निशान-ए-हैदर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
निशान-ए-हैदर
Nishan-i-Haider-PAK.jpg
पाकिस्तान द्वारा पुरस्कृत
प्रकार वीरता पुरस्कार
अर्हता केवल सैन्य (सभी रैंको को प्रदान किया जाता है)
देने का कारण "... to those who have performed acts of greatest heroism or most conspicuous courage in circumstances of extreme danger and have shown bravery of the highest order or devotion to the country, in the presence of the enemy on land, at sea or in the air ..."[1]
स्थति अभी प्रदान किया जाता है
पश्च-नामिक NH
आंकड़े
स्थापना 16 मार्च 1957[2]
पहली बार दिया गया प्रथम कश्मीर युद्ध, 1948
अंतिम बार दिया गया कारगिल युद्ध, 1999
आज तक दिये गये 10
मरणोपरांत
पुरस्कार
सभी
तरजीह
अगला (उच्च) कोई नहीं
अगला (निम्न) (2) हिलाल-ए-जुर्रत
(3) सितारा-ए-जुर्रत
(4) तमग़ा-ए-जुर्रत

निशान-ए-हैदर, पाकिस्तान का सर्वोच्च सैन्य पुरस्कार है, जो किसी युद्ध में असाधारण वीरता दिखाने वाले सैनिक को, चाहे वो किसी भी रैंक का क्यों ना हो, मरणोपरांत प्रदान किया जाता है।

संदर्भ[संपादित करें]

  1. PAF Combat website on military awards
  2. Robertson, Megan. "Order of Haider (Nishan-i-Haider)". Medals.org. http://www.medals.org.uk/pakistan/pakistan001.htm. अभिगमन तिथि: 2009-06-06.