महाधमनी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
महाधमनी
एक सुअर महाधमनी खुला भी कुछ छोड़ने धमनियों दिखा कटौती.

महाधमनी (Aorta) शरीर की सबसे बड़ी तथा मुख्य धमनी है, जो हृदय के बाएँ निलय (ventricle) से आरंभ होती है तथा जिसमें से ऑक्सीजनमिश्रित रक्त सारे शरीर की ऊतियों में ऑक्सीजन का संचारण करता है। यह धमनी दैहिक (systemic) एवं फुफ्फुसीय (pulmonary) रक्त परिवहन करती है तथा दैहिक कोशिकाओं और शिरातंत्रों से होती हुई, पुन: हृदय के दाहिने अलिंद (auricle) में वापस जाती है। बाएँ निलय से, जहाँ इसका व्यास प्राय: तीन सेंटीमीटर होता है, निकल तथा कुछ ऊपर चढ़कर, धनुषाकार मुड़कर, वक्ष में पृष्ठ कशेरुकाओं (vertebra) के बाईं ओर से उदरगुहा में प्रवेश करती है तथा चौथी कटि कशेरुका के पास दाहिनी तथा बाईं श्रोणिफलक (iliac) धमनियों में विभक्त हो जाती है। सरलता के लिये इसे अधिरोही महाधमनी, महाधमनी की चाप (arch) तथा अवरोही वक्षीय और उदरीय महाधमनी में विभाजित करते हैं।

महाधमनी की संरचना (योजनामूलक)

महाधमनी के उद्गम भाग के छिद्र पर, अर्धगोलाकार तथा जेब के आकार के तीन वाल्व हैं, जिन्हें त्रिवलन कपाट (Tricuspid valves) कहते हैं। इन वाल्वों का नतोदर भाग हृदय की ओर रहता है। बाएँ निलय से रक्तपरिवतन के समय रुधिर चाप के कारण इन वाल्वों का मुख्य खुल जाता है, जिससे हृदय से महाधमनी में रक्तसंचारक होता है, पर विपरीत दशा में जब बाएँ निलय में अनुशिथिलन (diastole) रहता है, तब महाधमनी के स्थितिस्थापक प्रतिक्षेप (recoil) के कारण रक्तचाप महाधमनी से हृदय की ओर हो जाता है। इस कारण तीनों वाल्व रक्तचाप से फूलकर बंद हो जाते हैं, जिससे रक्त संचरण की दिशा विपरीत नहीं होती और रक्त महाधमनी से बाएँ निलय में वापस नहीं आ सकता है। हाँ, कपाटिकाओं में जब रोग के कारण शोथ आदि उत्पन्न हो जाता है, उस दशा में वाल्व ठीक कार्य नहीं करते तथा उनका मुख खुला रह जाने से रक्तसंचारण विपरीत दिशा में होता है। इससे रक्त पुन: महाधमनी से बाएँ निलय में प्रवेश करता है, जिसके कारण रक्त संचालन में विकृति होती है तथा रोग उत्पन्न होने लगता है।

महाधमनी और उसकी शाखाएँ[संपादित करें]

उदर भाग में महाधमनी

1. आंतर जंभिका (Internal maxillary),

2. बाह्य ग्रीवा (External carotid),

3. पश्चकर्ण (Posterior auricular),

4. दक्षिण आंतर ग्रीवा (Right internal carotid),

5. पश्च कपाल (Occipital),

6. दक्षिण सार्व ग्रीवा (Right common carotid),

7. दक्षिण कशेरुकी (Right vertebral),

8. दक्षिण अधोजत्रुक (Right subclavian),

9. अनामी (Innominate),

10. फुफ्फुस शाखाएँ (Pulmonary branches),

11. महाधमनी चाप (Arch of Aorta),

12. फुफ्फुस प्रकांड (Pulmonary trunk),

13. नेत्र संबंधी (Ophthalmic),

14. उत्तल शंख (Superficial trunk),

15. बाह्य ग्रीवा (Extrnal carotid),

16. पश्चकर्ण (Posterior auricular),

17. पश्च कपाल,

18. बाम आंतर ग्रीवा (Left internal carotid),

19. बाम सार्व ग्रीवा (Left common carotid),

20. बाम कशेरुकी (Left vertebral),

21. बाम अधोजत्रुक (Left subclavian),

22. महाधमनी चाप,

23. डक्टस आर्टीरिओसस (Ductus arteriosus),

24. फुफ्फुस शाखाएँ तथा

25. अभिपृष्ठ महाधमनी (Dorsal aorta)