नेपालभाषा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

नेपालभाषा, नेपाली भाषा से भिन्न भाषा है ; इनमें भ्रमित न हों।


भाषा का नाम
बोली जाती है
क्षेत्र
कुल बोलने वाले
भाषा परिवार
  • {{{name}}}
भाषा कूट
ISO 639-1 None
ISO 639-2 टन्कण
ISO 639-3

नेपाल भाषा (नेवारी अथवा नेपाल भाय्) नेपाल की एक प्रमुख भाषा है। यह भाषा चीनी-तिब्बती भाषा-परिवार के अन्तर्गत तिब्बती-बर्मेली समूह मे संयोजित है। यह देवनागरी लिपि मे भी लिखी जाने वाली एक मात्र चीनी-तिब्बती भाषा है। यह भाषा दक्षिण एशिया की सबसे प्राचीन इतिहास वाली तिब्बती-बर्मेली भाषा है और तिब्बती बर्मेली भाषा में चौथी सबसे प्राचीन काल से उपयोग में लाई जाने वाली भाषा।

वर्गीकरण[संपादित करें]

यह भाषा चीनी-तिब्बती भाषा परिवार के अन्तर्गत तिब्बती-बर्मेली समूह मे संयोजित है।

लिपि[संपादित करें]

नेपाल भाषा बहुत सी लिपियों में लिखी जाती है। इनमें प्रमुख लिपियां हैं - रन्जना, प्रचलित, ब्राह्मी, भूजिँगोल, देवनागरी आदि। ये सभी लिपियाँ बाएं से दाएं तरफ लिखी जाती है। इन सभी लिपियों में स्वरमाला और व्यंजनमाला नामक दो प्रकार के अक्षर होते है।

विकास क्रम[संपादित करें]

नेपाल भाषा काठमांडू की मूल भाषा है। इस भाषा का उत्पत्ति-स्थान काठमांडू ही है। काठमांडू मे किरांत शासन के समय मे इस भाषा मे किरांती भाषा का प्रभाव पडा| तिब्बत के साथ शताव्दियों के व्यापारिक सम्बन्धों के कारण इस भाषा मे तिब्बती भाषा का भी उल्लेख्य प्रभाव दिखता है। लिच्छवी काल और मल्ल काल मे संस्कृत तथा शाहकाल मे नेपाली भाषा का प्रभाव भी इस भाषा मे दिखने लगा।

तिब्बती-बर्मेली भाषा परिवार की भाषा होने के बावजूद वर्षो तक भारोपेली भाषा के सम्बन्ध ने नेपाल भाषा का स्वरूप विशेष रूप से नामपद थोडा भारोपेली जैसा बना दिया है।

नेपाली मिडिया मे निजी क्षेत्र की भागीदारी के बाद इस भाषा के विकास को गति मिली है।

साहित्य[संपादित करें]

नेपाल भाषा साहित्य के आरम्भ का कोई ऐतिहासिक प्रमाण नहीं है। इसका विकास और विस्तार लिच्छवी तथा मल्ल काल मे होने के तथ्य की उस समय मे रचित विभिन्न नाटक, गीत, काव्य तथा तत्कालीन शिलालेख पुष्टि करते है।

नेपाल भाषा के महाकवि सिध्दिदास महाजु हैं।

साहित्यकार[संपादित करें]

कुछ शव्द तथा वाक्य[संपादित करें]

नेपाल भाषा हिन्दी
ज्वजलपा नमस्ते
छिगु नां छु ख? आप का नाम क्या है?
जिगु नां _____ ख मेरा नाम ______ है
न्हुगु दं या भिन्तुना ! शुभ नूतन वर्ष!
यमा मां
अबु पिता
अजी दादी, नानी, मातामही
अजा दादा, नाना, पितामही
पासा मित्र
गुठी संस्था
छें घर, गृह
मनु पुरूष, मानव
वास औषधी
बुखं समाचार
प्याखं नृत्य
दबली रंगमंच
लायकू राजभवन
ज्यास: कार्यलय
पस:/ पसल दूकान, आपण
चूक आंगन
न्हेपू मस्तिष्क
नूग हृदय
ल / ना जल, पानी

वाह्य लिंक[संपादित करें]