स्टीरियोस्कोपी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
मूल परीक्षण छवि के साथ पॉकेट त्रिविमदर्शी.सेना द्वारा प्रयुक्त हवाई तस्वीरें .
बोस्टन, का नजारा सन १८६० मे; प्रकृति के एक दृश्य को देखने के लिए एक प्रारंभिक त्रिविम कार्ड

स्टीरियोस्कोपी (अंग्रेज़ी: Stereoscopy) (त्रिविम या 3 - डी इमेजिंग) गहराई का भ्रम पैदा करने या बढ़ाने के लिए की गयी एक तकनीक को संदर्भित करता (बाएँ और दाएँ आँख के लिए दो अलग समंजन छवियों पेश करके) है| फिर ये 2 डी ऑफसेट छविया मस्तिष्क में संयुक्त रूप से एक बनकर 3 डी की गहराई को धारणा कर लेती है|इसके अंतर्गत तीन ऋणनीतियाँ का प्रयोग किया गया है* दर्शक चश्मा पहने ताकि दो स्रोतों से आ रही अलग छवियों का गठबंधन हो सके* दर्शक चश्मा पहने ताकि एकल स्रोत की छवियों को छलनी कर सके अपनी प्रत्येक आँख के लिए*स्रोत विखंडन करे छवियों का ताकि छवियों सीधे दर्शक की आँख मे जाए|[1]

पृष्ठभूमि[संपादित करें]

स्टीरियोस्कोपी २ डी छवियो को ३ डी छवियो मे बदलता है।

व्युत्पत्ति[संपादित करें]

पक्ष द्वारा साइड (गैर - साझा देखने के परिदृश्यों)[संपादित करें]

आमतौर पर स्टीरियोस्कोपी छित्रण २ आयामी छवियो को ३ आयामी छवियो मे बनाता है|प्रराम्भ मे यह एक ही छवि के २ छित्रण हमारे दिमाग मे डाल देता है जिनके अनदर थोडा सा अन्तर होता है।

सन्दर्भ[संपादित करें]