कठबोली

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

कठबोली या स्लैंग (slang) किसी भाषा या बोली के उन अनौपचारिक शब्दों और वाक्यांशों को कहते हैं जो बोलने वाले की भाषा या बोली में मानक तो नहीं माने जाते लेकिन बोलचाल में स्वीकार्य होते हैं।[1] भाषावैज्ञानिकों का मानना है कि कठबोलियाँ हर मानक भाषा में हमेशा अस्तित्व में रही हैं और लगभग सभी लोग उनका प्रयोग करते हैं।[2]अक्सर एक ही भाषा समुदाय के विभिन्न वर्गों की अपनी भिन्न कठबोलियाँ होती हैं और किसी व्यक्ति द्वारा कठबोली का प्रयोग उसका किसी विशेष वर्ग में सदस्यता का संकेत होता है।[3] उदाहरण के लिए दिल्ली के हिन्दी बोलने वाले पुलिसवाले को कठबोली में 'ठुल्ला' कहते हैं जबकि मुंबई में उसे 'मामा' कहा जाता है। कभी-कभी कठबोली बहुत लम्बे अरसे तक मानक भाषा का भाग न होते हुए भी प्रचलित रह सकती है, मसलन समाज के कुछ वर्गों में थानेदार या दरोग़ा के लिए 'ठुल्ला' शब्द कठबोली के रूप में पंजाब क्षेत्र के कुछ समुदायों में (जिसमें वर्तमान हरियाणा भी शामिल था) सन् १८८० में भी प्रचलित पाया गया था।[4] कठबोलियाँ अक्सर प्रेयोक्ति के रूप में भी इस्तेमाल होती हैं जब किसी चीज़ के लिए मानक शब्द सुनने में अप्रिय या अपमानजनक समझा जाए, मसलन 'मूत्र' को कई हिन्दीभाषी कठबोली में 'सूसू' कहते हैं।[5]

कठबोली के लक्षण[संपादित करें]

कभी-कभी यह बताना कठिन होता है कि कोई शब्द मानक भाषा का भाग है या कठबोली है। भाषावैज्ञानिक बेथानी डुमास और जोनेथन लाइटर ने किसी शब्द या वाक्यांश के कठबोली होने के कुछ चिह्नों की सूची बनाई कि अगर कोई शब्द इनमें से कम-से-कम दो लक्षण रखता हो तो शायद कठबोली है :[6]

  • उसे बोलने से बोलने वाली का सामाजिक स्तर या गौरव कम होता है, चाहे वह कुछ समय के लिए ही क्यों न हो, मसलन कोई अगर 'सिगरेट' को 'सुट्टा' बुलाए, 'मूत्र' को 'मूत' बुलाए, किसी को काम न मिल पाने पर कोई उसे 'वेल्ला' या 'निठल्ला' बुलाये, या किसी की मृत्यु होने पर कहे कि मरने वाला 'टपक गया' या तो स्वयं उसका सम्मान कम होता है।
  • उस शब्द के प्रयोग का मतलब है कि बोलने वाला या तो उस शब्द द्वारा दर्शायी गयी चीज़ से परिचित है या ऐसे लोगों से जो उस से परिचित हैं। मसलन, बहुत से हिंदीभाषी क्षेत्रों में गाड़ी कि मरम्मत करने वाले मिस्त्री 'गीयर' (gear) के दांतों-वाले पहिये को 'गरारी' कहते हैं और अगर कोई इस शब्द का प्रयोग करे इसका मतलब है कि वह उस वस्तु से थोड़ा-बहुत परिचित तो है ही।
  • समाज या संगठनों में ऊँचा दर्जा रखने वाले लोग उसका खुली बातचीत में प्रयोग करने से कतराते हैं, मसलन पुलिसवाले को किसी भी संगठन का उच्च पदाधिकारी अपने भाषण में 'ठुल्ला' नहीं कहेगा क्योंकि उसकी अपनी गरिमा कम होगी।
  • वह शब्द किसी जाने-माने मानक शब्द की जगह बोला जाता है (अक्सर लोगों को अपमान, घृणा या अन्य बुरी भावनाओं से बचाने के लिए), मसलन किसी को शौचालय प्रयोग करना हो तो वह कहता है कि उसे 'नम्बर दो' करना है।

कठबोली किसी व्यवसायिक क्षेत्र में बोली जाने वाली विशेषज्ञ बोली (वर्गबोली या जार्गन) से अलग होती है। वर्गबोली किसी विशेष पेशे की तकनीकी शब्दावली होती है और उसके शब्द ऊपर दी गई सूची में से केवल दूसरे मानदंड को पूरा करते हैं, इसलिए कठबोली नहीं कहे जा सकते हालांकि उनका प्रयोग पेशे से बाहर वाले को समूह से अलग रखने के लिए किया जा सकता है।[6]

कठबोली का प्रसार और उत्पत्ति[संपादित करें]

कुछ कठबोलीयों का प्रयोग केवल एक विशेष क्षेत्र में होता है, उदहारणतः फ़ीजी हिन्दी में 'क्या' की जगह कभी-कभी 'कोंची' बोला जाता है, जो 'कौन चीज़' का सिकुड़ा रूप है। इसके विपरीत कठबोली संज्ञाएँ क्षेत्र की बजाए अक्सर किसी विशेष उप-संस्कृति जैसे कि संगीत या वीडियो खेलों से जुड़ी होती हैं। फिर भी कठबोली की अभिव्यक्तियाँ अपने वास्तविक क्षेत्रों से बाहर जाकर "कूल" और "जिवे" की तरह आम तौर पर इस्तेमाल करने लायक हो सकती हैं. जबकि कुछ शब्द अंततः कठबोली के रूप में अपनी स्थिति को खो देते हैं (उदाहरण के लिए "मॉब" शब्द के प्रयोग की शुरुआत लैटिन भाषा के मोबाइल वल्गस [7] के सेक्स शॉर्टनिंग के रूप में हुई), अन्य शब्दों के प्रयोग को ज्यादातर वक्ताओं द्वारा इसी तरह माना जाता रहा. जब कठबोली मूल रूप से इसका इस्तेमाल करने वाले समूह या उप-संस्कृति से परे निकल जाती है तो इसके वास्तविक उपयोगकर्ता समूह की पहचान को कायम रखने के लिए इसकी जगह दूसरे, कम-मान्यता प्राप्त शब्दों का प्रयोग करने लगते हैं.

कठबोली का एक उपयोग सामाजिक निषेधों को दरकिनार करना है क्योंकि मुख्यधारा की भाषा कुछ वास्तविकताओं को तारोताजा करने से दूर भागने की कोशिश करती है. इसी कारण से कठबोली की शब्दावलियाँ कुछ ख़ास क्षेत्र जैसे कि हिंसा, अपराध, ड्रग्स और सेक्स में विशेष रूप से समृद्ध हैं. वैकल्पिक रूप से कठबोली वर्णन की गयी चीजों के साथ केवल मात्र अपनेपन से बाहर निकल सकती है. उदाहरण के लिए कैलिफोर्नियाई शराब के कदरदानों (और अन्य समूहों) में से कैबरनेट सौविगनॉन को अक्सर "कैब सॉ" के रूप में, कार्डोने को "कार्ड" के रूप में और इसी तरह से जाना जाता है;[8] इसका मतलब यह है कि अलग-अलग शराबों का नामकरण इसके अनावश्यक प्रयोग को कम करता है; साथ ही यह शराब के साथ उपयोगकर्ता के अपनेपन को दर्शाने में भी मदद करता है.

यहाँ तक कि एक भाषा वाले समुदाय में भी कठबोली और जिस हद तक इसका प्रयोग किया जाता है, यह संपूर्ण सामाजिक, जातीय, आर्थिक और भौगोलिक क्षेत्र में व्यापक रूप से भिन्न हो जाता है. कठबोली काफी समय के बाद प्रयोग से बाहर हो जा सकती है; हालांकि कभी-कभी इसका प्रयोग अधिक से अधिक सामान्य हो जाता है जब तक कि यह कुछ कहने का एक प्रभावशाली तरीका नहीं बन जाता है, जब आम तौर पर इसे मुख्यधारा की स्वीकार्य भाषा के रूप में समझा जाने लगता है (जैसे स्पेनिश शब्द कैबेलो ), हालांकि निषेधात्मक शब्दों के मामले में ऐसी कोई अभिव्यक्ति नहीं भी हो सकती है जिसे मुख्यधारा या स्वीकार्य भाषा समझा जाता हो. कठबोली के कई शब्द अनौपचारिक मुख्यधारा के संवाद में और कभी-कभी औपचारिक संवाद में प्रवेश कर जाते हैं, हालांकि इससे अर्थ या उपयोग में एक बदलाव भी शामिल हो सकता है.

कठबोली में अक्सर मौजूदा शब्दों के लिए औपन्यासिक अर्थों का सृजन शामिल होता है. उन औपन्यासिक अर्थों का मानक अर्थ से काफी हद तक अलग हो जाना एक आम बात है. इस प्रकार 'कूल' और 'हॉट' दोनों का मतलब "बहुत अच्छा," "प्रभावशाली," या "सुंदर" हो सकता है.

कठबोली के शब्दों को अक्सर केवल एक गुट या अन्तः समूह के अंदर इस्तेमाल के लिए जाना जाता है. उदाहरण के लिए लीट ("लीटस्पीक" या "1337") मूल रूप से केवल कुछ विशेष इंटरनेट उप-संस्कृतियों जैसे कि पटाखों और ऑनलाइन वीडियो गेमर्स के बीच लोकप्रिय थे. हालांकि 1990 के दशक के दौरान और 21वीं सदी की शुरुआत में लीट ने इंटरनेट पर अधिक से अधिक आम स्थान लेना शुरू कर दिया है और अब यह इंटरनेट आधारित संवाद और बातचीत की भाषाओं के बाहर भी फ़ैल गया है.[9] कठबोली के अन्य प्रकारों में शामिल हैं मोबाइल फोन पर इस्तेमाल होने वाली एसएमएस (SMS) की भाषा और "चैटस्पीक," (जैसे, "एलओएल (LOL)", जो "जोर से हंसने" या "जोरदार हँसी" या आरओएफएल (ROFL), "हंसते-हंसते जमीन पर लोट जाना" का एक विपरीत अर्थ है), जिसका इस्तेमाल इंटरनेट पर त्वरित संवाद भेजने के लिए व्यापक रूप से किया जाता है.

कठबोली और बोलचाल की भाषा के बीच अंतर[संपादित करें]

कुछ भाषाविद् कठबोली के प्रयोग (कठबोली के शब्दों) और खिचड़ी भाषा के प्रयोग के बीच एक अंतर रखते हैं. घिलैड जुकरमैन के अनुसार "कठबोली का संदर्भ एक विशिष्ट सामाजिक समूह, उदाहरण के लिए किशोरों, सैनिकों, कैदियों और चोरों द्वारा इस्तेमाल किये जाने वाले अनौपचारिक (और अक्सर क्षणिक) शाब्दिक सामग्रियों से है. कठबोली बोलचाल की भाषा (बोली) की तरह नहीं है जो किसी अवसर पर वक्ता द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली एक अनौपचारिक, आसान बोली है; जिसमें शब्दसंकोच शामिल हो सकते हैं जैसे कि "तुम्हारा" और अन्य बोलचाल के शब्दों का प्रयोग. आम बोलचाल की भाषा का प्रयोग अनौपचारिक बोली में इस्तेमाल की जाने वाली एक शाब्दिक सामग्री है जबकि व्यापक अर्थों में "बोलचाल की भाषा" शब्दावली में कठबोली का प्रयोग शामिल हो सकता है, इसके संकीर्ण अर्थों में नहीं. कठबोली का प्रयोग अक्सर बोलचाल की भाषा में किया जाता है लेकिन सभी बोलचाल की भाषाएँ कठबोली नहीं होती हैं. कठबोली और बोलचाल की भाषा के बीच करने का एक तरीका यह पूछना है कि क्या ज्यादातर स्थानीय वक्ता इस शब्द को समझते हैं (और इसका प्रयोग करते हैं); अगर वे ऐसा करते हैं तो यह एक बोलचाल की भाषा है. हालांकि समस्या यह है कि यह एक अलग, प्रमात्रण प्रणाली नहीं है बल्कि एक निरंतरता की प्रणाली है. हालांकि ज्यादातर कठबोलीयाँ अल्पकालिक होती हैं और अक्सर नए लोगों द्वारा प्रयोग की जाती हैं जिनमें से कुछ गैर-कठबोली वाली बोलचाल की भाषा की स्थिति हासिल कर लेती हैं (जैसे अंगरेजी में सिली - सीएफ. जर्मन सेलिग 'भाग्यवान', 'मध्य उच्च जर्मन सेल्डे (sælde) 'आनंद, भाग्य' और एक यहूदी महिला का पहला नाम, ज़ेल्दा) और यहाँ तक कि एक औपचारिक स्थिति (जैसे अंग्रेज़ी में भीड़)".[10]

शब्द-व्युत्पत्ति[संपादित करें]

कठबोली को कई भाषाओं में 'स्लैंग' कहा जाता हैभाषावैज्ञानिकों को इस शब्द की जड़ें अभी ज्ञात नहीं हैं। इसका संबंध चोरों की कुभाषा से है और इसका सबसे पहला प्रामाणिक प्रयोग (1756) "निम्न या गैर-प्रतिष्ठित लोगों की शब्दावली से है, हालांकि इसके अलावा इसका मूल स्पष्ट नहीं है। एक स्कैंडिनेवियाई स्रोत का प्रस्ताव किया गया है (उदाहरण के लिए नार्वे के 'स्लेंजनेम' शब्द से तुलना करें), लेकिन 'तिथि और पूर्व संबंधों' के आधार पर इसे ऑक्सफोर्ड अंग्रेजी शब्दकोष द्वारा छोड़ दिया गया है।[11][12]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

  • कैंटिंग क्रू की प्राचीन और आधुनिक शब्दों का एक नया शब्दकोष.
  • रजिस्टर
  • डायनर लिंगो

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. An Introduction to English Slang: A Description of Its Morphology, Semantics and Sociology, Elisa Mattiello, Polimetrica s.a.s., 2008, ISBN 978-88-7699-113-4, ... Slang is defined both as a group-related variety and as an informal vocabulary of more general use ...
  2. American Slang 4e, Barbara Ann Kipfer, Robert L. Chapman, Page xi, HarperCollins, 2008, ISBN 978-0-06-117947-1, ... Slang is a universal mode of speaking, as old as humankind. Slang actually has its roots in the deepest parts of the mind, in the unconscious itself ...
  3. Talking Adolescence: Perspectives on Communication in the Teenage Years (Language As Social Action), Angie Williams, Crispin Thurlow, pp. 98, Peter Lang, 2005, ISBN 978-0-8204-7097-9, ... appropriate slang usage signals membership, the constant renewal of the lexicon serves a gate-keeping function and allows people to signal local knowledge and membership ...
  4. A detailed analysis of Abdul Ghafur's dictionary of the terms used by criminal tribes in the Panjab, Gottlieb William Leitner, Punjab Government Civil Secretariat Press, 1880, ... When we are told that 'Thulla' is 'Thanadar or Deputy Inspector,' we do not require the sentence 'Thulla aya' ...
  5. Without Fear Or Favour, Joginder Singh, Diamond Pocket Books (P) Ltd., 1998, ISBN 978-81-7182-994-1, ... 'Susu' in Punjabi and also in Hindi means urine ...
  6. Is Slang a Word for Linguists?, Bethany K. Dumas and Jonathan Lighter (1978). American Speech 53 (5): 14–15
  7. ऑनलाइन शब्द-व्युत्पत्ति शब्दकोश
  8. क्रोफ्ट, विलियम (2000) एक्स्प्लेनिंग लैंग्वेज चेंज: एन इवोल्यूशनरी एप्रोच. हार्लो: लांगमैन: 75-6.
  9. A Leet Primer, Anthony Mitchell, Accessed 2007-11-05
  10. "लैंग्वेज कॉन्टेक्ट एंड लेक्सिकल एनरिचमेंट इन इजराइली हिब्रू" में पृष्ठ 21 देखें, जुकरमैन, घिलाड द्वारा लिखित, हौंडमिल्स: पैलग्रेव मैकमिलन, 2003.
  11. [ http://www.etymonline.com/index.php?term=slang Online Etymological Dictionary], Accessed 4 March 2010
  12. [ http://dictionary.oed.com/cgi/entry/50226993?query_type=word&queryword=slang Oxford English Dictionary], Accessed 4 March 2010

बाहरी लिंक्स[संपादित करें]

Wiktionary-logo-en.png
slang को विक्षनरी,
एक मुक्त शब्दकोष में देखें।
  • ऑनलाइन स्लैंग डिक्शनरी - अमेरिकी और अंग्रेजी शब्द, अन्य सांख्यिकीय जानकारियाँ शामिल हैं.
  • SlangSite.com - गैर-स्पष्ट अमेरिकी शब्द.
  • अर्बन डिक्शनरी - उपयोगकर्ताओं का योगदान, ज्यादातर अमेरिकी-शब्द, विस्तृत लेकिन बड़ी मात्रा में स्पष्ट भाषा का प्रयोग शामिल है.