मोरेन सौल्निएर एल

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
एक जेर्मन वायु सेना का पकड़ा गया मोरेन सौल्निएर एल

मोरेन सौल्निएर एल एक फ्रेंच छत्र पंख, एक या दो सीट वाला प्रथम विश्व युद्ध का लड़ाकू विमान था। जब इनमे एकल मशीन गन लगाईं गयी जो की प्रोपेल्लर के चाप के माध्यम से गोलिया दागती थी, एल प्रकार के विमान कुछ पहले सफल लड़ाकू विमानों में शामिल हो गए। अपनी इस प्रभाव के वजह से इसने लड़ाकू विमानों के विकास में हथियारों की दौड़ शुरू कर दी और इस प्रकार एल तेजी से अप्रचलित भी हो गया क्यों की इससे उन्नत विमान पहले से भी तेजी से आने लगे.

इसे सबसे पहले सन १९१४ में बनाया गया व इसके उत्पादन बंद होने तक ऐसे ६०० विमान बनाए जा चुके थे। इसे कई देशो ने काम में लिया पर मुख्य तोर पे शाही फ़्लाइंग कोर, शाही नौसेना की वायु सेना व फ्रांस की वायु सेना ने काम में लिया।[1].

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. http://www.theaerodrome.com/aircraft/france/morane_l.php.