प्रोग्रेस प्रकाशन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
प्रोग्रेस प्रकाशन की किताबों में छपा उनका नामांकन
मोस्को में प्रोग्रेस प्रकाशन का दफ़तर

प्रोग्रेस प्रकाशन (रूसी: Издательство "Прогресс", इज़दातेल्स्त्वो प्रोग्रेस; अंग्रेज़ी: Progress Publishers) सोवियत संघ के ज़माने में वहाँ का एक मुख्य किताबों का प्रकाशक था। प्रोग्रेस की स्थापना १९३१ में की गई थी। वे अपनी साम्यवाद (कोम्युनिज़म) और सोवियत इतिहास से सम्बंधित किताबों के लिए जाने जाते थे हालांकि इसके अलावा वे कला, राजनीति, विज्ञान, बाल-साहित्य, उपन्यास, लघु उपन्यास, भाषा-शिक्षा और फ़ोटो संकलनों (एल्बमों) के लिए भी जाने जाते थे।[1] उनकी पुस्तकों में 'सोवियत संघ का संक्षिप्त इतिहास' नामक किताब प्रसिद्ध थी।

विवरण[संपादित करें]

प्रोग्रेस प्रकाशन की स्थापना सन् १९३१ में 'विदेशी मज़दूर संघ प्रकाशन' ( Издательство Товарищества иностранных рабочих) के नाम से हुई। १९३९ में इसका नाम बदलकर 'विदेशी भाषा साहित्य प्रकाशन गृह' (Издательство литературы на иностранных языках) रख दिया गया। १९६३ के बाद इसका संगठन बदला गया और नाम भी बदलकर 'प्रोग्रेस' (यानि 'विकास') रख दिया गया। इसके निर्देशक १९७०-७६ तक यूरी तोरसुएव (Юрий Торсуев), १९७६-८७ तक सेदिख़ वोल्फ़ (Седых Вольф) और १९८७-९६ तक आलेक्सान्द्र आलिचेव​ (Александр Авеличев) रहे।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Soviet literature, Issues 7-12, Союз писателей СССР, Foreign language publishing house, 1981, ... Progress Publishers have always paid special attention to the publication of the immortal legacy of the classics of Marxism-Leninism. The works by Marx, Engels and Lenin have been published in thirty languages of the world ...