पेट्रोलियम उत्पाद

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
ग्रेंगमोउथ, स्कॉटलैंड में एक पेट्रोकेमिकल्स रिफाइनरी.

पेट्रोलियम उत्पाद , तेल रिफाइनरियों में संसाधित कच्चे तेल (पेट्रोलियम) से प्राप्त होने वाली उपयोगी सामग्रियों को कहते हैं.

कच्चे तेल की संरचना और मांग के अनुसार रिफाइनरियां पेट्रोलियम उत्पादों को विभिन्न मात्राओं में उत्पादित कर सकती हैं. तेल उत्पादों का सबसे अधिक मात्रा में उर्जा वाहकों के रूप में इस्तेमाल किया जाता है, जैसे कि इंधन तेल तथा गैसोलीन(पेट्रोल) के विभिन्न प्रकार. इन उर्जा-वाहक ईंधनों में गैसोलीन(पेट्रोल), जेट ईंधन, डीजल ईंधन, गरमाने वाला तेल, तथा भारी ईंधन तेल शामिल होते हैं या मिश्रित करके इन्हें बनाया जा सकता है. भारी (कम अस्थिर) अंशों का इस्तेमाल एस्फाल्ट, डामर, पैराफिन मोम, चिकनाई पैदा करने वाले तथा अन्य भारी तेलों के उत्पादन के लिए भी किया जा सकता है. रिफाइनरियां अन्य रसायनों का उत्पादन भी करती हैं जिनमें से कुछ का प्रयोग रासायनिक प्रक्रियाओं में प्लास्टिक तथा अन्य उपयोगी सामग्रियों के उत्पादन के लिए किया जाता है. चूँकि पेट्रोलियम में अक्सर सल्फर भी थोड़ी मात्रा (लगभग दो प्रतिशत) में शामिल होता है, सल्फर को भी अक्सर एक पेट्रोलियम उत्पाद के रूप में उत्पादित किया जाता है. पेट्रोलियम कोक के रूप में हाइड्रोजन और कार्बन को भी पेट्रोलियम उत्पादों के रूप में उत्पादित किया जा सकता है. उत्पादित हाइड्रोजन का प्रयोग अक्सर हाइड्रोजन केटालिक्टिक क्रेकिंग (हाइड्रोक्रेकिंग) तथा हाइड्रोडीसल्फराईजेशन जैसी अन्य तेल रिफाइनरी प्रक्रियाओं के लिए एक मध्यवर्ती उत्पाद के रूप में भी किया जाता है.

तेल रिफाइनरियों के मुख्य उत्पाद[संपादित करें]

width=40

विशिष्ट अंतिम उत्पाद[संपादित करें]

तेल के एक सामान्य अमेरिकी विशिष्ट बैरल से बने उत्पादों की सूची.[1]

तेल रिफाइनरियां विभिन्न प्रकार के कच्चे माल को मिश्रित करती हैं, उचित योजकों को मिलाती हैं, लघु अवधि का भण्डारण प्रदान करती हैं, और ट्रकों, नौकाओं, पानी के जहाजों, तथा रेलों में भारी मात्रा में लादने के लिए तैयार करती हैं.

  • प्रोपेन जैसे गैसीय ईंधन को वितरकों के पास रेल के विशेष डिब्बों में दबाव के तहत तरल रूप में संग्रहीत किया तथा भेजा जाता है.
  • तरल ईंधन का मिश्रण (मोटर वाहन और विमानन श्रेणी के गैसोलीन, मिट्टी के तेल, विभिन्न विमानन टरबाइन ईंधन का उत्पादन; और आवश्यकतानुसार डीजल ईंधन, योजक डाई, डिटर्जेंट, एंटीनॉक योजक, ऑक्सीजनेट्स, तथा कवक-विरोधी यौगिकों का उत्पादन). नावों, रेल, और टैंकर जहाजों द्वारा भेजना. इसे विशिष्ट ग्राहकों (विशेषकर विमानन जेट ईंधन को प्रमुख हवाई अड्डों तक) के पास स्थानीय तौर पर समर्पित पाइपलाइनों के माध्यम से भेजा जा सकता है; या पाइपलाइन इंस्पेक्शन गेज ("पिग्स") कहे जाने वाले उत्पाद विभाजकों का उपयोग करके बहु-उत्पाद पाइपलाइनों के माध्यम से वितरकों तक पहुँचाया जा सकता है.
  • स्नेहक (आवश्यकतानुसार विस्कोसिटी स्टेबलाइजर्स को मिलाकर हल्के मशीनी तेल, मोटर तेल, तथा ग्रीज को उत्पादित किया जाता है), जिन्हें ऑफसाईट पैकेजिंग प्लांट तक आमतौर पर भारी मात्रा में भेजा जाता है.
  • मोम (पैराफिन), जिसका इस्तेमाल अन्य चीजों के अलावा जमे हुए खाद्य पदार्थों की पैकेजिंग में किया जाता है. इसे पैकेज्ड ब्लॉक के रूप तैयार करने के लिए किसी स्थान तक भारी मात्रा में भेजा जा सकता है.
  • सल्फर (या सल्फ्यूरिक एसिड), पेट्रोलियम से सल्फर हटाने की प्रक्रिया से उत्पन्न होने वाला बाई-प्रोडक्ट; इसमें ऑर्गेनिक सल्फर वाले यौगिकों के रूप में सल्फर का लगभग दो प्रतिशत तक शामिल हो सकता है. सल्फर और सल्फ्यूरिक एसिड उपयोगी औद्योगिक सामग्रियां हैं. सल्फ्यूरिक एसिड को आमतौर पर एसिड का निर्माण करने वाले ओलियम के रूप में तैयार किया तथा भेजा जाता है.
  • तारकोल तथा बजरी की छत बनाने और इसी प्रकार के अन्य उपयोगों के लिए ऑफसाईट यूनिट पैकेजिंग के लिए भारी मात्रा में तारकोल को भेजना.
  • एस्फाल्ट - जिसका उपयोग सड़कों तथा अन्य स्थानों के निर्माण में प्रयुक्त होने वाले एस्फाल्ट कंक्रीट का निर्माण करने के लिए बजरी को बांधकर रखने वाले पदार्थ के रूप में किया जाता है. एक एस्फाल्ट इकाई एस्फाल्ट को भेजने के लिए भारी मात्रा में तैयार करती है.
  • पेट्रोलियम कोक, जिसका उपयोग विशिष्ट कार्बन उत्पादों (जैसे कुछ प्रकार के इलेक्ट्रोड) अथवा ठोस ईंधन में किया जाता है.
  • पेट्रोकेमिकल या पेट्रोकेमिकल के कच्चे उत्पाद, जिन्हें अक्सर पेट्रोकेमिकल संयंत्रों में भेजा जाता है ताकि उन्हें आगे के कामों के लिए कई प्रकार से प्रसंस्कृत किया जा सके. पेट्रोकेमिकल; ओलेफिन या उनके पूर्ववर्ती अथवा कई प्रकार के सुगंधित पेट्रोकेमिकल हो सकते हैं.
पेट्रोकेमिकल का उपयोग कई जगहों पर किया जा सकता है. उनका उपयोग आमतौर पर मोनोमर (एकलक) या मोनोमर उत्पादन के लिए कच्चे माल के रूप में किया जाता है. एल्फा-ओलेफिन तथा डाईईन जैसे ओलेफिन का प्रयोग अक्सर मोनोमर के रूप में किया जाता है, हालांकि मोनोमर के पूर्ववर्ती पदार्थों के रूप में एरोमेटिक्स (सुगंधियों) का भी इस्तेमाल किया जा सकता है. उसके बाद मोनोमर को विभिन्न प्रकार से पॉलिमराईज़ करके पॉलिमर का निर्माण किया जाता है. पॉलिमर सामग्रियों को प्लास्टिक, इलास्टोमर, या फाइबर अथवा इनके किसी मध्यवर्ती प्रकार के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है. कुछ पॉलिमर को जैल या स्नेहक के रूप में भी इस्तेमाल किया जाता है. पेट्रोकेमिकल को सॉल्वेंट या सॉल्वेंट उत्पादन के लिए कच्चे माल के रूप में भी इस्तेमाल किया जा सकता है. पेट्रोकेमिकल्स को वाहनों के तरल पदार्थ, क्लीनर्स के लिए सरफेकटेंट आदि जैसे विभिन्न प्रकार के रसायनों तथा पदार्थों के पूर्ववर्ती के रूप में भी इस्तेमाल किया जा सकता है.

गैलरी[संपादित करें]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

  • लेनोलिन - लेनोलिन आधारित उत्पादों को विषाक्त पेट्रोकेमिकल स्प्रे तथा डीग्रीजर्स के एक प्राकृतिक विकल्प के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है.

संदर्भ[संपादित करें]

  1. अमेरिकी ऊर्जा सूचना प्रशासन> पेट्रोलियम> नेविगेटर> रिफाइनरी उत्पादन