प्रेमन्द्र मित्र

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

प्रेमन्द्र मित्र (बांग्ला: প্রেমেন্দ্র মিত্র; १९०४–१९८८) बंगाली भाषा के कवि और उपन्यासकार थे। उन्हें साहित्य और शिक्षा के क्षेत्र में योगदान के लिए १९६१ में भारत सरकार ने पद्म श्री पुरस्कार से पुरस्कृत किया।[1][2]

सन्दर्भ[संपादित करें]