थैलेट

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
थैलेटों की सामान्य रासायनिक संरचना। (R और R' सामान्य स्थानधारक हैं।)

थैलेट (अंग्रेजी:Phthalates) या थैलेट एस्टर, थैलिक अम्ल के एस्टर हैं और मुख्य रूप से अभिघट्यकों (plasticizers; वो पदार्थ जिन्हें प्लास्टिक में लचीलापन, पारदर्शिता, टिकाऊपन बढ़ाने और दीर्घायु के लिए मिलाया जाता है) के रूप में इस्तेमाल किये जाते हैं। इन्हें मुख्य रूप से पॉलीविनाइल क्लोराइड (पीवीसी) को नरम करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। संयुक्त राज्य अमेरिका, कनाडा, और यूरोपीय संघ में कई उत्पादों से थैलेटों को स्वास्थ्य संबंधी कारणों के कारण चरणबद्ध तरीके से बाहर किया जा रहा है। 2010 तक बाजार में थैलेट अभिघट्यकों युक्त उत्पादों का वर्चस्व था; किंतु कानूनी प्रावधानों और पर्यावरण के प्रति बढ़ रही जागरूकता के कारण अब विभिन्न उत्पादकों को गैर थैलेट अभिघट्यकों का उपयोग करने के लिए मजबूर होना पड़ा है।

वो प्लास्टिक जिसमें इन्हें मिलाया जाता है के साथ किसी प्रकार का कोई सहसंयोजक बंध न होने के कारण थैलेटों को आसानी से पर्यावरण में मुक्त किया जा सकता है, जैसे जैसे प्लास्टिक पुराना होता है और टूटता है थैलेटों का पर्यावरण में होने वाला रिसाव भी बढ़ता जाता है। लोग आमतौर पर थैलेट के संपर्क में आते हैं और ज्यादातर अमेरिकियों के मूत्र में कई थैलेटों के मेटाबोलाइट्स पाये गये हैं। क्योंकि थैलेट अभिघट्यक रसायनिक रूप से पीवीसी से जुड़े नहीं रहते इस लिए यह रिस कर या उद्वाष्पित होकर आसानी से पानी और भोजन या वातावरण में घुल सकते हैं और इस प्रकार कोई भी व्यक्ति इनके प्रत्यक्ष अथवा अप्रत्यक्ष प्रदूषण का शिकार बन सकता है।

सन्दर्भ[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]