मुस्लिम ब्रदरहुड

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
द मुस्लिम ब्रदरहुड
الإخوان المسلمون/المسلمين
al-ʾIḫwān al-Muslimūn/Muslimīn
IPA: [elʔexˈwæːn elmosleˈmiːn]
Muslim Brotherhood Emblem.jpg
नेता मुहम्मद बदी
स्थापना १९२८
इस्माइलिया, मिस्र
मुख्यालय काहिरा, मिस्र
विचारधारा पैन-इस्लामी
मुस्लिम खलीफ़ा
ज़ियोनाई विरोधी
राजनैतिक स्थिति इस्लामी खलीफ़ा
Website
www.ikhwanonline.com
www.ikhwanweb.com

द सोसाइटी ऑफ़ मुस्लिम ब्रदर्स  (अरबी: جماعة الإخوان المسلمون‎, प्रायः कथित: الإخوان المسلمون, "द मुस्लिम ब्रदरहुड ", अरबी लिप्यांतरण: अलl-ʾइह्वान अल-मुस्लिमूं, इख्वां, el-ekhwan el-moslemin)  विश्व का सर्वाधिक प्रभावशाली[1] एवं सबसे बड़े इस्लामी आंदोलनों,[2] में से एक है। यह कई अरब राष्ट्रों में सबसे बड़ा राजनैतिक विरोध संगठन है।[which?] इसकी स्थापना सन १९२८ में एक पैन-इस्लामिक धार्मिक, राजनैतिक एवं सामाजिक आंदोलन के रूप में एक इस्लामिक शास्त्री एवं अध्यापक हसन अल-बन्ना के द्वारा द्वितीय विश्व युद्ध के अंत में की गई थी और इसकी अनुमानित सदस्य संख्या २० लाख है।[3]

2013[संपादित करें]

जुलाई 2013 में मुहम्मद मुर्सी की सरकार के खिलाफ मिस्र की जनता सड़क पर उतर आई थी, जिसके बाद सेना ने उन्हें सत्ता से हटा दिया। मोरसी का समर्थन करने वाले मुस्लिम ब्रदरहुड संगठन को आतंकी संगठन घोषित कर दिया गया।[4]

2014[संपादित करें]

मार्च 2014 को मुस्लिम ब्रदरहुड संगठन के 529 सदस्यों को मिस्र के मिन्या शहर की एक अदालत ने मौत की सजा सुनाई। ये पूर्व राष्ट्रपति मुहम्मद मुर्सीके समर्थक थे। इन लोगों पर एक पुलिसवाले की हत्या और आम लोगों पर हमला करने का आरोप था।[4]


संदर्भ[संपादित करें]

  1. The Muslim Brotherhood in flux 21 November 2010 aljazeera
  2. The Moderate Muslim Brotherhood. Robert S. Leiken & Steven Brooke, Foreign Affairs Magazine
  3. Hallett, Robin. Africa Since 1875. Ann Arbor, Michigan: The University of Michigan Press (1974), pg. 138.
  4. "मोरसी के 529 समर्थकों को मौत की सजा". नवभारत टाईम्स. 25 मार्च 2014. http://hindi.economictimes.indiatimes.com/world/other-countries/-529---/articleshow/32614124.cms. अभिगमन तिथि: 27 मार्च 2014. 

बाहरी सूत्र[संपादित करें]