दोहरा तारा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

खगोलशास्त्र में दोहरा तारा दो तारों का ऐसा जोड़ा होता है जो पृथ्वी से दूरबीन के ज़रिये देखे जाने पर एक-दुसरे के समीप नज़र आते हैं। ऐसा दो कारणों से हो सकता है -

  • ये दो तारे वास्तव में ही एक दुसरे से सम्बन्ध रखते हैं और एक द्वितारा हैं जिसमें दोनों एक दुसरे से गुरुत्वाकर्षण के प्रभाव से इकठ्ठे हैं
  • ये सिर्फ पृथ्वी से देखने में ही पास लगते हैं (जिस तरह से दूर एक-के-पीछे-एक दो पहाड़ एक-दुसरे के पास लग सकते हैं, जबकि एक के पास जाने पर पता लगता है के उनमें पचास मील का फ़ासला भी हो सकता है)

अन्य भाषाओँ में[संपादित करें]

अंग्रेज़ी में "दोहरे तारे" को "डबल स्टार" (double star) और "द्वितारे" को "बाइनरी स्टार" (binary star) कहा जाता है। अरबी में "दोहरे तारे" को "नजूम मज़दूज" (نجم مزدوج) कहा जाता है।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]