दोलनदर्शी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
टेक्ट्रानिक्स का मॉडल 475A पोर्टेबल अनॉलॉग दोलनदर्शी जो १९७० के दशक में बहुधा प्रयुक्त होता था

दोलनदर्शी स्कोप या सीआरओ एक इलेक्ट्रानिक उपकरण है जो किसी विभवान्तर को समय के सापेक्ष या किसी विभवान्तर के सापेक्ष एक ग्राफ के रूप में प्रर्दशित करता है। विभिन्न संकेतों को देखने से परिपथ के काम करने के बारे में जानकारी प्राप्त होती है और पता चलता है की कौन सा अवयव ख़राब है या काम नही कर रहा। स्कोप, इलेक्ट्रानिकी में प्रयुक्त होने वाले सर्वाधिक उपयोगी उपकरणों में से एक है। [1] [2] [3] [4] [5] [6] [7] [8]

प्रकार[संपादित करें]

दोलनदर्शी मुख्यतः दो प्रकार के होते हैं-

  1. कैथोड किरण ट्यूब वाले दोलनदर्शी (CRO)
  2. डिजिटल स्टोरेज दोलनदर्शी (DSO) [1]

[2] [3] [4] [5] [6] [7] [8]

सन्दर्भ[संपादित करें]