डकवर्थ लुईस नियम

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

डकवर्थ लुईस नियम क्रिकेट के सीमित मैच के दौरान किसी प्रकार की प्रतिकूल भौगोलिक परिस्थितियों एवं अन्य स्थितियों में अपनाया जाने वाला नियम है, ताकि मैच अपने निर्णय तक पहुँच सके। यह नियम अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद द्वारा मान्यता प्राप्त हैं। इस नियम के तहत घटाए गए ओवरों में नए लक्ष्य निर्धारित किये जाते हैं।

इस लक्ष्य निर्धारण विधि को एक ख़ास सांख्यिकीय सारणी की मदत से निकाला जाता है जिसका संशोधन समय-समय पर होता रहता है। इस नियम का विकास इंग्लैंड के दो सांख्यिकी के विद्वान फ्रैंक डकवर्थ और टौनी लुईस ने किया था।

विधि[संपादित करें]

बचे ओवर/विकेट पतन 0 2 5 7 9 10
५० 100.0 85.1 49 22 4.7 0
४० 89.3 77.8 47.6 22 4.7 0
३० 75.1 67.3 44.7 21.8 4.7 0
२० 56.6 52.4 38.6 21.2 4.7 0
१० 32 30.8 26.1 17.9 4.7 0
0 0 0 0 0 0

उपरोक्त सारणी २००२ के संशोधन के समय की है जिसमें प्रत्येक ओवर के बचे रहते और विकेट के शेष रहते संसाधनों की माप प्रतिशत में दी गई है। इसमें संसाधनों (या साधनों) की विधि पर आधारित रनों की संख्या का लक्ष्य निकाला जाता है।

माना कि पहली टाम ने R1 साधनों का प्रयोग करते हुए S रन बनाए। अगर दूसरी टीम को खेलने के लिए सिर्फ R2 साधन मिले तो उनका लक्ष्य होगा- S*R2/R1। इसको समझने के लिए एक उदाहरण नीचे दिया गया है।

एक सामान्य उदाहरण[संपादित करें]

माना कि पहले टीम ने खेलकर S रन बनाए। और बाद मे खेल रही टीम ने 30 ओवरों में दो विकेट खो दिए तो R(30,2) का मान उपर की टेबल से देखकर 52.4 % निकालते हैं। चुँकि बाद वाली टाम ने सिर्फ 100-52.4=47.6% साधनों का प्रयोग किया अतः उनका नया लक्ष्य होगा - S*47.6/100 >

डी/एल का एक सरल उदाहरण[संपादित करें]

विधि पहला एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय (एकदिवसीय) भारत और पाकिस्तान के बीच अपने 2006 एकदिवसीय श्रृंखला में खेला जा रहा था। भारत ने पहले बल्लेबाजी की और 49 ओवर . में 328 किये . पाकिस्तान ने दूसरी बल्लेबाजी करते हुए 7 विकेट पर 311 बनये के तभी खराब रोशनी के बाद खेल को 47 ओवर . पर रोका गया था। जहा रन रेट के हिसब से ३ ओवेर मे १८ रन चाहीये थे ३ विकेट हाथ मे थे। डी/एल मेथड में अगर रन रेट के हिसब से देखे तो ४७ ओवर के बाद ३ विकेट हाथ मे होते यहाँ ३०४ रन होते तो पाकिस्तन की जीत तय थी यहा उनका स्कोर ३११, ७ विकेट के नुकसान पर था तो आधिकारिक तौर पर परिणाम के रूप में पाकिस्तान 7 रन से जीता घोषित किया गया।