वायूढ़ प्रक्रिया

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

वायूढ़ या वातोढ़ प्रक्रिया वायु की उस क्षमता से संबंधित है, जिसके द्वारा यह पृथ्वी या अन्य किसी ग्रह की सतह को आकार देती है। वायु पदार्थों का अपरदन, परिवहन और निक्षेपन कर सकती है और विशेषकर उन क्षेत्रों में जहाँ वनस्पति विरल हो और जहाँ असंपिण्डित अवसादों की एक बड़ी मात्रा उपलब्ध हो वायु एक प्रभावी कारक की भूमिका निभाती है। हालांकि जल वायु की तुलना में अधिक शक्तिशाली है, पर वायूढ़ प्रक्रियायें शुष्क वातावरण जैसे कि मरुस्थल में महत्वपूर्ण हैं।


अपरदन[संपादित करें]

It is my suggestion that it should be more solid than present.

        -ANKUR ANAND MISHRA


परिवहन[संपादित करें]


निक्षेपण[संपादित करें]


संदर्भ[संपादित करें]