फ़ाउन्डेशन शृंखला

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
फ़ाउन्डेशन शृंखला में "सूरज और अंतरिक्ष यान" का निशान आकाशगंगीय साम्राज्य का राजचिह्न था

फ़ाउन्डेशन शृंखला या बुनियाद शृंखला (अंग्रेज़ी: Foundation series, फ़ाउन्डेशन सीरीज़) प्रसिद्ध विज्ञान कथा लेखक आईज़ैक असिमोव द्वारा रचित सात उपन्यासों में विस्तृत एक विज्ञान कथा है। इस शृंखला की पृष्ठभूमि सूदूर भविष्य में है, जिसमें मनुष्य क्षीरमार्ग (हमारी आकाशगंगा) में फैल गए हैं और उनकी जनसँख्या एक लाख खरब तक पहुँच चुकी है। पूरे क्षीरमार्ग में एक आकाशगंगीय साम्राज्य फैला हुआ है।

इस दौर में हैरी सॅल्डन (Hari Seldon) नामक एक वैज्ञानिक और गणितिज्ञ एक नए विज्ञान का आविष्कार करता है, जिसका नाम मनोवैज्ञानिक-इतिहास (psychohistory, साइकोहिस्ट्री) है। उसके अनुसार जब मनुष्यों की तादाद इतनी अधिक हो जाए तो गणित के ज़रिये यह भविष्यवानियाँ की जा सकती हैं कि आने वाले इतिहास में कौन सी बड़ी घटनाएँ घटेंगी। वह यह भविष्यवाणी करता है कि आकाशगंगीय साम्राज्य का अंत निश्चित है और उसके बाद तीस हज़ार साल का एक अन्धकारमय युग चलेगा जिसमें मानवों की बहुत दुर्दशा होगी। लेकिन वह यह भी भविष्यवाणी करता है कि यदि कुछ क़दम उठाये गए तो इस अन्धकार काल को केवल एक हज़ार साल तक सीमित रखा जा सकता है, जिसके बाद एक दूसरा साम्राज्य उठेगा और सुव्यवस्था लाएगा। इसके लिए वह आकाशगंगा के "दो छोरों" पर दो अलग संसथाने बनता है। पहली संस्था (First Foundation, फ़र्स्ट फ़ाउन्डेशन) का काम है कि वह तरह-तरह की समस्याओं और मुश्किलों से जूझकर दूसरे साम्राज्य को अस्तित्व में लाने में सहायक हो। लेकिन इस कार्य में इतिहास के अगले पन्नों में क्या होना है, यह उस से छुपा रखा जाएगा।

सन् १९६६ में इसने "सर्वश्रेष्ठ विज्ञान कथा शृंखला" के लिए ह्यूगो पुरस्कार जीता।[1]

उपन्यासों का कथानक[संपादित करें]

फ़ाउन्डेशन का पूर्वरंग[संपादित करें]

यह उपन्यास "प्रॅल्यूड टू फ़ाउन्डेशन" (Prelude to Foundation, अर्थ: फ़ाउन्डेशन का पूर्वरंग) के नाम से छपा था। इसकी कथा साम्राज्य के ट्रैन्टर (Trantor) नामक राजधानी ग्रह पर शुरू होती है, जिसपर इस हद तक इमारतें बनी हुई हैं कि एक चप्पा ज़मीन भी नज़र नहीं आती। हैरी सॅल्डन एक अध्यात्मिक भाषण देता है जिस से यह ज़ाहिर हो जाता है कि गणित के प्रयोग से भविष्य बताया जा सकता है। सम्राट के जासूस और ग़ुन्डे फ़ौरन सॅल्डन के पीछे लग जाते हैं जिस से उसे और उसकी डोर्स वॅनबिलि (Dors Venabili) नामक स्त्री साथी को छुपना पड़ता है। सॅल्डन का एक सहायक, चॅट्टर हम्मिन (Chetter Hummin), उन्हें ट्रैन्टर पर जगह-जगह ले जाकर छुपाता है। सॅल्डन को अपने नए गणित पर ख़ुद अधिक भरोसा नहीं है लेकिन चॅट्टर हम्मिन उसपर इसे विकसित करने पर ज़ोर डालता है। सॅल्डन इसी ग्रह पर स्थित भिन्न-भिन्न संस्कृतियों से परिचय पाकर फ़ैसला करता है कि उन्हीं को आधार-सामग्री बनाकर मनोविज्ञान-इतिहास को विकसित करेगा।

फ़ाउन्डेशन की आगही[संपादित करें]

यह उपन्यास "फ़ॉर्वड द फ़ाउन्डेशन" (Forward the Foundation, अर्थ: फ़ाउन्डेशन की आगही) के नाम से छपा था। इसमें अस्सी साल गुज़र चुके हैं और हैरी सॅल्डन ने अपने नए मनोविज्ञान-इतिहास को काफ़ी विकसित कर लिया है। उसकी ख्याति बहुत बढ़ जाती है और उसे सम्राट के मंत्री का ओहदा दिया जाता है। इस किताब में सॅल्डन अपने सभी करीबी साथियों को खो देता है, जिसमें उसकी पत्नी डोर्स वॅनबिलि भी है। उम्र ढलने के साथ उसका स्वास्थ्य भी ख़राब होने लगता है। वह अपनी पौत्री वॉन्डा (Wanda) को दूसरी संस्था (Second Foundation, सॅकिंड फ़ाउन्डेशन) शुरू करने की हिदायत देता है।

फ़ाउन्डेशन[संपादित करें]

"फ़ाउन्डेशन" (Foundation, अर्थ: संस्था) नामक उपन्यास में हैरी सॅल्डन पर साम्राज्य के ख़िलाफ़ देशद्रोह करने का मुक़द्दमा चलाया जा रहा है। वह कहता है कि उसका विज्ञान बतला रहा है कि साम्राज्य गिरेगा और फिर या तो तीस हज़ार वर्षों के लिए मनुष्यों को अन्धकार काल में रहना होगा या फिर, अगर सारे मानव-ज्ञान को एक "अकाशगंगीय ज्ञानकोश" (Encyclopedia Galactica, ऍन्साइक्लोपीडीया गलैक्टिका) में सुरक्षित किया जाए, तो अन्धकार-काल केवल एक हज़ार साल तक सीमित रखा जा सकता है। हैरी सॅल्डन से पिंड छुड़ाने के लिए उसे एक दूर-दराज़ के टर्मिनस (Terminus) नामक ग्रह पर अपना ज्ञानकोश बनाने के लिए एक संस्था बनाने की अनुमति दी जाती है। हैरी सॅल्डन अपने ज्ञानकोश-कार्यकर्ताओं को लेकर वहाँ चला जाता है। साथ-ही-साथ वह चुपचाप आकाशगंगा के "दुसरे छोर" पर दूसरी संस्था भी शुरू कर देता है।

टर्मिनस ग्रह पहुँचकर ज्ञानकोश-कार्यकर्ता असमंजस में पड़ जाते हैं। उनके इर्द-गिर्द चार शक्तिशाली ग्रह हैं जो उन्हें डराते-धमकाते हैं। ज्ञानकोशियों के पास अपनी अक्ल को छोड़कर कोई भी साधन नहीं है। टर्मिनस की राजधानी का महापौर, जिसका नाम सैल्वेडॉर हार्डिन (Salvador Hardin) है, इन ग्रहों को आपस में भिड़ाकर टर्मिनस की स्वतंत्रता बनाए रखने की तरक़ीब बनता है और इसमें कामयाब रहता है। साम्राज्य धीरे-धीरे थकने लगता है और उसमें वैज्ञानिक प्रगति बंद होने लगती है, जबकि टर्मिनस पर प्रगति जारी रहती है। टर्मिनस में बने उपकरण साम्राज्य में बने उपकरणों से छोटे लेकिन अधिक शक्तिशाली होते हैं, चाहे वह हथियार हों चाहे रोज़मर्रा के इस्तेमाल की चीज़ें। टर्मिनस अपने आसपास के ग्रहों से व्यापार सम्बन्ध बढ़ाता है और आख़िरकर अपने श्रेष्ठ विज्ञान के बूते पर उनपर नियंत्रण पा लेता है। टर्मिनस के व्यापारी ही उसकी शक्ति को फैलाने का काम करते हैं। एक ऐसा होबर मैलो (Hober Mallow) नामक व्यापारी इतना शक्तिशाली हो जाता है कि वह टर्मिनस का महापौर बन बैठता है और फ़ाउन्डेशन की शक्ति को और भी ग्रहों पर फैला देता है।

फ़ाउन्डेशन और साम्राज्य[संपादित करें]

"फ़ाउन्डेशन ऐन्ड ऍम्पायर" (Foundation and Empire, अर्थ: फ़ाउन्डेशन और साम्राज्य) नामक उपन्यास में सम्राट फ़ाउन्डेशन को एक ख़तरे के रूप में देखने लगता है। वह अपनी सेना को उसपर आक्रमण करने का हुक्म देता है। सम्राट की सेना शक्तिशाली है, लेकिन अब फ़ाउन्डेशन का विज्ञान इतना तरक्की कर चुका है कि उसकी सेना छोटी होने के बावजूद भी वह साम्राज्य को हरा देता है।

इसी दौरान एक "ख़च्चर" (Mule, म्यूल) नाम का आदमी उभरता है जिसकी कल्पना हैरी सॅल्डन ने भी कभी नहीं करी थी। इसमें लोगों की भावनाओं को बदलने की अद्भुत शक्ति है और इसके प्रयोग से यह फ़ाउन्डेशन के बाहरी ग्रहों पर क़ब्ज़ा करना शुरू कर देता है। जब किसी ग्रह को विजय करना हो तो पहले वह अपनी सेना के साथ वहाँ जाकर उसके नागरिकों में भय फैलाता है और फिर अपने लिए वफ़ादारी की भावना जागरूक करता है। चार साधारण लोग - टोरन डैरॅल (Toran Darell), उसकी पत्नी बेटा डैरॅल (Bayta Darell), ऍब्लिंग मिस (Ebling Mis) और एक मैग्नीफ़ीको (Magnifico) नाम का सड़कछाप मसख़रा - मिलकर दूसरी संस्था (Second Foundation, सॅकिंड फ़ाउन्डेशन) को खोजने लगते हैं। उनकी उम्मीद है के दूसरी संस्था की मदद से ख़च्चर को हराया जा सकता है क्योंकि कहा जाता है कि दूसरी संस्था का ज़ोर मानसिक शक्तियों को उजागर करने पर था। यह चार लोग किसी तरह साम्राज्य की राजधानी, ट्रैन्टर, के मुख्य पुस्तकालय में जाकर दूसरी संस्थान के अते-पते की छानबीन करने लगते हैं। सबसे पहले ऍब्लिंग मिस समझ जाता है कि यह कहा है लेकिन जैसे ही यह बाक़ी तीनों को बताने लगता है की वह कहाँ स्थित है, बेटा उसपर बंदूक़ चलाकर उसे मार देती है। फिर वह यह घोषणा करती है कि उसे ऍब्लिंग मिस को मारने का खेद है लेकिन वह समझ गई है कि मैग्नीफ़ीको ही ख़च्चर है और वह भी दूसरी संस्था को खोज रहा है। अगर ऍब्लिंग मिस उसका पता बता देता तो ख़च्चर भी जान जाता और उसपर धावा बोल देता। मैग्नीफ़ीको क़बूल कर लेता है कि वही ख़च्चर है। टोरन डैरॅल और बेटा डैरॅल की जाने बख़्शकर वह चला जाता है और दूसरी संस्था को ख़ुद ही ढूँढने की कोशिश करता रहता है।

दूसरी संस्था[संपादित करें]

"दूसरी संस्था" (Second Foundation, सॅकिंड फ़ाउन्डेशन) नाम के उपन्यास में ख़च्चर दूसरी संस्था को ढूंढ निकालने के क़रीब आ पहुँचा है। उस से निबटने के लिए दूसरी संस्था के लोग बाहर आते हैं और यह ज्ञात होता है की वह पूरी आकाशगंगा के सब से बुद्धिमान मनुष्य हैं। यहाँ पहली संस्था दुनियादारी की चीज़ों पर ज़ोर लगाती है वहाँ दूसरी संस्था बुद्धि के विकास पर ज़ोर देती है। अपने सबसे तीव्रबुद्धि व्यक्तियों की सहायता से दूसरी संस्था ख़च्चर पर काबू पा लेती है। उसकी आक्रामक मानसिकता को बदलकर एक शांतिप्रिय मानसिकता दी जाती है। दूसरी संस्था को हराने के विचारों को छोड़कर वह अपने ग्रहों पर शान्ति से शासन करने के लिए लौट जाता है।

दूसरी संस्था की शक्तियों को देखकर पहली संस्था को बहुत जलन होती है। वह उसे नष्ट करने की ठान लेती है। वह उन्हें ढूंढ निकालने की बहुत कोशिश करते हैं क्योंकि हैरी सॅल्डन के कथन की वह "आकाशगंगा के दुसरे छोर पर है" का ठीक मतलब निकाल पाना कठिन है। फिर उन्हें यह ठनकता है कि आकाशगंगा गोल है इसलिए टर्मिनस से चलकर दूसरा छोर टर्मिनस पर ही होगा। वह एक यंत्र का निर्माण करते हैं जिस से दूसरी संस्था के तीव्रबुद्धियों को अत्यंत दर्द होता है। उसके इस्तेमाल से उन्हें ५० तीव्रबुद्धियों का एक गुट मिलता है जिन्हें मार दिया जाता है। पहली संस्था के लोग ख़ुश हो जाते हैं कि उनहोंने दूसरी संस्था को ख़त्म कर दिया। वास्तव में दूसरी संस्था ने अपने बचाव के लिए अपने ५० लोगों की शहादत दी होती है और वह बरक़रार रहती है।

फ़ाउन्डेशन का किनारा[संपादित करें]

"फ़ाउन्डेशन का किनारा" (Foundation's Edge, फ़ाउन्डेशन्ज़ ऍज) नाम के उपन्यास में फ़ाउन्डेशन के महापौर हारला ब्रैनो (Harla Branno) को शक़ होने लगता है कि दूसरी संस्था वास्तव में ख़त्म नहीं हुई थी। वह गोलन ट्रेवीज़ (Golan Trevize) नामक एक फ़ौजी अफ़सर को यानोव पॅलोरैट (Janov Pelorat) नाम के विद्वान और अन्य साथियों के साथ दूसरी संस्था की खोज पर रवाना करती है। पॅलोरैट से बातचीत करने पर ट्रेवीज़ को लगने लगता है कि दूसरी संस्था पृथ्वी नामक ग्रह पर है। किताब में बताया जाता है कि पृथ्वी को लोग लगभग भुला चुके हैं और बहुत से लोग समझते हैं कि ऐसा कोई ग्रह है ही नहीं। किसी भी ज्ञानकोश में पृथ्वी शामिल नहीं है और उसका ज़िक्र केवल मिथ्य-कथाओं में मिलता। ट्रेवीज़ को लगता है कि पृथ्वी को जानबूझ कर छुपाया जा रहा है।

इसी दौरान दूसरी संस्था के ग्रह पर स्टोर गॅन्डिबल (Stor Gendibal) नाम के प्रमुख शहरी को एक साधारण व्यक्ति मिलता है जिसकी बुद्धि में कुछ परिवर्तन किये जाने के हलके चिह्न हैं। यह बदलाव इतनी सफ़ाई से किया गया है कि दूसरी संस्था की क्षमता के बाहर है। गॅन्डिबल समझ जाता है कि आकाशगंगा में कोई व्यक्ति या ताक़त ऐसी है जो दूसरी संस्था के लिए भारी पड़ सकती है। वह पहले ही ट्रेवीज़ पर नज़रे गढ़ाए हुए था क्योंकि ट्रेवीज़ अक्सर दूसरी संस्था के ख़िलाफ़ बोला करता था। अब वह ट्रेवीज़ का पीछा करने का फैसला करता है क्योंकि उसे लगता है कि दूसरी संस्था को खोजते-खोजते ट्रेवीज़ ज़रूर इस नयी छुपी हुई ताक़त को भी ढूंढ निकालेगा।

अपनी खोज में ट्रेवीज़ और पॅलोरैट एक गाया (Gaia) नाम के ग्रह ढूंढ लेते हैं जिसपर तीव्रबुद्धि लोग बसते हैं। यहाँ सब प्राणी और वस्तुएँ एक दुसरे से चेतना और बुद्धि जोड़े हुए हैं। उनका पीछा करते हुए ब्रैनो और गॅन्डिबल भी अलग-अलग वहाँ पहुँच जाते हैं। गाया पर ट्रेवीज़ को मानव के भविष्य के लिए तीन रस्तों में से एक को चुनने पर मजबूर किया जाता है: पहली संस्था की विजय और उसकी व्यवस्था पर आधारित साम्राज्य, दूसरी संस्था की विजय और उसपर आधारित बुद्धि-नियंत्रण के द्वारा चलाया जाने वाला साम्राज्य, या फिर पूरी आकाशगंगा की बुद्धियों को गाया से जोड़कर एक विशाल आकाशगंगीय चेतना का जन्म। ट्रेवीज़ तीसरा रस्ता (सारी आकाशगंगा का गाया में जुड़ जाना) चुनता है।

उसके चुनाव के बाद, गाया की विशाल चेतना ब्रैनो की बुद्धि में परिवर्तन कर देती है जिस से ब्रैनो समझने लगती है कि पहली संस्था विजयी है। गॅन्डिबल में भी परिवर्तन किया जाता है कि दूसरी संस्था विजयी है और वह अपने ग्रह लौट जाता है। ट्रेवीज़ को स्वयं भी ठीक से पता नहीं होता की उसने गाया को क्यों चुना।

फ़ाउन्डेशन और पृथ्वी[संपादित करें]

"फ़ाउन्डेशन और पृथ्वी" (Foundation and Earth, फ़ाउन्डेशन ऐन्ड अर्थ) नाम के उपन्यास के आरम्भ में दिखाया जाता है कि ट्रेवीज़ पृथ्वी की खोज पर लगा हुआ है। उसके साथ पॅलोरैट है और एक गाया की निवासी ब्लिसॅनोबियारॅल्ला (Blissenobiarella, जिसे केवल 'ब्लिस' भी बुलाया जाता है) भी हैं। ट्रेवीज़ को आकाशगंगा में तीन स्थानों के पते मिलते हैं लेकिन उसके यान का कम्पूटर वहाँ स्थित किसी ग्रह के बारे में नहीं जानता। पहले स्थान पर उसे ओरोरा (Aurora) नामक ग्रह मिलता है जहाँ खंडहर तो हैं लेकिन कोई मनुष्य नहीं। दुसरे स्थान पर मॅल्पोमॅनिया (Melpomenia) नामक ग्रह मिलता है। यहाँ कोई मनुष्य नहीं है और इसका मौसम बहुत बिगड़ चुका है। यहाँ केवल कार्बन डायोक्साइड से जीने वाली एक काई है जो फ़ौरन उनके यान पर फैल जाती है। किसी तरह उस काई को ख़त्म करके वह तीसरे स्थान पर जाते हैं जहाँ उनके सोलेरिया (Solaria) नाम का ग्रह मिलता है। यहाँ तीव्रबुद्धियों का एक छोटा समुदाय रहता है। जब इनमें से एक ट्रेवीज़ और उसके साथियों के लिए ख़तरा बन जाता है तो ब्लिस गाया की शक्तियों के इस्तेमाल से उसे मार डालती है। फिर ज्ञात होता है कि इसकी मृत्यु से एक बालक अनाथ हो गया है जिसे भी प्रथानुसार मार दिया जाएगा। ट्रेवीज़ और उसके साथी बच्चे को साथ लेकर सोलेरिया से बच निकलते हैं।

आख़िरकर वे पृथ्वी ढूंढ लेते हैं लेकिन वहाँ भी उन्हें कोई सुराग़ नहीं मिलता। फिर ट्रेवीज़ को पृथ्वी के चन्द्रमा पर देखने की सूझती है। जब उनका यान चाँद के पास पहुँचता है जो अपने आप ही उसे कोई शक्ति खींचने लगती है और चाँद के केंद्र में ले जाती है। वहाँ उन्हें आर॰ डैनील ओलिवो (R. Daneel Olivaw) नामक रोबोट मिलता है। ओलिवो उन्हें समझाता है कि वह नष्ट होने के समीप है और उसको ठीक करने लिए पुर्ज़े बनाना असंभव है। वह कहता है कि उसकी यादें और चेतना को मानव कल्याण के लिए जीवित रखना ज़रूरी है क्योंकि संभव है कि कभी आकाशगंगा के बाहर से कोई प्राणी मानवों पर हमला कर दें। जीवित रहने के लिए उसकी चेतना का किसी मनुष्य के साथ लीन हो जाना आवश्यक है। ट्रेवीज़ को फिर फ़ैसला करना पड़ता है कि क्या वह ओलिवो की चेतना को बच्चे की महान बुद्धि के साथ मिलने की अनुमति दे या नहीं। इसमें मानवजाति का फ़ायदा भी है लेकिन बच्चे के इरादों में कुछ गड़बड़ भी लग रही थी। किताब के अंत में यह स्पष्ट नहीं किया जाता कि ट्रेवीज़ का जवाब 'हाँ' था या 'नहीं', हालांकि इशारा किया जाता है कि शायद 'हाँ' था।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]