किशमिश

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
अंगूर सुखाने से उनके अन्दर की चीनी बिल्लौर (क्रिस्टल) बना लेती है
अलग-अलग जाति के अंगूरों से बने किशमिश

किशमिश सूखे अंगूरों को कहा जाता है। पारम्परिक रूप से बड़े अकार के अंगूरों की किशमिश को हिन्दी में मुनक़्क़ा कहा जाता है।[1]

पौष्टिकता[संपादित करें]

किशमिशों के वज़न का ६७% से ७२% शक्कर होता है, जो अधिकतर ग्लूकोस और फ़्रूक्टोस के रूप में होता है।[2] इनका ३% भाग प्रोटीन और ३.५% भाग पाचन में मददगार फ़ाइबर (रेशा) होता है।[3] ख़ुबानियों और आलू बुख़ारों की तरह इनमें लाभदायक प्रति आक्सीकारक (ऐंटी- ऑक्सिडॅन्ट​) की बहुत मात्रा होती है लेकिन ताज़े अंगूरों की तुलना में विटामिन सी कम होता है। इनमें सोडियम कम होता है और कोलेस्टेरॉल बिलकुल नहीं होता।[4] अनुसन्धान में कुछ संकेत मिलें हैं कि अधिक रक्तचाप (ब्लड प्रेशर) वाले मरीज़ों द्वारा किशमिशों का सेवन करने से उनके रक्तचाप पर कुछ लाभदायक असर होता है, हालांकि इसपर अभी अधिक अध्ययन की ज़रुरत है।[5]

किशमिश के फायदे[6][संपादित करें]

  1. किशमिश लैक्सटिव के रूप में कार्य करती है। यह पेट में जाकर पानी को अवशोषित करती है, जिससे कब्‍ज से राहत मिलती है और पाचन तंत्र सुचारू रूप से कार्य करता है। नियमित रूप से किशमिश का उपयोग करने से आपका हाजमा ठीक रहता है। किशमिश में मौजूद फाइबर गैस्ट्रोइंटेस्टिनल मार्ग से विषाक्त और अपशिष्‍ट पदार्थों को बाहर निकालने में मदद करते हैं।
  2. अक्‍सर लोगों का मानना है कि मीठी होने के कारण किशमिश कैंडी की तरह मुंह स्‍वास्‍थ्‍य के लिए अच्‍छी नहीं है। इससे दांतों में कीड़ा लगने और दांतों के टूटने की समस्‍या हो सकती हैं। लेकिन किशमिश में ओलीनोलिक एसिड होता है जो मुंह से जुड़ी समस्‍याओं के लिए बहुत उपयोगी होता है। साथ ही यह मसूडे की सूजन पैदा करने वाले हानिकारक बैक्‍टीरिया से रक्षा करता है।
  3. कैल्शियम का एक समृद्ध स्रोत होने के कारण किशमिश हड्डियों और दांतों को मजबूत बनाती है। किशमिश में बोरोन नामक माइक्रो न्‍यूट्रियंट भी प्रचुर मात्रा में होता है जो कैल्‍शियम सोखने और हड्डी गठन को अवशोषित करने में मदद करता है। बोरोन के कारण ऑस्टियोपोरोसिस से राहत मिलती है। साथ ही किशमिश खाने से घुटनों में दर्द की समस्‍या भी नहीं होती हैं।
  4. अगर कोई व्‍यक्ति एसिडोसिस (रक्त में एसिडिटी की वृद्धि) से ग्रस्‍त है, तो उसको नाश्‍ते में किशमिश को शामिल करना चाहिए। किशमिश में पोटेशियम और मैग्नीशियम दो महत्वपूर्ण तत्‍व होते है। यह दोनों मिनरल एसिड को निष्क्रिय करने और एसिडोसिस को दूर करने में मदद करते हैं।
  5. किशमिश में आयरन काफी मात्रा में होता है जो सीधे एनीमिया से लड़ने की शक्‍ति रखता है। नए ब्‍लड के गठन के लिए जरूरी विटामिन बी कॉमप्‍लेक्‍स की जरुरत को भी किशमिश पूरी करती है। इसके अलावा किशमिश में मौजूद भरपूर मात्रा में कॉपर, लाल रक्त कोशिकाओं के निर्माण में मदद करता है।
  6. किशमिश में विटामिन ए, ए-बीटा कैरोटीन और ए-कैरोटीनॉइड होता है, जो आंखों के स्‍वास्‍थ्‍य के लिए बहुत आवश्‍यक होता है। इसमें एंटी ऑक्‍सीडेंट गुण होते है जो आंखों को फ्री रैडिकल्‍स से लड़ने में मदद करता है। किशमिश खाने से उम्र बढने की वजह से आंखों की कमजोरी, मसल्‍स डैमेज, मोतियाबिंद आदि नहीं होता।
  7. बोरान का बहुत अच्‍छा स्रोत होने के कारण किशमिश आपके ब्रेन के लिए भी बहुत अच्‍छा होता है। बोरान एक ऐसा तत्‍व है जो ध्यान और याद्दाश्त में सुधार करने में मदद करता है। बोरान के अन्य अच्छे स्रोत अखरोट, बादाम और सूखी खुबानी भी है।
  8. क्‍या आप इस बात को जानते हैं कि किशमिश पूरी तरह से कोलेस्‍ट्रॉल मुक्त होता है। किशमिश में घुलनशील फाइबर बहुत अधिक मात्रा में होता है। यह घुलनशील फाइबर बुरे कोलेस्‍ट्रॉल से लड़ता है। इसके अलावा किशमिश पोलीफेनोल्स एंजाइम को भी दबाता है जो शरीर में कोलेस्ट्रॉल को अवशोषित के लिए जिम्मेदार होता है।
  9. फ्री रेडिकल्‍स प्राइमरी कारणों में से एक हैं जो कैंसर कोशिकाओं के सहज विकास का नेतृत्व करते है। साथ ही यह मेटास्टेसिस को भी प्रोत्साहित करते हैं। किशमिश में उच्‍च स्‍तर में काट्चिंस तत्‍व होता है यह तत्‍व रक्त में पॉलीफेनोलिक एंटीऑक्सीडेंट होते हैं। एंटीऑक्‍सीडेंट शरीर के आस-पास रहने वाले फ्री रेडिकल्‍स को शरीर से बाहर निकालता है।



कुत्तों के लिए ज़हरीले[संपादित करें]

अंगूर और किशमिश कुत्तों के गुर्दों को ख़राब कर सकते हैं। इसका सही कारण अभी ज्ञात नहीं है लेकिन पालतू कुत्तों को यह दो चीज़ें कभी खाने के लिए नहीं देनी चाहियें।[7]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Punjabi Cook Book, Neera Verma, pp. 111, Diamond Pocket Books Pvt. Ltd., ISBN 978-81-7182-553-0, ... Kishmish Raisin ... Munakka Big raisin ...
  2. Albert Julius Winkler. General viticulture, University of California Press, 1962, p. 645. ISBN 978-0-520-02591-2
  3. http://nutritiondata.self.com/facts/fruits-and-fruit-juices/2050/2
  4. http://www.calraisins.org/professionals/healthy-benefits-of-raisins/
  5. "Snacking on raisins may offer a heart-healthy way to lower blood pressure", American College of Cardiology, ScienceDaily, 26 March 2012
  6. सेहत का मीठा खजाना है किशमिश (onlymyhealth.com)
  7. Raisins and grapes can be harmful to dogs, snopes.com, Accessed on 21 January 2011