अदब से अपनी धर्ममाता का शुक्रिया अदा किया। उसके बाद उसने अपनी सौतेली बहनों की अगवानी की जो बड़े जोश से केवल जश्न में मिली खूबसूरत लड़की की ही बात किये जा रही थीं।

जब अगली शाम एक और जश्न आयोजित किया गया, तो सिंडरेला ने धर्ममाता की मदद से फिर उसमें हिस्सा लिया। इस बार शहज़ादा पहले से भी अधिक मोहित हो गया. बहरहाल इस बार उसे वक़्त का ख्याल नहीं रहा और वह आधी रात के आखिरी घंटे की आवाज़ पर ही निकल पायी. इस अफरा-तफरी में वह महल की सीढ़ियों पर अपनी कांच के चप्पल की जोड़ी में से एक छोड़ आई. शहज़ादे ने उसका पीछा किया लेकिन महल के बाहर तैनात सुरक्षा कर्मियों ने सिर्फ एक साधारण सी गंवार लड़की को जाते देखा था। शहज़ादे ने चप्पल को अपने पास रखा और उसकी मालकिन को ढूंढ निकालने और उससे शादी करने की कसम खाई. इस बीच सिंडरेला ने दूसरी चप्पल को अपने पास सहेज कर रखा जो जादू का असर ख़त्म होने पर भी गायब नहीं हुआ था।

शहज़ादे ने अपने साम्राज्य की हर लड़की के पैरों में उस चप्पल को आज़माया. जब शहज़ादा सिंडरेला के घर पहुंचा तो सौतेली बहनों ने व्यर्थ कोशिश की. जब सिंडरेला ने कोशिश करने की इच्छा जताई तो सौतेली बहनों ने उसे ताने मारे. ज़ाहिर तौर पर चप्पल उसके पैरों में ठीक बैठी और सिंडरेला ने सही माप के लिए दूसरी जोड़ी भी दिखा दी. सौतेली बहनों ने माफी की भीख मांगी और सिंडरेला ने उन्हें उनकी क्रूरता के लिए माफ़ कर दिया.

सिंडरेला महल लौटी और वहां उसने शहज़ादे से शादी रचाई. सौतेली बहनों ने भी दो अधिपतियों से शादी कर ली.

इस कहानी की सीख यह है कि सौन्दर्य एक खज़ाना है लेकिन कृपालुता अनमोल है। इसके बिना कुछ भी संभव नहीं; इसके साथ हर बाधा पार की जा सकती है।[12]

सिंडरेला को आर्ने-थॉम्पसन टाइप 510A, उपेक्षिता नायिका के रूप में वर्गीकृत किया गया है। इस प्रकार की अन्य कहानियों में द शार्प ग्रे शीप, द गोल्डेन स्लीपर, द स्टोरी ऑफ टैम एंड केम, रशेन कोटी, फेयर, ब्राउन एंड ट्रेम्ब्लिंग एवं केटी वुडेनक्लॉक शामिल हैं।[13]

रूपांतरण[संपादित करें]

मासनेट की सेंड्रिलोन
चित्र:Cinderella-ballet-Ashton-Helpmann.jpg
प्रोकोफिएव की सिंडरेला, जिसके कोरियोग्राफर फ्रेडरिक एश्टन हैं
चित्र:CinderAdelphi.jpg
एडेल्फी में मूकाभिनय
लुइसियाना के मिंडेन में सिंडरेला क्रिसमस का प्रदर्शन

"सिंडरेला" की कहानी ने बहुत सी उल्लेखनीय कृतियों के आधार का निर्माण किया है:

ओपेरा

बैले

आइस शो

कविता

मूकाभिनय 1904 में लन्दन के ड्ररी लेन थियेटर और 1905 में एड़ेल्फी थियेटर के मंच पर सिंडरेला की शुरुआत एक मूकाभिनय के रूप में हुई. इनमें से दूसरे में 14 या 15 वर्षीय फिलीस डेयर ने अभिनय किया था।

पारंपरिक मूकाभिनय संस्करण में शुरूआती दृश्य शिकार करते हुए एक जंगल का है और यहीं सिंडरेला पहली बार शहज़ादे और उसके मुख्य सहायक डेंडिनी से मिलती है, जिसका नाम और चरित्र गिओआचिनो रॉसिनी ओपेरा (La Cenerentola) से लिया गया था। सिंडरेला डेंडिनी को शहज़ादा और शहज़ादे को डेंडिनी समझने की भूल कर बैठती है।

उसका पिता बैरोन हार्डप अपनी दोनों बदसूरत सौतेली बेटियों, बतसूरत बहनें, के दबाव में है और उसके पास बटन्स नामक एक नौकर है जो सिंडरेला का दोस्त है। पूरे मूकाभिनय में बैरोन को लगातार दलाल के आदमी बकाया किराए के लिए परेशान करते रहते हैं (इनके नाम अक्सर समकालीन राजनेताओं पर रखे जाते थे). परी धर्ममाता जश्न में जाने के लिए जादू से सिंडरेला के लिए एक गाड़ी (कद्दू से), ग़ुलाम (चुहिया से), एक कोचवान (एक मेंढक से) और एक खूबसूरत कपड़े (चीथड़ों से) बनाती है। बहरहाल उसे आधी रात तक वापस आ जाना है चूंकि उसके बाद जादू का असर ख़त्म हो जाता है।

संगीतमय

संगीतमय हास्य

नाटक

फ़िल्में[संपादित करें]

दशकों से सैकड़ों ऐसी फ़िल्में बनती रही हैं जो या तो सिंडरेला का सीधे-सीधे रूपांतरण हैं या जिनका कथानक इस कहानी पर शिथिल रूप से आधारित हैं। लगभग हर वर्ष कम से कम एक, लेकिन अक्सर ऐसी कई फ़िल्में बनती और रिलीज़ होती हैं जिसकी वजह से सिंडरेला एक ऐसा साहित्य बन चुकी है जिसके खाते में सबसे अधिक संख्या में फिल्म रूपांतरण का श्रेय है। संभवतः इसका मुक़ाबला सिर्फ ब्राम स्टोकर के उपन्यास ड्रैक्यूला से कुछेक फिल्मों की संख्या से है, जिनपर फ़िल्में आधारित हों या रूपांतरित की गई हों.[कृपया उद्धरण जोड़ें]

पुस्तकें[संपादित करें]

उपन्यास

लघु कथाएं

चित्रात्मक किताबें

हास्य किताबें

  • बिल विलिंग्हम की वर्टिगो श्रृंखला फेबल्स में सिंडरेला एक किरदार के रूप में नज़र आती हैं। सिंडरेला (या सिंडी, जैसा कि उसके साथी फेबल्स उसे पुकारते थे) प्रिंस चार्मिंग की तीसरी और आख़िरी पूर्व-पत्नी है और फेबलटाउन की ज़बरदस्त आवासी जासूस है। वह अपनी एक जूते की दुकान, द ग्लास स्लीपर, चलाती है और अपने समुदाय पर शक करने के कारण एक तीखी व्यक्तित्व वाली हैं।
  • जंको मिज़ुनो का सिंडरेला
  • कोरी युकी का लड्विंग रिवॉल्यूशन . इस संस्करण में सिंडरेला के पैर बेहद लम्बे हैं और इस श्रृंखला का नायक उसकी परी धर्ममाता का अभिनय करते हुए उसे अपना जूता उस ख़ास शाम के लिए उधार देता है। इसके अलावा, शहज़ादा अपनी पत्नी को ढूंढने के लिए नहीं बल्कि बड़े पैरों वाली उस औरत को ढूंढने के लिए जश्न आयोजित करता है जिसने उसकी पालतू छिपकली आइसोल्ड को मार डाला था।

सिंडरेला जम्परोप गीत[संपादित करें]

बच्चों का एक जम्परोप गीत है जिसमें सिंडरेला शामिल है:

सिंडरेला ड्रेस्ड इन येलो, वेंट अपस्टेयर्स टू किस हर फेलो, (पीली ड्रेस पहन सिंडरेला छत पर गई दोस्त को चूमने)

बाई मिस्टेक शी किस्ड अ स्नेक, हाउ मेनी डॉक्टर्स विल इट टेक? (गलती से चूम लिया सांप को, कितने डॉ॰ लगेंगे बोलो?) 1, 2, 3, एट्सेट्रा (1,2,3, वगैरह)
सिंडरेला ड्रेस्ड इन ब्लू, वेंट अपस्टेयर्स टू टाई हर शू, (नीली ड्रेस पहन सिंडरेला छत पर गई जूते को बांधने) मेड अ मिस्टेक एंड टाइड अ नॉट, हाउ मेनी नॉट्स विल शी मेक? (गलती से बंध गया गांठ, अब कितने गांठ बंधे तुम बोलो?) 1, 2, 3, एट्सेटरा ((1,2,3, वगैरह))
सिंडरेला ड्रेस्ड इन ग्रीन, वेंट डाउनटाउन टू बाई अ रिंग, (हरी ड्रेस पहनी सिंडरेला गई बाजार लेने अंगूठी) मेड अ मिस्टेक एंड बॉट अ फेक, हाउ मेनी डेज़ बिफोर इट ब्रेक्स? (खरीद लिया नकली अंगूठी, टूटेगी कितने दिन में बोलो?) 1, 2, 3, एट्सेटरा (1,2,3, वगैरह)
सिंडरेला ड्रेस्ड इन लेस, वेंट अपस्टेयर्स टू फिक्स हर फेस, (पहन लेस प्यारी सिंडरेला छत पर गई चेहरे को सजाने) ओ नो ओ नो, शी फाउंड अ ब्लेमिश, हाउ मेनी पाउडर पफ्स टिल शी इज़ फिनिश्ड?(चेहरे पर मिल गया एक धब्बा, कितने पाउडर लगेंगे बोलो?) 1, 2, 3, एट्सेटरा (1,2,3, वगैरह)
सिंडरेला ड्रेस्ड इन सिल्क, वेंट आउटसाइड टू गेट सम मिल्क, (सिल्क पहन सिंड्रला बाहर गई दूध ले आने) मेड अ मिस्टेक एंड फेल इन द लेक, हाउ मेनी मोर टिल शी गेट्स अ ब्रेक?(गलती से गिर गई झील में कितनी अड़चन आई बोलो?) 1, 2, 3, एट्सेटरा (1,2,3, वगैरह)

यह गिनती तक चलती रहती है जब तक कोई जम्पर जम्प को टालता जाय. अगर वे ऐसा करते हैं तो गिनती फिर से शुरू की जाती है।

भिन्‍नताएं:

सिंडरेला ड्रेस्ड इन येलो, वेंट डाउनटाउन टू मीट हर फेलो (या "टू बाई सम मस्टर्ड"). (पीली ड्रेस पहन सिंडरेला गई बाजार दोस्त से मिलने (या "गई सरसों के दाने किनने"))

ऑन द वे, हर गर्डल बस्टेड.(कमरबंद टूटा रस्ते में.) सिंडरेला वाज़ डिसगस्टेड.(चिढ हुई तब उसके दिल में।)

(1950 के दशक के उत्तरार्द्ध में जैकसन हाइट्स, क्वीन्स में सुना गया)

सिंडरेला ड्रेस्ड इन येलो, वेंट अपस्टेयर्स टू किस हर फेलो. हाउ मेनी किसेज़ डिड शी गिव हिम? (पीली ड्रेस पहन सिंडरेला छत पर गई दोस्त को चूमने तो बोलो, कितने चुंबन दिए उसने?)
(उत्तरी आयरलैंड में सुना जाता है)

सिंडरेला ड्रेस्ड इन येला, वेंट डाउनस्टेयर्स टू किस अ फेला.("पीत वस्त्र पहन सिंडरेला नीचे गई दोस्त को चूमने.) मेड अ मिस्टेक एंड किस्ड अ स्नेक, हाउ मेनी स्टिचेज़ डिड इट टेक?" (गलती से चूम लिया सांप को, कितने टांके लगेंगे बोलो?)

गीत[संपादित करें]

कुछ ऐसे मशहूर गीत, जिनमें सिंडरेला की कहानी का सन्दर्भ है:

वीडियो गेम्स[संपादित करें]

2005 में डिज़नी ने नाइनटेंडो गेम बॉय अडवांस के लिए Disney's Cinderella: Magical Dreams रिलीज़ किया। सिंडरेला को डिज़नी/स्क्वायरसॉफ्ट के वीडियो गेम किंगडम हर्ट्स में भी प्रदर्शित किया गया था,[15] जिसमें वह दिल की सात शहजादियों में से एक है जिसकी ज़रुरत अंधेरे का दरवाज़ा खोलने के लिए पड़ती है। अपनी पूरी दुनिया के साथ वह भी किंगडम हर्ट्स: नींद से जन्म में रहेगी.

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

पाद-टिप्पणियां[संपादित करें]

  1. Zipes, Jack (2001). The Great Fairy Tale Tradition: From Straparola and Basile to the Brothers Grimm. W. W. Norton & Co. प॰ 444. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-0393976366. 
  2. हालांकि दोनों कहानियों का शीर्षक एक ही है और अलग-अलग भाषाओं में चरित्रों के नाम बदल जाते हैं, अंग्रेजी भाषा में लोककथा "सिंडरेला" एक मूल आदर्श विषयक नाम है।
  3. Strabo (23). "Strabo's account of Rhodopis". The Geography. http://penelope.uchicago.edu/Thayer/E/Roman/Texts/Strabo/17A3*.html#ref178. अभिगमन तिथि: 25 मार्च 2010. 
  4. "The Egyptian Cinderella", an embellished retelling.
  5. Anderson, Graham (2000). Fairytale in the ancient world. Routledge. प॰ 27. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-0415237024. http://books.google.co.uk/books?id=B2DAAlUrbBIC&pg=PA27&dq=Fairytale+in+the+ancient+world+rhodopis&ei=qbGrS4alOY7YkQTdy_GxDQ&cd=1#v=onepage&q=Fairytale%20in%20the%20ancient%20world%20rhodopis&f=false. अभिगमन तिथि: 25 मार्च 2010. 
  6. Herodotus. The Histories. http://www.perseus.tufts.edu/hopper/searchresults?target=en&inContent=true&q=Rhodopis&doc=Perseus%3Atext%3A1999.01.0126. अभिगमन तिथि: 25 मार्च 2010. , पुस्तक 2, अध्याय 134 और 135.
  7. एलियन, "विभिन्न इतिहास", 13.33
  8. सेनेका, एपोकोलोसिंटोसिस डीवी क्लौडी
  9. Ulrich Marzolph, Richard van Leeuwen, Hassan Wassouf (2004), The Arabian Nights Encyclopedia, ABC-CLIO, प॰ 4, आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 1576072045 
  10. फंक एण्ड वैगनॉल्स न्यू इनसाइक्लोपीडिया, 27 खंड (न्यूयॉर्क: फंक एण्ड वैगनॉल्स, इंक., 1975) खंड 6, पृष्ठ 133-134 -- यह विश्वकोश इस त्रुटि की विशेषताओं का निर्धारण करता है।
  11. करासेक, बारबरा और हल्लेट, मार्टिन, फोक एण्ड फेयरी टेल्स . ओर्म्सकिर्क, लंकाशायर: ब्रॉड व्यू प्रेस, 2002.
  12. पेरौल्ट: सिंडरेला; या, द लिटल गैस स्लीपर
  13. हेइडी ऐनी हेइनर, "सिंडरेला की तरह की कहानियां"
  14. Perlman, Janet (1981). "The Tender Tale of Cinderella Penguin". NFB.ca. National Film Board of Canada. http://www.nfb.ca/film/the_tender_tale_of_cinderella_penguin. अभिगमन तिथि: 2009-03-12. 
  15. एनिस होलिंगशेड, "डिज़नी के सिंडरेला की समीक्षा: मैजिकल ड्रीम्स " गेमज़ोन (10/03/2005).

बाहरी लिंक[संपादित करें]

Wikisource
विकिसोर्स में सिंडरेला लेख से संबंधित मूल साहित्य है।
Wikisource-logo.svg
विकिसोर्स में इस लेख से सम्बंधित, मूल पाठ्य उपलब्ध है: