श्री अरविन्द आश्रम

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
पुडुचेरी स्थित ओरोबिन्दो आश्रम का बाहरी दृष्य

श्री अरविन्द आश्रम की स्थापन महर्षि अरविन्द द्वारा २४ नवम्बर, १९२६ (सिद्धि दिवस) को की गयी। उस समय आश्रम में कोई २०-२५ साधक ही थे। उसी वर्ष के दिसम्बर माह में श्री अरविन्द ने निश्चय किया कि वे जनता से दूर रहेंगे और उन्होने अपने सहकर्मी मीरा अलफसा (Mirra Alfassa) को आश्रम की जिम्मेदारी सौंप दी जिन्हे 'माँ' (The Mother) कहकर संबोधित किया जाने लगा।

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]