ग्रीनहाउस

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
रूस के सेंट पीटर्सबर्ग वानस्पतिक उद्यान स्थित विक्टोरिया अमेज़ोनिका (विशाल आमेज़न वॉटर लिली).
बेल्जियम,ब्रसेल्स, लेकेन के रॉयल ग्रीनहॉउसेस.19 वीं शताब्दी के ग्रीनहॉउस वास्तुकला का एक उदाहरण
कॉर्नवॉल, इंग्लैंड में इडेन परियोजना, युनाइटेड किंगडम का सबसे बड़ा ग्रीनहॉउस
चित्र:Mojonera plastic sea.jpg
ला मोजोनेरा, अल्मेरिया, अंडालुसिया, स्पेन. अल्मेरिया के तट पर स्थित ग्रीन हॉउसेस

हरितगृह या ग्रीनहाउस (ग्लासहाउस भी कहा जाता है) एक इमारत है, जहां पौधे उगाये जाते हैं।

ग्रीनहाउस विभिन्न तरह की आवरण सामग्रियों जैसे कांच या प्लास्टिक की छत और अक्सर कांच या प्लास्टिक की दीवारों के साथ बनी एक संरचना है; यह गर्म होता है, क्योंकि सूर्य द्वारा भेजे जा रहे दृश्य सौर विकिरण को पौधों, मिट्टी और भवन के भीतर स्थित अन्य चीजों द्वारा अवशोषित किया जाता है। कांच इस विकिरण के लिए पारदर्शी है। ग्रीनहाउस के भीतर गरम संरचनाएं और पौधे इस ऊर्जा को फिर से अवरक्त में विकीर्ण करते हैं, जिससे कांच आंशिक रूप से अपारदर्शी हो जाता है और वह ऊर्जा ग्रीनहाउस के भीतर कैद हो जाती है। हालांकि, प्रवाह के कारण उष्मा का कुछ नुकसान होता है, लेकिन इससे ग्रीन हाउस के अंदर ऊर्जा (और इस तरह तापमान) में विशुद्ध वृद्धि होती है। गर्म आंतरिक सतहों के ताप से गरम हुई हवा को छत और दीवार द्वारा ईमारत के अन्दर बरकरार रखा जाता है। इन संरचनाओं का आकार छोटे से शेड से लेकर बहुत बड़ी इमारतों तक हो सकता हैं।

ग्रीनहाउस को कांच के ग्रीनहाउस और प्लास्टिक ग्रीनहाउस के रूप में विभाजित किया जा सकता है। प्लास्टिक में ज्यादातर पीई (PE) फिल्म और पीसी (PC) या पीएमएमए (PMMA) की कई दीवारों वाली चादरें प्रयुक्त की जाती है। कांच के व्यावसायिक ग्रीनहाउस में अक्सर सब्जियों या फूलों के लिए उच्च तकनीक वाली उत्पादन सुविधाएं होती हैं। कांच के ग्रीनहाउस स्क्रीनिंग स्थापना, गर्म करने, ठंडा करने, प्रकाशमान करने जैसे उपकरणों से परिपुर्ण होते हैं और यह एक कंप्यूटर द्वारा स्वचालित रूप से नियंत्रित हो सकता है।

ग्रीनहाउस के लिए इस्तेमाल किया कांच हवा के प्रवाह के लिए एक बाधा के रूप में काम करता है और इसका प्रभाव ग्रीनहाउस के भीतर ऊर्जा को बांधकर रखने के रूप में पड़ता है, जो पौधों और इसके अंदर की जमीन दोनों को गर्म करता है। यह जमीन के पास की हवा को गर्म करता है और इस हवा को उपर उठने और बहकर दूर चले जाने से रोका जाता है। एक ग्रीनहाउस की छत के पास एक छोटी सी खिड़की खोलकर इसका प्रदर्शन किया जा सकता है: क्योंकि तापमान उल्लेखनीय रूप से काफी नीचे आ जाता है। यह सिद्धांत ठंडा करने की ऑटोवेंट स्वचालित प्रणाली पर आधारित है। एक अति लघु ग्रीनहाउस एक ठंडे फ्रेम के रूप में जाना जाता है।

उपयोग[संपादित करें]

ग्रीनहाउस बहुत अधिक गर्मी या सर्दी से फसलों की रक्षा करते हैं, धूल और बर्फ के तूफानों से पौधों की ढाल बनते हैं और कीटों को बाहर रखने में मदद करते हैं। प्रकाश और तापमान नियंत्रण की वजह से ग्रीनहाउस कृषि के अयोग्य भूमि को कृषि योग्य भूमि में बदल देता है जिससे औसत पर्यावरणों में खाद्य उत्पादन की हालत में सुधार होता है।

चूंकि ग्रीनहाउस कुछ फसलों को वर्ष भर उगाने की अनुमति देता है, इसलिए ग्रीनहाउस उच्च अक्षांश पर ‍स्थित देशों में खाद्य आपूर्ति के मामले में तेजी से महत्वपूर्ण होते जा रहे हैं। दुनिया के सबसे बड़े ग्रीनहाउस परिसरों में से एक स्पेन के अल्मरिया का ग्रीनहाउस है, जहां ग्रीनहाउस लगभग सबको ढंके हुए होते हैं50,000 एकड़ (200 किमी2)। कभी-कभी इन्हें प्लास्टिक का समुद्र कहा जाता है।

ग्रीनहाउसों का उपयोग अक्सर फूल, सब्जियां, फल और तंबाकू के पौधे उगाने में होता है। अधिकांश ग्रीनहाउस परागसेचन में परागण के लिए भौंरों को पसंद किया जाता है, हालांकि कृत्रिम परागण के साथ-साथ मधुमक्खी की अन्य प्रजातियों का भी उपयोग किया गया है। साथ ही ग्रीनहाउसों में हाइड्रोपोनिक्स (जल संवर्द्धन विधि) का इस्तेमाल किया जा सकता है, ताकि आंतरिक स्थान का ज्यादा से ज्यादा उपयोग हो सके।

सर्दियों के अंत और बसंत ऋतु के प्रारंभ में ग्रीनहाउसों में तम्बाकू के अलावा कई सब्जियों और फूलों को उगाया जाता है और फिर मौसम के गर्म होने के बाद बाहर प्रतिरोपित किया जाता है। आम तौर पर रोपाई के समय पौधे लगाने वालों को किसान बाजार में छोटे पौधे उपलब्ध होते हैं। कुछ फसलों की विशेष ग्रीनहाउस किस्मों, जैसे टमाटर का उपयोग आमतौर पर वाणिज्यिक उत्पादन के लिए किया जाता है।

आउटडोर उत्पादन की तुलना में एक ग्रीनहाउस के बंद वातावरण की अपनी अनूठी आवश्यकताएं होती हैं। कीटों और रोगों तथा गर्मी और आर्द्रता की चरम सीमाओं को नियंत्रित करना होता है और पानी प्रदान करने के लिए सिंचाई आवश्यक हैं। गर्मी और प्रकाश के महत्वपूर्ण आगत की आवश्यकता हो सकती है, खासकर जब गर्म मौसम में उगने वाली सब्जियों को सर्दियों में उगाना हो।

चुँकि ग्रीनहाउस के तापमान और नमी की लगातार निगरानी होनी चाहिए, ताकि सर्वोत्कृष्ट स्थिति को सुनिश्चित किया जा सके, इसके लिए दूर से आंकड़े इकट्ठा करने के लिए वायरलेस सेंसर नेटवर्क का उपयोग किया जा सकता है। ये आंकड़े एक नियंत्रण स्‍्थान में संचारित किये जाते हैं और इनका उपयोग गर्म करने, ठंडा करने और सिंचाई प्रणालियों के लिए किया जाता है।[1]

इतिहास[संपादित करें]

मिनेसोटा के रिचफिल्ड में एक ग्रीनहाउस में ककड़ी का पौधा छत पर पहुंच गया, जहां बाजार के मालियों ने मिनीयापोलिस सीए में बिक्री के लिए विभिन्न तरह की फसलों का उत्पादन किया। 1910
विल्बर्ग, जर्मनी में 19 वीं सदी के औरेंजरी

पर्यावरण की दृष्टि से नियंत्रित क्षेत्रों में पौधे उगाने का विचार रोमन काल से ही अस्तित्व में है। रोमन सम्राट टाइबेरियस ककड़ी की तरह[2] दिखने वाली एक सब्जी रोज खाते थे। रोमन किसान साल में हर दिन उनकी मेज पर उसकी उपलब्धता के लिए उसे कृत्रिम तरीके (ग्रीनहाउस प्रणाली के समान) से उगाते थे। ककड़ी के पौधे एक पहिएदार वाहन में रोपे जाते थे, जिन्हें रोज धूप में रखा जाता था और फिर रात में उन्हें गर्म रखने के लिए भीतर लाया जाता था।[3] प्लीनी द इल्डर के वर्णन के मुताबिक ककड़ियों को ढांचों और कंकड़ीघरों, जिन्हें "स्पेकुलारिया" नाम के तेल से सने कपड़ों या सेलेनाइट (ए.के.ए. लैपिस स्पेकुलेरिस ) की चादरों से चमकाया जाता था।[4]

नीदरलैंड में विशाल ग्रीनहॉउसेस

पहला आधुनिक ग्रीनहाउस 13 वीं शताब्दी[5] में इटली में अन्वेषकों द्वारा उष्णकटिबंधीय इलाकों से लाये गये विदेशी पौधों को रखने के लिए बनाया गया था। उन्हें मूलत: गियारडिनी बोटानिकी (वनस्पति उद्यान) कहा जाता था। पौधों के साथ-साथ ग्रीनहाउसों की अवधारणा जल्दी ही नीदरलैंड और फिर इंग्लैंड तक फैल गई। इनमें कुछ प्रारंभिक प्रयासों में रात में बंद करने और ठंड प्रदान करने में भारी श्रम लगा। इन शुरूआती ग्रीनहाउसों में पर्याप्त और संतुलित गर्मी प्रदान करने को लेकर गंभीर समस्याएं थीं। आज नीदरलैंड में दुनिया के सबसे बडे़ ग्रीनहाउस हैं और उनमें से कुछ इतने विशाल हैं कि वे हर साल लाखों की मात्रा में सब्जियों के उत्पादन में सक्षम हैं।

अक्सर फ्रांसीसी वनस्पतिशास्त्री चार्ल्स लुसियन बोनापार्ट को औषधीय उष्णकटिबंधीय पौधे उगाने के लिए हॉलैंड के लेइडान में पहला व्यावहारिक आधुनिक ग्रीनहाउस बनाने का श्रेय दिया जाता है।[कृपया उद्धरण जोड़ें]

मूलत: पहले जो धनी लोगों की संपदा थे, वनस्पति विज्ञान के विकास के साथ un ग्रीनहाउसों का प्रसार विश्वविद्यालयों तक हुआ। फ्रांसीसियों ने आरेंजरी को अपना पहला ग्रीनहाउस कहा, क्योंकि उनका उपयोग नारंगी के पेड़ों को ठंड से रक्षा के लिए इस्तेमाल किया जाता था। जैसे ही अन्‍नानास लोकप्रिय हुआ, पाइनरिज या अन्‍नानास रखने के गड्ढे बनाए गए। प्रौद्योगिकी के कारण बेहतर कांच के उत्पादन और निर्माण तकनीक में सुधार के बाद यूरोप में 17 वी सदी के दौरान ग्रीनहाउसों की डिजाइन के साथ प्रयोग जारी रहा। वर्सीलिज के महल में बना ग्रीनहाउस अपने आकार और व्यापकता का एक उदाहरण है; यह 500 फीट से अधिक लंबा, 42 फीट चौड़ा और 45 फीट ऊंचा था।

उन्नीसवीं सदी में सबसे बड़े ग्रीनहाउस बनाए गए थे। इंग्लैंड के क्यू गार्डंस का वनस्पति रक्षागृह विक्टोरियन ग्रीनहाउस का एक प्रमुख उदाहरण है। हालांकि इनका लक्ष्य बागवानी और गैर-बागवानी प्रदर्शनी दोनों के लिए था, इन्हें लंदन के क्रिस्टल पैलेस, न्यूयार्क के क्रिस्टल पैलेस और म्यूनिख के ग्लासपालास्ट में शामिल किया गया। ड्यूक ऑफ डेबोनशायर के लिए काम करते हुए डर्बीशायर के चैट्सवर्थ में प्रमुख माली के रूप में कांच और लोहे से बड़े ग्रीनहाउस के निर्माण का प्रयोग करने वाले जोसफ पैक्सटन ने लंदन के पहले क्रिस्टल पैलेस की डिजाइन और निर्माण किया। स्मारकीय ग्रीनहाउस निर्माण में वास्तु संबंधी एक प्रमुख उपलब्धि लाइकेन का रॉयल ग्रीनहाउस (1874-1895) था, जिसे बेल्जियम के राजा लियोपोल्ड द्वितीय के लिए बनाया गया।

जापान में पहले ग्रीनहाउस का निर्माण 1880 में एक ब्रिटिश व्यापारी सैमुएल कॉकिंग ने किया, जो जड़ी-बू‍टियों का निर्यात करते थे।

बीसवीं सदी में भू-गणितीय गुंबद ग्रीनहाउस के विभिन्न प्रकारों में शामिल हो गये। इसका एक उल्लेखनीय उदाहरण है कार्नवाल का ईडन प्रोजेक्ट।

ग्रीनहाउस संरचनाओं का अनुकूलन 1960 के दशक में हुआ, जब पॉलीथिलीन फिल्म की चौड़ी चादरें व्यापक रूप से उपलब्ध होने लगीं। कई कंपनियों द्वारा चक्करदार घरों का निर्माण किया गया और अक्सर खुद उत्पादकों द्वारा भी इन्हें बनाया गया। एल्यूमीनियम उत्सारण के निर्माण, जस्ते के आवरण वाली विशेष इस्पात टयूबिंग या उपयुक्त लंबाई की पानी की स्टील या पीवीसी पाइप के उपयोग के कारण निर्माण लागत काफी कम हो गई थी। इस वजह से छोटे खेतों और उद्यान केन्द्रों में और भी अधिक ग्रीनहाउसों का निर्माण हुआ। 1970 के दशक में और अधिक प्रभावी प्रावरोधकों के विकास और इन्हें शमिल किये जाने से पॉलीथिलीन फिल्म की चादरों के स्थायित्व में काफी वृद्धि हुई है। इन यूवी (UV) प्रावरोधकों ने फिल्म के उपयोगी जीवन का एक या दो साल से 3 साल तक और अंतत: 4 या उससे अधिक वर्षों तक विस्तार किया। 1980 और 1990 के दशक में गटर से जुड़े ग्रीनहाउस अधिक प्रचलित हो गये। इन ग्रीनहाउसों में एक आम दीवार या समर्थन दे रहे खंभों की पंक्ति से जुडी दो या अधिक खाड़ियां होती हैं। सतह के क्षेत्रफल से छत के क्षेत्रफल का अनुपात काफ़ी हद तक बढ़ जाने की वजह से ताप का निवेश काफी कम हो जाता था। ग्रीनहाउस से जुड़े गटर अब सामान्यतः उत्पादन और पौधे उगाने और जनता के लिए बेचे जाने की परिस्थितियों दोनों द्वारा समान रूप से उपयोग किये जाते हैं। ग्रीनहाउस से जुड़े गटर सामान्यतः पॉलीथिलीन फिल्म की दोहरी परतों से ढंके होते हैं और गरम करने की क्षमता में वृद्धि के लिए उनमें हवा को प्रवाहित किया जाता है या संरचित पॉलीकार्बोनेट सामग्रियां उपलब्ध कराई जा सके।

नीदरलैंड्स[संपादित करें]

वेस्टलैंड, नीदरलैंड में ग्रीनहॉउसेस.

नीदरलैंड में दुनिया के कुछ सबसे बड़े ग्रीनहाउस हैं। इस देश में खाद्य उत्पादन इस पैमाने पर होता है कि 2000 ग्रीनहाउस 10526 हेक्टेयर क्षेत्र या नीदरलैंड की कुल भूमि के 0.25% हिस्से में फैले हुए हैं।[6]

उन्नीसवीं सदी के मध्य में नीदरलैंड के वेस्टलैंड क्षेत्र में ग्रीनहाउसों का निर्माण शुरू हुआ। दलदल और कीचड़ में रेत मिलाने से कृषि के लिए उर्वरक मिट्टी का निर्माण हुआ और एक तरफ ठोस दीवार के साथ साधारण कांच के निर्माण के कारण बने पहले ग्रीनहाउसों में अंगूर के 1850 पौधे उगाये गये। केवल कांच से लगभग 1900 ग्रीनहाउसों का निर्माण शुरू हुआ और उनका गर्म होना शुरू हुआ। इससे उन फलों और सब्जियों का उत्पादन शुरू हुआ, जो सामान्यत: पर इस क्षेत्र में नहीं उगते थे। आज वेस्टलैंड और अलसमीर के चारों ओर के क्षेत्र दुनिया में उच्चतम ग्रीनहाउस केंद्रित क्षेत्र हैं। वेस्टलैंड में ज्यादातर पौधों और फूलों के अलावा मुख्यत: सब्जियों का उत्पादन होता है; अलसमीर का उल्लेख मुख्यत: फूलों और बर्तनों में उगाये गये पौधों के उत्पादन के लिए किया जाता है। बीसवीं सदी के बाद से वेनलो (लिंबर्ग में) के चारों ओर का क्षेत्र और ड्रेन्थ के हिस्से भी ग्रीनहाउस कृषि के महत्वपूर्ण क्षेत्र बन गये।

TomateJungpflanzenAnzuchtNiederlande.jpg

सन् 2000 के बाद से तकनीकी नवप्रवर्तन में "बंद ग्रीनहाउस" भी शामिल है, जो पूरी तरह बंद प्रणाली है, जिससे कम ऊर्जा से उगाने की प्रक्रिया पर उत्पादक का पूरा नियंत्रण होता है। देश के जलीय क्षेत्रों में तैरते हुए ग्रीनहाउसों का उपयोग किया जाता है।

नीदरलैंड में 9000 के आसपास ग्रीनहाउस उद्यम 10,000 हेक्टेयर से ज्यादा ग्रीनहाउसों को चलाते हैं और इसमें लगभग 150,000 श्रमिकों को रोजगार मिला हुआ है, जो कुशलतापूर्वक 4.5 अरब यूरो कीमत की सब्जियां, फल, पौधे और फूल उगा रहे हैं, जिसमें से 80% हिस्से का निर्यात किया जाता है।


गैलरी[संपादित करें]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

  • पॉलीघर (Polyhouse)
  • बायोशेल्टर
  • बायोस्फियर 2
  • रक्षागृह (ग्रीनहॉउस)
  • ग्रीनहॉउस प्रभाव
  • लॉर्ड एंड बर्न्हम (ग्रीनहॉउस निर्माता)
  • बेल्जियम में लेकेन रॉयल ग्रीनहाउसेज
  • मौसमी थर्मल दुकान
  • चौपड़ की छत
  • ईडन परियोजना
  • यूएसडीए (USDA)
  • सीधी खेती
  • उच्च सुरंग
  • कोल्ड फ्रेम

संदर्भ[संपादित करें]

नोट्स[संपादित करें]

  1. Banner Engineering (November 2009), Application Notes, http://www.bannerengineering.com/en-US/wireless/surecross_web_appnotes 
  2. वनस्पति विज्ञान कथा, डीओआई (doi):10.1093/aob/mcm242 द कुकुर्बिट्स ऑफ़ मेडीटेरेनियन एंटीक्यूटी: प्राचीन छवियों और विवरण द्वारा टेक्सा की पहचान।जूल्स जैनिक1, हैरी एस. पैरिस और डेविड सी. पैरिश
  3. रिचमंड ओक: रक्षागृह ग्लास के इतिहास पर एक अद्यतनीकरण
  4. रोगक्लासिसिज़्म: रोमन ग्रीनहॉउसेस? Cartilaginum generis extraque terram est cucumis, mira voluptate Tiberio principi expetitus. nullo quippe non die contigit ei, pensiles eorum hortos promoventibus in solem rotis olitoribus rursusque hibernis diebus intra specularium munimenta revocantibus
  5. इटैलियन गवर्नमेंट टूरिस्ट बोर्ड: इटली में वानस्पतिक वाटिका "इस तरह की संरचनाएं रोम के वैटिकन में 13 वीं सदी में और 14 वीं सदी में सलेरनो में स्थापित हुआ, हालांकि दोनों का अस्तित्व अब नहीं रहा।
  6. gwptoolbox.org

ग्रंथसूची[संपादित करें]

  • कनिंघम, ऐनी एस. (2000) क्रिस्टल पैलेसेस: गार्डेन कन्सर्वटॉरीज़ ऑफ़ द यूनाइटेड स्टेट्स प्रिंसटन वास्तुकला प्रेस, न्यूयॉर्क, ISBN 1-56898-242-9 ;
  • लेमन, केनेथ (1963) द कवर्ड गार्डेन डूफोर, फिलाडेल्फिया;
  • मुइज़ेन्बर्ग, अर्विन डब्ल्यू बी वैन डेन (1980) अ हिस्ट्री ऑफ़ ग्रीनहॉउस कृषिक वास्तुविद्या संस्थान, वेज्निंगेन, नीदरलैंड;
  • व्लिसशॉवर, ओलिवियर डे (2001) ग्रीनहाउस एंड कन्सर्वटॉरीज़ फ्लैमारियौन, पैरिस, ISBN 2-08-010585-X ;
  • वुड्स, मे (1988) ग्लास हॉउसेस: हिस्ट्री ऑफ़ ग्रीनहॉउसेस औरेंज्रिज़ एंड कन्सर्वटॉरीज़ अरुम प्रेस, लंडन, ISBN 0-906053-85-4 ;

बाहरी लिंक्स[संपादित करें]