वीर्य स्खलन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
वीर्य स्खलन के कुछ चरणों का दृष्य

यौन संगम या हस्त मैथुन के समय जब पुरुष के शिश्न (पुरुष जननांग या लिंग) में यौन उत्तेजना होती है और यौन-उत्तेजना के चरम बिन्दु पर शिश्न से वीर्य निकलता है , इसे ही वीर्यपात या वीर्यस्खलन (ejaculation) कहते हैं। वीर्यपात के माध्यम से पुरुष को चरमानन्द प्राप्त होता है।स्खलन शूरू होने की उम्र क्या है?

इन्हें भी देखें[संपादित करें]