जलोद्भिद

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
नलिनी (वाटर लिली) की प्रजाति का एक पुष्प

जलोद्भिद (=जल+उद्भिद = जलीय पौधे / Aquatic plants या hydrophytes या aquatic macrophytes) वे पादप हैं जो जलीय पर्यावरण में रहने एवं विकसित होने के लिये अनुकूलित हैं।

यह जल में अथवा अति आर्द्र भाग में ही विकसित होता है। इसका तना प्रायः लम्बा और मुलायम होता है जिसमें लकड़ी के रेशे की कमी पायी जाती है। इसकी जड़ उथली तथा पत्तियां लम्बी और पतली होती हैं। केला इसका उत्कृष्ट उदाहरण है।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]