पश्चिमी झोऊ राजवंश

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
पश्चिमी झोऊ काल की रियासतें - समय के साथ सम्राट से इनकी आज़ादी बढ़ती चली गई
पहले झोऊ सम्राट, राजा वू (周武王, झोऊ वू वांग)

पश्चिमी झोऊ राजवंश काल (चीनी:西周; पिनयिन अंग्रेज़ीकरण: Western Zhou) प्राचीन चीन के झोऊ राजवंश काल के पहले भाग को कहते हैं।

शुरुआत[संपादित करें]

झोऊ काल का आरम्भ तब हुआ जब झोऊ वंश के राजा वू (周武王, झोऊ वू वांग) ने (लगभग) १०४६ ईसापूर्व में लड़े गए 'मुये के युद्ध' में उस समय विराजमान शांग राजवंश को हराकर उनका तख़्ता पलट दिया। जब शांग सम्राट ने (जिसका नाम इत्तेफ़ाक से राजा झोऊ था, हालांकि उसका झोऊ राजवंश से कोई सम्बन्ध नहीं) देखा की शांग फ़ौजें हार चुकी हैं तो उसने अपने महल को आग लगा ली और स्वयं को भी जलाकर मार डाला। राजा वू फिर चीन के सम्राट बने और उन्होंने झोऊ साम्राज्य की नीव रखी। सम्राट वू को एक न्यायप्रीय और काबिल सम्राट के रूप में याद किया जाता है। उन्होंने अपने अधीन अपने भाई-बंधुओं और सेनापतियों को बहुत से छोटे-मोटे राज्य-रियासतें दीं। सम्राट वू का देहांत उनकी जीत के कुछ ही साल बाद हो गया।[1]

पश्चिमी झोऊ का अंत[संपादित करें]

जो रियासतें सम्राट वू ने बनाई थीं वे कहने को तो झोऊ सम्राट के अधीन थीं, लेकिन धीरे-धीरे वे स्वतन्त्र राज्यों की तरह बन गई। ७७१ ईसापूर्व में उत्तर से आये क़बीलों ने अपने हमलों से झोऊ साम्राज्य को वेई नदी घाटी से (जो आधुनिक चीन के गांसू और शान्शी प्रान्तों में पड़ती है) खदेड़ दिया। इसके बाद झोऊ राज-व्यवस्था के लोग हटकर पूर्व को चले गए और सम्राट के परिवार की सारी शक्ति ख़त्म हो गई। उनके अधीन जो रियासतें थीं अब वे अपने मामले खुद चलाने लगी। इस युग को चीनी इतिहास में पूर्वी झोऊ काल कहा जाता है।

पश्चिमी झोऊ काल के अध्ययन में कठिनाइयाँ[संपादित करें]

चीन के अन्य युगों के मुक़ाबले में इतिहासकारों को पश्चिमी झोऊ काल के अवशेष और लिखाइयां बहुत कम मिली हैं। इस से उस काल के समाज, राजनीति और अर्थव्यवस्था के बारे में पूरी जानकारी मिलना मुश्किल रहा है। मिसाल के लिए यह ठीक से पता नहीं है की वेई नदी घाटी की हार के बाद झोऊ सम्राट अचानक इतने कमज़ोर क्यों पड़ गए की उनके परिवार की सारी शक्ति ही ख़त्म हो गई। कुछ विद्वान् अंदाज़ा लगते हैं के हो सकता है सम्राट के ख़ज़ाने में अधिक पैसा वहीँ सी आता हो और उसके जाते ही शाही ख़ज़ाने में सम्राट की शती बनाए रखने की क्षमता न रही हो, लेकिन यह सब बिना सबूत के अनुमान-भर ही हैं।[2][3]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. The formation of Chinese civilization: an archaeological perspective, Kwang-chih Chang, Pingfang Xu, Sarah Allan, Liancheng Lu, Yale University Press, 2005, ISBN 978-0-300-09382-7, ... The Zhou state that conquered the great Shang dynasty and founded the Western Zhou dynasty was small, and the question of how to rule over such a vast territory was a crucial problem ... The Zhou kings established secondary capitals as a means to rule over their royal domains and to create a stable base for controlling the local rulers ...
  2. Handbook of Oriental studies, Part 4, Volume 9, Donald B. Wagner, BRILL, 1993, ISBN 978-90-04-09632-5, ... The Western Zhou period is something of a blank spot, both historically and archaeologically ...
  3. Landscape and power in early China: the crisis and fall of the Western Zhou, 1045-771 BC, Feng Li, Cambridge University Press, 2006, ISBN 978-0-521-85272-2, ... Our textual records on Zhou relations with the Yangzi delta during the early Western Zhou are almost completely lacking ...